मंत्री की फटकार के बाद जागा जल संस्थान, खराब हैंडपंप होंगे रिबोर

  • नगर विकास मंत्री के निरीक्षण में मिली थी पेयजल किल्लत की तमाम शिकायतें

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना के निरीक्षण और चेतावनी के बाद जल संस्थान सक्रिय हो गया है। जल संस्थान जल्द ही खराब पड़े हैंडपंपों को रिबोर करेगा। इससे विकास नगर, महाबीरजी का पुरवा और शेखूपुरा के लोगों को पेयजल की समस्या से निजात मिलना तय है। निरीक्षण के दौरान जनता की ओर से मिली शिकायतों के बाद जल संस्थान के अफसरों को फटकार लगी तो पूरा महकमा पेयजल की समस्या से निपटने की कवायद में जुट गया। विभाग के अफसर तीनों क्षेत्रों में खराब पड़े 82 हैण्डपम्पों को रिबोर करने की तैयारी कर ली है। जल संस्थान की ओर से रिबोर होने वाले हैंडपंपों की सूची तैयार की जा चुकी है।
बीते 17 मार्च को नगर विकास मंत्री ने मलिन बस्तियों के निरीक्षण किया था। इस दौरान विकास नगर, महाबीरजी का पुरवा और शेखूपुरा के लोगों ने गर्मी के दिनों में पेयजल व्यवस्था के पटरी से उतर जाने की बात की थी। यही नहीं, निरीक्षण के दौरान मंत्री ने खुद देखा कि क्षेत्र में हैंडपंप तो लगे हैं लेकिन उनमें पानी नहीं आता। इसी क्रम में नगर विकास मंत्री ने जल संस्थान के अफसरों को एक माह में खराब पड़े हैंडपंपों की रिबोरिंग के निर्देश दिए थे। विकास नगर, महाबीरजी का पुरवा और शेखूपुरा में इस बार गर्मियों के दिनों में करीब दस हजार से अधिक लोगों को पानी की किल्लत से निजात मिलेगी। जल संस्थान तीनों क्षेत्र में कुल 82 हैंडपंपों को रिबोर करने की तैयारी कर रहा है। विकास नगर में 58, महावीरपुरवा में 7 और शेखूपुरा में 17 हैण्डपम्प रिबोर होंगे। यह कार्य जल संस्थान को एक माह में पूरा करना होगा। हैंडपंपों की रीबोरिंग के लिए जल्द काम शुरू किया जाएगा। इस संबंध में जल संस्थान के अफसरों का कहना है कि इन क्षेत्रों के अलावा भी शहर में खराब पड़े हैंडपंपों की मरम्मत होगी।

Pin It