नगर निगम में गोलमाल, यूजर चार्ज दबाए बैठा लेखा विभाग

  • सदन के निर्देश पर हुई जांच में उजागर हुआ मामला
  • डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन से जमा हुई थी धनराशि

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नगर निगम के लेखा विभाग ने एक और कारनामा किया है। विभागीय जांच में हेराफेरी का मामला प्रकाश में आया हैं। नगर निगम के लेखा विभाग द्वारा डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन के जरिए वसूले गए यूजर चार्ज की राशि को दबाने का मामला उजागर हुआ है।
बीते दिनों नगर निगम के सदन में पार्षद विजय गुप्ता ने यूजर चार्ज की राशि को दबाने का मामला उठाया था। जिसके बाद सदन के निर्देश पर मामले की जांच हुई तो हकीकत सामने आई। दरअसल, निजी संस्था ईकोग्रीन शहर में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन के लिए लोगों से यूजर चार्ज वसूलती है। हर घर और शहर में संचालित प्रतिष्ठïानों से अलग-अलग यूजर चार्ज लिया जाता है। यह यूजर चार्ज लेखा विभाग में जमा किया जाता है, लेकिन निगम के लेखा विभाग ने यूजर चार्ज के 2.54 करोड़ रुपये को बजट के आय मद में नहीं दिखाया था। प्रारंभिक विभागीय जांच में पाया गया कि 54,05,952 रुपये यूजर चार्ज ईको ग्रीन कंपनी ने नगर निगम में जमा किया था, लेकिन इसे बजट में नहीं दिखाया गया था। पूरी जांच रिपोर्ट आने के बाद मामला साफ हो जाएगा। पर्यावरण अभियंता पंकज भूषण ने अपनी जांच रिपोर्ट अपर नगर आयुक्त मनोज कुमार को भेजी है।

Pin It