मिशन 2019: प्रदेश में ‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान को धार देने में जुटे सीएम योगी

  • शहर की नामचीन विभूतियों से की मुलाकात अभियान में शामिल होने की अपील की
  • केंद्र एवं राज्य सरकार की उपलब्धियों का किया जिक्र
  • कहा, गरीबों की मदद करना है सरकार की प्राथमिकता

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मिशन 2019 को धार देना शुरू कर दिया है। भाजपा के संपर्क फॉर समर्थन अभियान के तहत मुख्यमंत्री ने आज शहर की नामचीन विभूतियों से मुलाकात की। इस दौरान उनके साथ कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक तथा आशुतोष टंडन भी मौजूद रहे।

भाजपा लोकसभा चुनाव में अपना पिछला रिकार्ड दोहराने की तैयारी में जोर-शोर से जुड़ गई है। अपनी पैठ बढ़ाने के लिए पार्टी पूरे देश में संपर्क फॉर समर्थन अभियान चला रही है। पार्टी के दिग्गज नेता और भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री अभियान को सफल बनाने में जुटे हैं। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके मंत्रियों ने कमान संभाल ली है। मुख्यमंत्री ने आज संपर्क फॉर समर्थन अभियान के तहत सबसे पहले प्रख्यात हृदय रोग विशेषज्ञ पद्मश्री डॉ. मंसूर हसन से उनके निवास प्राग नारायण रोड पर मुलाकात की। इस दौरान यहां की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी। डॉ. मंसूर हसन से भेंट के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि हमको इंसानियत के लिए काम करना है। हमारी सरकार की प्राथमिकता गरीबों की मदद करना है। हमारे इस अभियान में आप शामिल होंगे तो काम को गति मिलेगी।

सीएम योगी ने डॉ. मंसूर हसन से केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के चार साल और प्रदेश सरकार की उपलब्धियों को बताया। मुलाकात के बाद डॉ. मंसूर हसन ने कहा कि कोई सियासी बातचीत नहीं हुई। सिर्फ विकास और इंसानियत की बात हुई। उन्होंने कहा कि यह बहुत अच्छी शुरुआत है। इसके बाद मुख्यमंत्री कारगिल युद्ध में शहीद कैप्टन मनोज पाण्डेय के घर गोमतीनगर पहुंचे। यहां उन्होंने परमवीर चक्र विजेता शहीद कैप्टन मनोज पाण्डेय के पिता गोपीनाथ पाण्डेय के साथ उनकी माता से भेंट की। सीएम योगी ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के लिए समर्थन मांगा। वहां से मुख्यमंत्री प्रसिद्ध रंगकर्मी राज बिसारिया के घर पहुंचे। उन्होंने कहा कि हमारा संपर्क अभियान अपने लोगों से मिलने का है। पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने विशिष्ठ जनसंपर्क अभियान शुरू किया है। इसके तहत हम जिस भी शहर में जाते हैं वहां पर समाज को दिशा देने वाली शख्सियतों से भेंट करते हैं।

राज बिसरिया ने बताया कि नाट्य की काफी समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री से बात हुई। मुख्यमंत्री ने कहा अब सरकार की उपलब्धि हर खास और आम तक पहुंचाने का मौका है, जिसमें समाज के विशिष्ट लोगों का भी योगदान है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री ने रिटायर्ड न्यायाधीश एचएन तिलहरी के आवास जानकीपुरम में भेंट की। इसके बाद प्रसिद्ध शिक्षाविद प्रो. भूमित्र देव और रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल आरपी शाही के आवास पर जाकर उनसे मिले। मुख्यमंत्री ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार तथा अपनी सरकार की उपलब्धियों के बारे में चर्चा की और समर्थन मांगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार भारत को विकास की नई राह पर ले जा रही है। देश विकास की नई ऊंचाई को छू रहा है। सरकार की इन सभी उपलब्धियों की जानकारी आम लोगों तक पहुंचाने का काम हमारा है। -मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

क्या है संपर्क फॉर समर्थन अभियान

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 के तहत संपर्क फॉर समर्थन अभियान की शुरुआत की है। इसके तहत देश की नामचीन हस्तियों से मुलाकात कर केंद्र सरकार की उपलब्धियों को बताते हुए समर्थन मांगा जा रहा है। लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त से भी इसी अभियान के तहत मुलाकात की थी। इससे पहले वह वाराणसी जाकर प्रख्यात हस्तियों से मिले थे।

अखिलेश समेत सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों के खाली बंगलों की जांच शुरू

  • राज्य संपत्ति विभाग ने शुरू की कार्रवाई, रिकार्ड से मिलान कर तैयार होगी रिपोर्ट
  • अखिलेश के सरकारी बंगले में तोड़-फोड़ के आरोप के बाद जांच के दिए गए निर्देश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बंगले में की गई तोडफ़ोड़ के आरोप और राज्यपाल रामनाईक द्वारा इस मामले में कार्रवाई किए जाने के लिए सरकार को पत्र लिखे जाने के बाद राज्य संपत्ति विभाग ने पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा खाली किए गए सभी बंगलों की जांच शुरू कर दी है।

राज्य संपत्ति अधिकारी योगेश शुक्ला ने बताया कि सभी खाली किए गए बंगलों का रिकॉर्ड से मिलान करवाया जाएगा। यदि यह तथ्य प्रकाश में आया कि तोडफ़ोड़ जानबूझकर की गई है और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया है तो नोटिस और रिकवरी की कार्रवाई की जाएगी। अखिलेश यादव के 4 विक्रमादित्य मार्ग स्थित सरकारी बंगले में तोडफ़ोड़़ के आरोप के बाद विभाग ने जांच के निर्देश दिए। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अखिलेश के अलावा राजनाथ सिंह, कल्याण सिंह, मुलायम सिंह यादव और मायावती ने अपना बंगला खाली कर दिया है।

अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले का खतरा, अलर्ट

  • खुफिया सूचना के बाद सुरक्षा कड़ी करने के निर्देश
  • कश्मीर में ऑपरेशन ऑल आउट पर फैसला नहीं

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। अमरनाथ यात्रा पर पाक आतंकी हमले की साजिश रच रहे हैं। सुरक्षा एजेंसियों से मिली सूचना के बाद अलर्ट घोषित कर दिया गया है। यात्रा 28 जून से शुरू होगी।

केंद्र सरकार रमजान के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑल आउट को स्थगित रखने को लेकर वेट एंड वॉच पॉलिसी पर काम कर रही है। इस बीच आतंकियों ने एक सैनिक और पत्रकार की हत्या कर दी है। मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकी श्रद्धालुओं या सुरक्षाकर्मियों पर हमले कर सकते हैं। वहीं रमजान के दौरान आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन को स्थगित करने को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय बैठक हुई। इसमें अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा पर भी चर्चा हुई।

Pin It