तीन से पांच दिन में बनकर तैयार हो जायेगा मकान: सुरेश खन्ना

  • प्रीकास्ट लार्ज कंक्रीट पैनल तकनीक से संभव होगा यह काम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत अब मकान बनाना आसान हो गया है। इसके तहत लाभार्थी का घर तीन से पांच दिन में बनकर तैयार हो जाएगा। यह प्रीकास्ट लार्ज कंक्रीट पैनल तकनीक से संभव हो सका है। नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने बुधवार को सूडा दफ्तर के बाहर इस तकनीक से बने मॉडल आवास का लोकार्पण किया। इसे आम जनता के देखने के लिए बनाया गया है। इस तकनीक से मकान बनाने में ईंट की जरूरत नहीं पड़ती है। इसमें प्रीकास्ट बीम, कॉलम, पैनल, स्लैब का इस्तेमाल किया जाता है।

सुरेश खन्ना ने बताया कि इस तकनीक से निर्मित मकान पारंपरिक मकान जैसा ही लगता है। इसकी मजबूती भी खूब होती है। खास बात यह है कि अधिक संख्या में मकान बनाने में इसकी लागत भी कम हो जाती है। फिलहाल इसकी लागत 1200 रुपये प्रति वर्ग फीट आती है। इस तकनीक से बने मकानों में सीपेज व दरार की भी कोई समस्या नहीं आती है। इन मकानों की आयु 75 साल होती है। उन्होंने बताया कि इस तकनीक से घर बनाने की कोई बाध्यता नहीं है, यदि किसी को लगता है तो वह इस नई तकनीक से घर बनवा सकता है। सूडा उसकी पूरी मदद करेगा। नगर विकास मंत्री ने बताया कि वर्ष 2022 तक प्रदेश में 14.20 लाख आवास का निर्माण होना है। इसके लिए वर्षवार रोड मैप तैयार किया जा चुका है।

यूपी में तय समय से दो दिन पहले पूरा हुआ गेहूं खरीद का लक्ष्य

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। राज्य सरकार ने गेहूं खरीद पूरी होने से दो दिन पहले ही तय लक्ष्य पूरा कर लिया। खाद्य आयुक्त आलोक कुमार ने बताया कि बुधवार तक प्रदेश के खरीद केंद्रों से 50.23 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद हो चुकी है। जो तय लक्ष्य 50 लाख मीट्रिक टन का 100.47 प्रतिशत है।
दावा किया कि गेहूं 10 लाख 50 हजार 457 किसानों से खरीदा गया और 8697.63 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया। खाद्य आयुक्त ने बताया कि यह खरीद पिछले पांच साल में सबसे ज्यादा है। अपर आयुक्त मार्केटिंग एके सिंह ने बताया कि गेहूं खरीद से बिचौलियों को दूर रखने के लिए समय-समय पर क्रय केंद्रों का वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा औचक निरीक्षण करवाया गया। गेहूं खरीद में अनियमितिता पर दोषी अधिकारी, कर्मचारी, ठेकेदार और बिचौलियों के खिलाफ 58 एफआईआर दर्ज करवाई गई है।

 

Pin It