ये क्या हो रहा है यूपी में

इलाहाबाद में भाजपा सभासद की हत्या प्रतापगढ़ में लेखपाल को मारी गोली

  • साथी के साथ स्कूटी से जा रहे भाजपा सभासद को बदमाशों ने मारी गोली, इलाज के दौरान मौत
  • उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के करीबी थे पवन केसरी, पुलिस के फूले हाथ-पांव, जांच में जुटी
  • लेखपाल की हालत नाजुक अस्पताल में चल रहा है इलाज

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश में अपराधियों पर खाकी का खौफ नहीं दिख रहा है। अपराधी रोज दुस्साहसिक घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। पुलिस को धता बताते हुए बदमाशों ने इलाहाबाद में भाजपा सभासद की हत्या कर दी वहीं प्रतापगढ़ में लेखपाल को गोली मारी गई। इन वारदातों से पुलिस के हाथ-पांव फूल गए हैं।

जानकारी के मुताबिक लोचनगंज फूलपुर निवासी सभासद पवन केसरी अपने एक साथी आरिफ के साथ स्कूटी पर सवार होकर कहीं जा रहे थे। स्कूटी आरिफ चला रहा था, तभी बाइक सवार बदमाशों ने पवन पर फायर झोंक दिया। पवन लहूलुहान होकर गिर पड़े। आरिफ भी घायल हो गया। घायलों को अस्पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान पवन केसरी की मौत हो गई। पवन के भाई रोहित ने कर्नलगंज निवासी
सोनू उर्फ सिराज अहमद पर हत्या का आरोप लगाया है। सभासद पवन केसरी उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के करीबी बताए जाते हैं। पुलिस बदमाशों की तलाश कर रही है। दूसरी ओर प्रतापगढ़ में जेठवारा थाना क्षेत्र निवासी लेखपाल मंसाराम शर्मा सदर तहसील में तैनात हैं। बीती रात मंसाराम तहसील से घर जा रहे थे तभी मोहनगंज चौकी के पास बाइक सवार बदमाशों ने उन पर फायर झोंक दिया और उनकी बाइक लेकर फरार हो गए। लेखपाल का उपचार किया जा रहा है।

राजधानी में बुजुर्ग की हत्या
राजधानी स्थित काकोरी थाना क्षेत्र में मस्जिद के अंदर एक बुजुर्ग की हत्या कर दी गई। घटना की जानकारी आज सुबह तब हुई जब लोग वहां पहुंचे। बुजुर्ग की लाश देखकर वहां हडक़ंप मच गया। लोगों ने इसकी सूचना थाने पर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जानकारी के अनुसार कुशीनगर जनपद के रहने वाले बुजुर्ग इश्तियाक अहमद पिछले 3 साल से काकोरी क्षेत्र में स्थित एक मस्जिद में आकर रह रहे थे। आज लोगों ने उसकी खून से लथपथ लाश पड़ी देखी। पुलिस के अनुसार मृतक की हत्या किसने और क्यों की है, इसकी छानबीन की जा रही है।

इन वारदातों के मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। जल्द ही अपराधी सलाखों के पीछे होंगे।
-प्रवीण कुमार, डीआईजी कानून व्यवस्था

भाजपा सांसद ने कहा बेसिक शिक्षा मंत्री कर रहीं टेंडर में धांधली, आरोप के बाद जूते-मोजे के टेंडर खोलने की डेट बढ़ी
सांसद हरिनरायन राजभर ने सीएम योगी को पत्र लिख कर उठाई थी जांच कराने की मांग

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भाजपा सांसद हरिनरायन राजभर ने अपने ही सरकार की बेसिक शिक्षा एवं बाल विकास व पुष्टïाहार मंत्री अनुपमा जायसवाल पर अनियमितता के गंभीर आरोप लगाए हैं। साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेज कर मामले की जांच कराने की मांग की है। सांसद के पत्र पर सरकार ने गंभीर रुख अपनाते हुए जूते-मोजे के टेंडर खोलने की डेट बढ़ा दी है।

घोसी से सांसद हरिनरायन राजभर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में बेसिक शिक्षा एवं बाल विकास व पुष्टाहार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल की पुष्टाहार में धोखाधड़ी व जूते-मोजे के टेंडर में अनियमितता की शिकायत की है। पत्र में कहा गया है कि बेसिक शिक्षा मंत्री, अधिकारी एवं बाल विकास व पुष्टाहार के उच्च अधिकारी बड़े पैमाने पर जनता से धोखाधड़ी कर रहे हैं। टेंडर भी अनियमित ढंग से कुछ विशेष लोगों को लाभान्वित करने के लिए किया जा रहा है। यह घोर अनियमितता है। भाजपा सांसद का आरोप है कि मऊ में पिछले 10 महीने से पौष्टिक आहार की सप्लाई नहीं हो रही है जबकि सुप्रीम कोर्ट का एक भी दिन सप्लाई न रोके जाने का निर्देश है। यह योजना सीधे आम एवं गरीब लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा दी जाती है, जिसके नहीं मिलने पर सरकार की छवि धूमिल हो रही है। सांसद के पत्र पर गंभीरता से कार्रवाई करते हुए सरकार ने जूते-मोजे के टेंडर की डेट बढ़ा दी है। सरकार इस मामले में जांच कर सकती है।

महाराणा प्रताप के जीवन से सीख लेकर बढ़ें आगे: राज्यपाल
भारतीय अभिमान और सम्मान के प्रतीक हैं महाराणा प्रताप: यशवंत सिंह

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। महाराणा प्रताप की जयंती के मौके पर राज्यपाल रामनाईक, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और विधानपरिषद सदस्य यशवंत सिंह ने उनकी प्रतिमा पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस मौके पर राज्यपाल ने कहा कि सभी को महाराणा प्रताप के जीवन से सीख लेकर आगे बढऩा चाहिए।

विधान परिषद सदस्य यशवंत सिंह ने कहा कि महाराणा प्रताप का नाम भारतीय सम्मान और अभिमान का पर्याय है। समृद्ध और सशक्त भारत के निर्माण के लिए उनके दिखाए रास्ते पर चलना ही एकमात्र रास्ता है। देश के इस अद्वितीय महानायक को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए यशवंत सिंह ने कहा कि महाराणा प्रताप ताउम्र विदेशी आक्रांताओं और उन्हें श्रेष्ठ मानने वाले उनके समर्थकों से लड़ते रहे। देश में विदेशी आक्रांताओं के समर्थक आज भी विभिन्न रूपों में मौजूद हैं। ऐसे तत्वों को जड़ से समाप्त करने की जरूरत है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विदेशी प्रभुत्व को जड़ से नष्ट करने में लगे हैं।

Pin It