नेताओं की आपसी खींचतान में बलि चढ़ रहे अफसर

  • स्थानीय नेताओं की जी हुजूरी में गयी कुर्सी

सीमाब नकवी
लखनऊ (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क)। फतेहपुर और गोंडा के जिलाधिकारियों को निलंबित कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टïाचार पर अंकुश लगाने का बेहतर संदेश दिया है। मगर खराब व्यवस्था और भ्रष्टïाचार को बढ़ावा देने के लिए जिले में नेताओं की आपसी खींचतान भी कहीं न कहीं कारण बनी हुई है। फतेहपुर जिले में तो सरकार बनने के बाद से ही मंत्री रणवेन्द्र प्रताप और विधायकों के बीच खींचतान मची रहती है। वहीं गोंडा में बड़े पैमाने पर अवैध खनन की शिकायत मिली थी। जिसे गंभीरता से लेकर मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को चेतावनी देते हुए थाना निरीक्षक को निलंबित कर दिया था। गोंडा के भी जनप्रतिनिधियों की आपसी खींचतान के कारण मुख्यमंत्री व शासन के अधिकारियों से मिलकर जिले के प्रशासनिक शिथिलता के साथ ही खनन की शिकायतें की गई थीं।

योगी आदित्यनाथ ने अवैध खनन को रोकने के मुद्दों पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर अफसरों को बार-बार ठीक से काम करने की हिदायत दी,मगर नेताओं के संरक्षण में खनन माफिया का धंधा चलता रहा और लोग परेशान रहे।

इतना ही नहीं अफसर कुर्सी बचाने के लिए प्रभावशाली नेताओं की जी हुजूरी में जुटे हैं। इतना ही नहीं मुख्य सचिव और विभागीय प्रमुख सचिव शासनादेश जारी कर निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन करने के आदेश दे चुके हैं, इसके बाद भी अफसर नेताओं के इशारे पर भ्रष्टïाचार को बढ़ावा दे रहे हैं।

फतेहपुर गंगा और यमुना नदी के बीच का जिला है, इस कारण यहां पर भू संपदा अधिक है। सूत्रों की मानें तो यहां खनन में हिस्सेदारी को लेकर मंत्री और विधायकों के बीच हमेशा खींचतान मची रहती है। विधायक और मंत्री दोनों को खुश करने वाला अधिकारी ही जिले में लंबी पारी खेल सका है। जो खुश नहीं कर पाता उसकी शिकायत जनप्रतिनिधि मुख्यमंत्री से कर देते हैं। इस बात का खामियाजा अधिकारियों को भुगतना पड़ता है।

नेताओं की शिकायत पर पहले भी सस्पेंड हुए हैं अधिकारी
अवैद्य खनन के मामले में कुछ दिन पहले ही फतेहपुर जिले की खागा तहसील के एसडीएम अमित भट्ट समेत चार अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया था। इसकी शिकायत भी जिले के मंत्री ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की थी। स्थानीय सूत्रों के अनुसार इस इलाके में अवैध खनन की शिकायत मंत्री जी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की थी और बाद में निलंबन की कार्रवाई हुई। इसी तरह फतेहपुर की अयाह शाह सीट से विधायक विकास गुप्ता द्वारा गाजीपुर थानाक्षेत्र के गोकन मोरंग घाट पर अवैध खनन व ओवर लोडिंग की शिकायत की गयी थी। इसपर अफसरों ने घाट पर छापेमारी की। इस दौरान वहां मौजूद संचालक भाग निकले थे लेकिन यहां पर टीम को मौके से एक जेसीबी मिली और घाट पर पोकलैंड द्वारा खनन किए जाने के निशान भी मिले जिसके बाद कार्रवाई हुई थी।

 

Pin It