सूबे में नहीं चलेगा जाति-धर्म के नाम पर लोगों को बांटने का खेल: दिनेश शर्मा

सरकार निजी स्कूलों में फीस बढ़ोत्तरी पर भी लगाएगी लगाम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा है कि जाति-धर्म के नाम पर लोगों को बांटने का खेल नहीं चलेगा। समाज में कुछ लोग जातिवाद का जहर घोलकर प्रदेश का विकास नहीं होने देना चाहते हैं। जनता ऐसे लोगों को सबक सिखाना अच्छी तरह से जानती है। उपमुख्यमंत्री रविवार को निजी विश्वविद्यालय आईआईएमटी के कार्यक्रम में भाग लेने के बाद पार्टी नेताओं से मिलने मेरठ पहुंचे थे। वहां उन्होंने समाज को एकजुट करने के साथ ही स्कूलों में मनमानी फीस वसूली के मुद्दे पर कड़ा रुख अख्तियार करने और सरकारी नियमों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया।
डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि फीस वृद्धि पर अंकुश लगाने का कानून बन गया है और यह सख्ती से लागू होगा। अभिभावक इस मामले में परेशान न हों। फीस वृद्धि के मामले में आने वाली तमाम विसंगितयों को दूर करने का उद्देश्य यह नहीं कि स्कूल संचालकों से कोई टकराव हो। उद्देश्य यह है कि जो समस्याएं कई वर्षों से चली आ रही हैं, उन्हें दूर किया जाए और शिक्षा के क्षेत्र में सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाकर बच्चों का भविष्य बनाया जाए। इस दौरान अभिभावकों की परेशानी का भी समाधान होगा। इसके लिए कमिश्नर की अध्यक्षता में मंडलीय कमेटी बनाने के लिए कह दिया गया है। इस मामले में देरी नहीं होगी और प्रबंधकों के साथ सौहार्दपूर्ण बैठक होगी। उन्होंने कहा कि शुल्क नियंत्रण का अर्थ उन तमाम विसंगितयों को दूर करना है, जो अभिभावक-स्कूलों के बीच में समस्या का मुख्य कारण है। इस संबंध में डीएम, जेडी को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह मंडलीय कमेटी बनाकर इस मामले में कार्य करें और अध्यादेश को समझ लें। उधर, उपमुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि समाज में किसी को भी जहर घोलने की अनुमति नहीं दी जाएगी। ऐसे मामलों में सख्त कार्रवाई होगी। सरकार प्रदेश में विभिन्न विभागों में खाली पड़े साढ़े चार लाख पदों पर जल्द ही भर्ती प्रक्रिया शुरू करेगी।

Pin It