योगी ने किया एलिवेटेड रोड का उद्घाटन अब 15 मिनट में गाजियाबाद से दिल्ली

प्राधिकरण का दावा, सिंगल पिलर पर 6 लेन की यह देश की सबसे लंबी सडक़
वाहनों की आवाजाही शुरू, सेंसरयुक्त कूड़ेदान और अन्य सुविधाओं से लैस
सीएम ने 19 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज गाजियाबाद के यूपी गेट से राजनगर एक्सटेंशन तक देश की सबसे लंबी छह लेन वाले एलिवेटेड रोड का उद्घाटन किया। इसके बाद रोड को आम लोगों के लिए खोल दिया गया। इस रोड के शुरू होने से लोगों को न केवल जाम से निजात मिलेगी बल्कि अब गाजियाबाद के लोग मात्र 15 मिनट में दिल्ली पहुंच सकेंगे। गाजियाबाद दौरे के दौरान मुख्यमंत्री ने कविनगर रामलीला मैदान से 1791.63 करोड़ की 19 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इनमें जीडीए की दस, विद्युत, शिक्षा, अग्निशमन और सेतु निगम और लोक निर्माण विभाग की आठ प्रमुख परियोजनाएं शामिल हैं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजनगर से वसुंधरा तक एलिवेटेड रोड का निरीक्षण किया और उद्घाटन के लिए राज नगर एक्सटेंशन रोड पहुंचे। इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ की अगवानी करने डीएम रितु माहेश्वरी और एसएसपी वैभव कृष्ण हिंडन एयरबेस पहुंचे। सीएम योगी आदित्यनाथ के निरीक्षण के बाद एलिवेटेड रोड को वाहनों के लिए खोल दिया गया। सरकारी अमले के हटते ही एलिवेटेड रोड पर वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई। वहीं सीएम योगी ने अफसरों के काम की सराहना की। साहिबाबाद के विधायक सुनील शर्मा से बातचीत में सीएम ने कहा कि सरकारी अमला रोड के रखरखाव पर विशेष ध्यान दें। रोड के किनारे बने स्वच्छता के संदेश की सीएम ने जमकर तारीफ की । इस रोड से दिल्ली से मेरठ जाने वालों को भी फायदा होगा।

सीसीटीवी कैमरे की रहेगी नजर
सीएम ने कहा एलिवेटेड रोड पर लगे सीसीटीवी कैमरे ट्रैफिक नियम तोडऩे वालों की रिकॉर्डिंग करेंगे। जिससे लोग सतर्क रहेंगे। प्रदेश सरकार का मकसद हर व्यक्ति की सुरक्षा का ध्यान रखना है।

एलिवेटेड रोड के निर्माण में खर्च हुए 1147.60 करोड़
10.30 किलोमीटर की एलिवेटेड रोड का निर्माण नवंबर 2014 में शुरू हुआ था। गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने 1147.60 करोड़ की लागत से इस रोड का निर्माण कराया है। प्राधिकरण का दावा है कि सिंगल पिलर पर बनी छह लेन की यह एलिवेटेड रोड देश में सबसे लंबी है। यह रोड गाजियाबाद को जाम से निजात दिलायेगी। एलिवेटेड रोड को तकनीकी रूप से बेहद आधुनिक बनाया गया है। नगर निगम ने एलिवेटेड रोड पर सीसीटीवी कैमरों से लैस सेंसर युक्त कूड़ेदान स्थापित किए हैं। कूड़ा भरते ही यह कूड़ेदान सेंसर के माध्यम से नगर निगम को सूचित करेंगे जिससे इनकी सफाई की जाएगी।

एनडीए के साथ मिलकर दलितों का विकास करें मायावती: रामदास

कहा, बसपा प्रमुख साथ आर्ईं तो जीतेंगे सभी सीटें
दलितों पर अत्याचार के लिए सरकार दोषी नहीं

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया ए के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास अठावले ने कहा कि दलित वोटों पर सिर्फ किसी एक का अधिकार नहीं है । हमारा भी उन पर अधिकार है। बसपा प्रमुख मायावती भाजपा के सहयोग से तीन बार मुख्यमंत्री बनी हैं जबकि सपा उनको धोखा दे रही है ।
उन्होंने कहा कि माया एनडीए के साथ मिलकर दलितों का विकास करें। इस बार भाजपा की 50 के ऊपर सीटें आएंगी लेकिन मायावती साथ आईं तो हम सारी सीटें जीत सकते हैं। श्री अठावले आज वीवीआईपी गेस्ट हाउस में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि दलितों पर अभी भी अत्याचार हो रहे हैं पर इसका कारण भाजपा सरकार नहीं है। इन घटनाओं को राजनीतिक चश्मे से नहीं देखना चाहिए। दलितों पर अत्याचार कम करने के लिए इंटर कास्ट मैरिज को और बढ़ावा देना चाहिए। इसी से समाज साथ आ सकता है। मेरे मंत्रालय का बजट 56 हजार 19 करोड़ है । हम लगातार काम कर रहे हैं। दिव्यांगों के लिए विभाग व हमारी सरकार काम कर रही है और अगर उनके साथ कोई गलत काम करेगा तो उनके खिलाफ जांच होगी ।

फिर जला बिहार, नवादा में भडक़ी हिंसा

मूर्ति तोडऩे के मामले को लेकर दो समुदाय के लोग आमने-सामने
कई दुकानों को किया आग के हवाले, गाडिय़ों के शीशे तोड़े, पुलिस ने की हवाई फायरिंग, इंटरनेट सेवा पर रोक

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
पटना। रामनवमी के बाद बिहार में शुरू हुआ हिंसा का दौर नवादा तक पहुंच गया है। गुरुवार की देर रात मूर्ति तोड़े जाने के बाद आज सांप्रदायिक हिंसा भडक़ उठी। कई गाडिय़ों के शीशे तोड़े गए और कई दुकानों में आग लगा दी गई। हालात को काबू में लाने के लिए पुलिस की तरफ से 10 राउंड की फायरिंग की गई। साथ ही जिला प्रशासन ने इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी है। नवादा केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का संसदीय क्षेत्र है।
नवादा बाईपास पर मूर्ति को तोडऩे की सूचना पर दो समुदाय आमने-सामने आ गए। हालात बेकाबू हो गए। गाडिय़ों को तोडऩे के अलावा कई दुकानों में भी आग लगा दी गई। जिला प्रशासन ने इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी है। बिहार में फैली हिंसा की चिंगारी अब राज्य के 6 जिलों में पहुंच गई है। कई इलाकों में धारा 144 लागू की गई है। बीते चार दिनों में समस्तीपुर, मुंगेर, औरंगाबाद, नालंदा, भागलपुर और अररिया में हालात बिगड़े हैं। वहीं गैर जमानती वारंट होने के बावजूद अभी भी अरिजित चौबे पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। दरअसल, रामनवमी के अवसर पर जुलूस के दौरान बिहार के समस्तीपुर में भी दो गुट भिड़ गए थे। इसी के चलते भारी तादाद में पुलिस बल की तैनाती की गई थी। वहीं औरंगाबाद में भी रामनवमी की शोभायात्रा निकाले जाने के दौरान हिंसा हुई थी। अब हालात नियंत्रण में हैं। लेकिन नाजुक हालात को देखते हुए भारी पुलिस बल और तमाम आला अफसर अभी भी यहां डेरा डाले हुए हैं। नवादा के हिंसा प्रभावित इलाके का जिलाधिकारी ने दौरा किया। उन्होंने कहा कि कुछ असामाजिक तत्वों ने एक मूर्ति को नुकसान पहुंचाया है। इसके बाद दो अलग-अलग समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए। चिंता की कोई बात नहीं है और हालात हमारे काबू में हैं। 

Pin It