लोकसभा चुनाव: विपक्ष को परास्त करने की रणनीति बनाने में जुटी भाजपा

  • मोदी सरकार की चार साल की उपलब्धियां गिनाने के लिए देश भर में करेगी आयोजन
  • जल्द होगी कार्यक्रमों की घोषणा, यूपी में भाजपा के दिग्गजों ने शुरू किया मंथन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मिशन 2019 के लिए भाजपा ने कमर कस ली है। यूपी समेत देशभर में विपक्ष को परास्त करने के लिए भाजपा ने रणनीति बना ली है। मोदी सरकार 26 मई को अपने कार्यकाल का चार वर्ष पूरा करने जा रही है। इस मौके पर जहां भाजपा और सहयोगी दल केंद्र सरकार की उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच जाएंगे वहीं विपक्षी दल प्रधानमंत्री और उनकी सरकार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। यूं तो मिशन 2019 की तैयारी में सभी दल जुट गए हैं लेकिन 26 मई के बाद चुनावी बिगुल बज जाएगा।

भाजपा ने केंद्र सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रमों की अभी घोषणा नहीं की है लेकिन उसका खाका कमोवेश तैयार हो गया है। पिछले वर्ष तीन साल-बेमिसाल, नारा देकर भाजपा ने वृहद कार्यक्रम चलाये थे। इस बार और व्यापक तैयारी है। चूंकि यह कार्यक्रम देशव्यापी होना है इसलिए केंद्र में घोषणा होने के बाद प्रदेश में भी इसकी शुरुआत हो जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय व संगठन महामंत्री सुनील बंसल चार वर्ष पूरे होने पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों को भव्य रूप देने के सिलसिले में मंथन कर चुके हैं। प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय कहते हैं कि आकांक्षाओं, अपेक्षाओं, विकास के हर वादे को पूरा करने वाली मोदी सरकार ने हर साल एक नया रिकार्ड बनाया है। चार वर्षों में अपनी योजनाओं और उसके क्रियान्वयन के बूते मोदी सरकार ने जनता का दिल जीत लिया है।

उत्तर प्रदेश में 80 लोकसभा क्षेत्र हैं। 2014 में भाजपा गठबंधन को 73 सीटें मिलीं। भाजपा ने 2019 में सभी 80 सीटों को जीतने का संकल्प किया है। चार वर्ष पूरे होने पर इन सभी क्षेत्रों को लक्ष्य कर कार्यक्रम तय होंगे। भाजपा नेताओं की दलील है कि मोदी सरकार ने प्रदेश के हर वर्ग और हर आदमी के लिए कार्य किया है। एक मई, 2016 को बलिया जिले से मोदी ने उज्ज्वला योजना शुरू की और अब तक करोड़ों बीपीएल परिवार की महिलाओं को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन दिये जा चुके हैं। मोदी सरकार ने हर घर के चौके-चूल्हे से अपना नाता जोड़ा है। स्वच्छ भारत अभियान से लेकर प्रधानमंत्री जनधन योजना में बहुत से लोगों की जिंदगी सुरक्षित हुई है। प्रधानमंत्री आवास योजना में लोगों को छत नसीब हुई तो फसल बीमा योजना से किसानों की चिंता समाप्त हुई।

सुकन्या समृद्धि योजना, मेक इन इंडिया, दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, कृषि सिंचाई योजना, मुद्रा बैंक योजना, वन रैंक, वन पेंशन योजना, अटल पेंशन योजना, उजाला योजना, भीम एप, कौशल विकास योजना, राष्ट्रीय गोकुल मिशन, स्टैंड अप इंडिया स्कीम, स्मार्ट सिटी योजना, विमुद्रीकरण, डिजिटल इंडिया, नमामि गंगे परियोजना, प्रधानमंत्री जन औषधि समेत अनगिनत योजनाओं का प्रचार-प्रसार कर भाजपा मिशन 2019 की चुनावी तैयारी में जुटेगी।

विपक्ष रहेगा हमलावर

मोदी सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर विपक्ष ने विरोध स्वरूप प्रतिक्रिया जरूर की थी लेकिन, कोई आक्रामकता नहीं रही। इस बार सपा और बसपा के गठबंधन की वजह से इन दोनों दलों के कार्यकर्ता उत्साहित हैं। राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद से लगातार आक्रामक हैं और अपने संसदीय क्षेत्र में आकर भाजपा सरकार पर बरस चुके हैं।

मिशन के लिए भाजपा ने कमर कस ली है।

मई के बाद बजेगा चुनावी बिगुल।

यूपी की सीटों को जीतने का भाजपा ने किया है संकल्प।

कैराना और नूरपुर से हार की भरपाई करने की कोशिश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे से रिक्त हुई गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट उप चुनाव में भाजपा के हाथ से फिसल गई। सांसद हुकुम सिंह के निधन से रिक्त कैराना और विधायक लोकेंद्र सिंह के निधन से रिक्त नूरपुर क्षेत्र में उप चुनाव चल रहा है। चूंकि इसी बीच मोदी सरकार के चार वर्ष पूरे हो रहे हैं और इसको लेकर प्रदेश व्यापी माहौल बनना है। ऐसे में भाजपा संगठन और सरकार की पूरी कोशिश है कि कैराना और नूरपुर जीतकर पिछली हार की भरपाई कर दी जाए। इसका दूरगामी संदेश भी जाएगा। इसीलिए भाजपा ने कैराना और नूरपुर में बूथों तक अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।

Pin It