पुलिस भर्ती परीक्षा में एसटीएफ ने 12 लोगों को पकड़ा

  • डीजीपी ओपी सिंह ने लखनऊ के कई परीक्षा केंद्रों का किया निरीक्षण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पुलिस भर्ती परीक्षा में गड़बड़ी के मामले में एसटीएफ ने 12 मुन्ना भाइयों को पकड़ा है। इसके अलावा प्रदेश के 56 जिलों में बने सभी परीक्षा केंद्रों पर कड़ाई से चेकिंग की जा रही है। प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने आजमगढ़ में पेपर लीक होने की आशंका के कारण एक स्कॉट के साथ लखनऊ में कई परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। इसके साथ ही सभी परीक्षा केंद्रों पर संचालन समिति की पैनी नजर है। डीजीपी ने परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के निर्देश दिए हैं।
प्रदेश में लखनऊ, आगरा, मेरठ, इलाहाबाद, कानपुर, बरेली, गोरखपुर सहित सभी परीक्षा केंद्रों पर आज सुबह से ही काफी मुस्तैदी है। कड़े परीक्षण के बाद ही अभ्यर्थी को परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया जा रहा है। प्रदेश के 56 जिलों में इस परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। 41, 520 पदों पर सिपाहियों की लिखित परीक्षा 18 और 19 जून को 56 जिलों में आयोजित हो रही है। करीब 22.67 लाख अभ्यर्थी 56 जिलों में बने 860 परीक्षा केंद्र में दो पालियों में लिखित परीक्षा देंगे। दो दिनों तक चलने वाली परीक्षा में गड़बड़ी रोकने के लिए जांच एजेंसियों को अलर्ट पर रखा गया है। डीजीपी ओपी सिंह के निर्देशानुसार परीक्षा में प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं।
परीक्षा केंद्रों पर पहली बार अभ्यर्थियों की बायोमीट्रिक हाजिरी और बारकोड व्यवस्था लागू की गई है। अभ्यर्थी अपने साथ जूता, टोपी, गैजेट किसी भी तरह की चीजें नहीं ले जा पाएंगे। परीक्षा के लिए बनाए गए सभी परीक्षा केंद्रों को सीसीटीवी कैमरों से लैस किया गया है। एक कमरे में 24 अभ्यर्थी बैठे हैं। निगरानी करने वाले दल में एक एसएचओ रैंक का ऑफिसर, दो सब इंस्पेक्टर और एक महिला कांस्टेबल हैं। परीक्षा केंद्र के बाहर पुलिस फोर्स तैनात रहेगी जिसमें दो सबइंस्पेक्टर और 10 कॉन्स्टेबल तैनात किए गए हैं।

गिरोह ने अभ्यर्थियों से वसूले पांच लाख रुपये

एसटीएफ की टीम ने सिपाही भर्ती परीक्षा से पहले आजमगढ़, गोरखपुर के साथ इलाहाबाद में नकल कराने वाले गिरोह को पकड़ा है। पुलिस ने अभ्यर्थी मनीष कुमार यादव, अजय कुमार यादव और गैंग के एजेंट फूलचंद्र पटेल को गिरफ्तार किया। साथ ही गोरखपुर से तीन अन्य लोग पकड़े गए। जिनमें एक सॉल्वर और परीक्षा देने वाला उम्मीदवार था। तीसरा व्यक्ति अनिल गिरी है। जो इस गैंग का सरगना है। पकड़े गए लोगों के पास से 4 लाख रुपए, दर्जनों आईडी कार्ड बरामद किए गए हैं। पुलिस इनके बाकी साथियों की तलाश कर रही है। कोचिंग संचालक राधेश्याम पांडेय, देवकी नंदन वर्मा व शिक्षक सुधीर यादव फरार हैं। कोचिंग संचालक गिरोह का सरगना बताया जा रहा है। वहीं गिरफ्त में आए आरोपियों से सिम स्लॉट, स्पाई माइक अमेट समेत कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद किए गए हैं। गिरोह इन सभी पकड़े गए अभ्यर्थियों को पास कराने के एवज में पांच-पांच लाख रुपए ले रहा था। इनके अलावा अब तक 12 लोग गिरफ्तार किए गए हैं।

860 परीक्षा केंद्रों पर हो रही परीक्षा

डीआईजी एलओ (लॉ एंड ऑर्डर) प्रवीण कुमार ने बताया कि प्रदेश में 860 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। उन सभी पर सुरक्षा के पूरे इंतजाम हैं। लखनऊ में डीजीपी ओपी सिंह ने चिनहट तथा गोमतीनगर में बने कई परीक्षा केंद्रों पर औचक निरीक्षण किया। उनके साथ एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार तथा एसपी उत्तरी अनुराग वत्स भी साथ में मौजूद थे। लखनऊ जोन में करीब चार लाख अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। गोरखपुर तथा इलाहाबाद में सिपाही भर्ती परीक्षा में गैंग ने बड़ी नकल कराने की तैयारी की थी। एसटीएफ ने कल गोरखपुर और इलाहाबाद में इस गैंग के सदस्यों के साथ कुछ अन्य नकलची भी पकड़े हैं।

आजमगढ़ में पचास हजार का इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर

  • राकेश पासी हत्या और लूट के दर्जनों मामलों में था वांछित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश में बदमाशों के खिलाफ पुलिस का सख्त रवैया जारी है। इसी कड़ी में आज आजमगढ़ पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ का मामला सामने आया है। मुठभेड़ में 50 हजार का इनामी बदमाश राकेश पासी मारा गया। जबकि उसका एक अन्य साथी पप्पू पासी गोली लगने से घायल हो गया है। उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
जानकारी के मुताबिक मुठभेड़ में ढेर राकेश पासी के खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। उस पर लूट और हत्या के दर्जनों मुकदमे हैं। पुलिस को मुखबिर के माध्यम से राकेश पासी के जहानागंज थाना क्षेत्र के चकरपानपुर में होने की सूचना मिली थी। पुलिस टीम ने राकेश को पकडऩे के लिए जाल बिछाया था। जब पुलिस ने राकेश को पकडऩे का प्रयास किया तो उसने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। इसके बाद जवाबी कार्रवाई में पुलिस टीम ने भी गोलियां चलाईं और राकेश पासी मारा गया। उसका साथी पप्पू घायल हो गया है। उसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दे, मुठभेड़ में मारा गया राकेश पासी आजमगढ़ के मेहनगर के गोपालपुर गांव का निवासी था। वह श्यामबाबू पासी गैंग का सक्रिय सदस्य भी था।

सडक़ दुर्घटना में एक अभ्यर्थी की मौत , 20 घायल

  • सीएम योगी ने जताई शोक संवेदना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पुलिस भर्ती आरक्षी परीक्षा देने जा रहे अभ्यर्थियों की एक बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस हादसे में एक अभ्यर्थी की मौत हो गई, जबकि 20 अन्य लोग घायल हो गए हैं। मुख्यमंत्री योगी ने परीक्षा देने जा रहे अभ्यर्थी की मौत पर शोक संवेदना व्यक्त की है। वहीं घायलों का बेहतर इलाज करने के निर्देश दिए हैं। जानकारी के मुताबिक इलाहाबाद से सिपाही भर्ती परीक्षा में हिस्सा लेने वाराणसी जा रहे अभ्यर्थियों की एक बस आज सुबह दुर्घटनाग्रस्त हो गई। यह हादसा वाराणसी के मिर्जामुराद इलाके में हुआ, जिसमें एक युवक की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। जबकि 20 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। घायल सभी अभ्यर्थियों को वाराणसी के अलग-अलग अस्पतालों में शिफ्ट किया गया। सीएम योगी ने ट्वीट कर अभ्यर्थी की मौत पर संवेदना व्यक्त करते हुए अन्य घायलों के इलाज के लिए जिला प्रशासन को संभव इंतजाम कराने के निर्देश दिए हैं।

जम्मू में फिर से ऑपरेशन आल आउट शुरू, सेना ने मार गिराए चार आतंकी

  • कश्मीर के बिजबेहारा में सेना का सर्च ऑपरेशन जारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सीजफायर खत्म होने के बाद आतंकियों के खिलाफ एक बार फिर सेना का ऑपरेशन शुरू हो गया है। सुरक्षा बलों ने आज सुबह जम्मू-कश्मीर के बिजबेहारा में आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन शुरू किया। इस दौरान सेना ने चार आतंकियों को मार गिराया है। सीजफायर खत्म होने के बाद आतंकियों के खिलाफ यह सेना का पहला ऑपरेशन है।
जानकारी के मुताबिक बांदीपुरा में चल रहे ऑपरेशन में सेना ने चार आतंकियों को मार गिराया है। इसमें एक जवान भी शहीद हुआ था। ये ऑपरेशन बांदीपुरा के जंगल इलाके में हुआ है, बताया जा रहा है कि यहां पर लश्कर आतंकियों का एक ग्रुप छिपा हुआ है। इससे पूर्व सेना ने 12 और 14 जून को भी यहां ऑपरेशन चलाया था। फिलहाल क्षेत्र में अभी भी कुछ आतंकियों के छिपे होने की आशंका है। इसलिए सेना का ऑपरेशन जारी है।
गौरतलब है कि 16 मई को केंद्र सरकार ने कश्मीर में रमजान के महीने में शांति की पहल को बढ़ावा देने के लिए ऑपरेशन को निलंबित रखने का आदेश दिया था। ईद के बाद गृहमंत्री ने दोबारा ऑपरेशन आल आउट चलाने की अनुमति दी है।

Pin It