प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त: अखिलेश यादव

  • भाजपा सरकार में सुरक्षित नहीं समाज का कोई भी वर्ग
  • सपा अध्यक्ष ने विधायकों को धमकी दिए जाने को लेकर साधा निशाना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भाजपा विधायकों को लगातार मिल रही धमकी के बाद पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता भय और अराजकता के साये में जीने को मजबूर है। भाजपा की सरकार में समाज का कोई वर्ग सुरक्षित नहीं है। विधायकों को खुलेआम धमकी भरे संदेश देकर फिरौती मांगी जा रही है। पूर्व डीजीपी के घर डकैती जैसी घटना यह बताने के लिए पर्याप्त है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है।

अखिलेश यादव ने कहा कि सीतापुर के अतिरिक्त रायबरेली में भी कुत्तों का आतंक बढ़ गया है। कई मासूमों की मौत के बाद भी शासन-प्रशासन का रवैया संवेदन शून्य है। ग्रेटर नोएडा में लूटपाट, एटा में पुलिस टीम पर हमला, फतेहपुर में खनन माफिया का तांडव जैसी घटनायें पूरे प्रदेश में आम हो गयी हैं। महिलाएं और बेटियां घर से बाहर निकलने का साहस नहीं कर पा रही हैं। अल्पसंख्यक दहशत में हैं। यह साबित करता है कि राज्य में जब से भाजपा की सरकार आयी है अपराध की घटनाओं में तीव्र वृृद्धि हुई है। मुख्यमंत्री जी ने सत्ता संभालते ही प्रदेश से अपराधियों के पलायन की बात कही थी, लेकिन इसमें अपनी असफलता छुपाने के लिए फर्जी एनकाउन्टर का सहारा लिया जा रहा है। भाजपा ने जनता को गुमराह कर सत्ता हासिल की है। इसलिए आने वाले चुनाव में जनता भाजपा को जवाब जरूर देगी।

Pin It