अब लोहिया संस्थान में होगा लिवर प्रत्यारोपण, मरीजों को मिलेगी राहत

  • जल्द तैयार होगी क्रिटिकल केयर यूनिट, विशेषज्ञों को किया जाएगा तैनात, प्रत्यारोपण के लिए जरूरी प्रक्रिया शुरू

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोमतीनगर स्थित डा. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान किडनी के बाद अब लिवर प्रत्यारोपण करने की तैयारी कर रहा है। वर्ष के अंत तक लिवर प्रत्यारोपण किया जा जाएगा। इसके लिए क्रिटिकल केयर यूनिट तैयार की जा रही है और इसमें फैकल्टी की तैनाती जल्द की जाएगी। संस्थान ने पीजीआई के विशेषज्ञों की मदद से पिछले वर्ष अपने यहां किडनी प्रत्यारोपण शुरू किया था। संस्थान में लिवर प्रत्यारोपण की सुविधा शुरू होने से मरीजों को राहत मिलेगी।
संस्थान में लिवर प्रत्यारोपण शुरू करने के लिए जरूरी प्रक्रियाएं शुरू की गईं हैं। इसी माह कुछ डाक्टरों का साक्षात्कार भी लिया जाएगा। टीम को तैयार करके लिवर प्रत्यारोपण पर फोकस किया जाएगा। राजधानी में मात्र पीजीआई में ही लिवर प्रत्यारोपण किये जाने के संसाधन मौजूद हंै और यहां कुछ लिवर प्रत्यारोपण सफल भी हुए हैं, परन्तु वर्तमान में लिवर प्रत्यारोपण नहीं हो पा रहा है। इसके अलावा केजीएमयू में मरीजों को अंगदान के लिए जागरूक किया जा रहा है और यहां से लिवर को दिल्ली के अस्पतालों में भेजा जा रहा है जबकि किडनी को पीजीआई भेज दिया जाता है। इसको देखते हुए लोहिया संस्थान ने लिवर प्रत्यारोपण करने के लिए कवायद शुरू कर दी है। संस्थान के विशेषज्ञों का मानना कि अगर सब कुछ समय पर ठीक तरीके से चला तो चंद महीनों में लिवर प्रत्यारोपण किया जा सकता है।

Pin It