पुख्ता सुरक्षा मानकों की अनदेखी के कारण होते हैं हादसे

निर्माण एजेंसियों को मेट्रो से सीख लेने की जरूरत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बनारस में निर्माणाधीन पुल गिरने के मामले में प्रथम दृष्टया पुख्ता सुरक्षा मानकों का अभाव स्पष्ट होता है। ऐसे निर्माण कार्यों में लगी एजेंसियों को लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन से सीखने की जरूरत है। लखनऊ मेट्रो में कुछ छिटपुट हादसों को छोड़ दें तो प्रोजेक्ट में सुरक्षा के कई पुख्ता इंतजाम किए गए ताकि निर्माण कार्य के दौरान सडक़ पर चलने वाले सुरक्षित रहें। मेट्रो प्रोजेक्ट में यू-गर्डर लांचिंग हमेशा रात में की गई।

एलएमआरसी के एमडी कुमार केशव ने बताया कि पूरे एलिवेटेड रूट पर रात 11 बजे से लेकर सुबह 6 बजे के बीच गर्डर रखे गए ताकि रोड पर ट्रैफिक का दबाव कम हो और किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सके। यू गर्डर लॉन्चिंग से पहले ट्रैफिक डायवर्जन भी किया जाता है। इसकी सूचना लोगों को पहले ही दी जाती है। इसके अलावा ठेकेदारों के काम का समय से परीक्षण करवाया जाता है। मेट्रो अधिकारियों के मुताबिक प्रोजेक्ट की शुरुआत में ट्रैफिक के बीच काम करना सबसे बड़ी चुनौती था।

Pin It