चेन लुटेरों के आगे राजधानी की हाईटेक पुलिस पस्त, सरेराह दे रहे वारदातों को अंजाम

  • थाने और चौकी के सामने भी दे रहे वारदातों को अंजाम
  • बदमाशों पर नकेल कसने में नाकाम हो रही है पुलिस
  • कई घटनाओं का आज तक नहीं हो सका खुलासा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। चेन लुटेरों के आगे राजधानी की पुलिस पस्त नजर आ रही है। यहां चेन लूट की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। शायद ही कोई ऐसा सप्ताह बीतता हो जब खाकी को धता बताकर बदमाश किसी वारदात को अंजाम न देते हो। चेन लुटेरे इतने बेखौफ हो चुके हैं कि वे चौकी और थाने के सामने भी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। ऐसी कई वारदातें पुलिस रजिस्टर में दर्ज हैं। दूसरी ओर राजधानी की हाईटेक पुलिस चेन लुटेरों पर लगाम लगाने में नाकाम साबित हो रही है।

खाकी को चुनौती देने वाली एक घटना 20 मार्च को मडिय़ांव थाने के सामने घटी। सहारा स्टेट निवासी खुशबू मेडिकल कॉलेज स्थित एसबीआई बैक में सहायक प्रबंधक के पद पर कार्यरत हैं। वे शाम को बैंक से टैम्पो से घर आ रही थी। वे टैम्पो से मडिय़ांव थाने के सामने उतरी। इसी दौरान बाइक सवार दो बदमाशों ने उनका पर्स लूट लिया और फरार हो गए। खुशबू का कहना था कि पर्स में मोबाइल फोन के अलावा नगदी और सोने की अंगूठियां थीं। हैरत की बात यह है कि यह घटना उस स्थान पर घटी जहां हमेशा भीड़ रहती है और सामने थाना है। ऐसी ही एक वारदात पारा थाना क्षेत्र के हंसखेड़ा चौकी के सामने हुई। प्रसादी खेड़ा निवासी सुनील यादव एक शादी समारोह मेंं अपनी पत्नी नीलू के साथ गये थे। देर रात दंपति बाइक से लौट रहे थे। दोनों पारा के हंसखेड़ा चौकी के पास पहुंचे थे तभी बदमाशों ने दोनों को रोक लिया। जब तक वह कुछ समझ पाते बदमाशों ने नीलू के गले से चेन और मंगलसूत्र लूट लिया और फरार हो गए। चौकी के पास हुई इस घटना का खुलासा करने में पारा पुलिस आज तक सिर्फ अंधेरे में तीर चला रही है। चौकी के सामने लूट की एक वारदात गोमतीनगर थाना क्षेत्र में भी हुई। बदमाशों ने यहां एक इंटीरियर डिजायनर से पर्स लूट लिया था। यह घटना 20 अप्रैल की है। विकासखंड पांच निवासी सुजाता पांडे इंटीरियर डिजायनर है। वे अपनी भतीजी को लेकर दवा दिलाने जा रही थीं। लौटते समय विनयखंड चौकी के सामने बाइक सवार बदमाशों ने सुजाता के हाथ से पर्स लूट लिया।

पीडि़ता ने बताया कि उसके पर्स में 17 हजार नगद और जरूरी दस्तावेज थे। फिलहाल इस घटना को घटे एक माह होने को है मगर पुलिस बदमाशों को पकडऩे में नाकाम ही रही है। इन घटनाओं से साफ है कि शहर में चेन लुटेरों का आतंक कायम है और पुलिस इन पर लगाम लगाने में सफल नहीं हो पा रही है। आए दिन होने वाली ऐसी घटनाओं से लोगों में दहशत है। जब राजधानी का यह हाल है तो प्रदेश के अन्य शहरों के हाल का अंदाजा लगाया जा सकता है। यह स्थिति तब है जब योगी सरकार ने प्रदेश को अपराध मुक्त करने का आदेश दे रखा है।

चेन लूट की सभी वारदातों में शामिल लुटेरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। लुटेरों पर पुलिस की नजर है। जो लुटेरे जेल से छूटकर आ रहे हंै उन पर भी नजर रखी जा रही है। जल्द ही चेन स्नेचिंग की वारदातें समाप्त हो जाएगी।
दीपक कुमार, एसएसपी

Pin It