आईजीआरएस शिकायतों के निस्तारण में हीलाहवाली पर नगर निगम सख्त

डिफाल्टर श्रेणी में पहुंच रही हैं शिकायतें, दो अफसरों से किया गया जवाब-तलब

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नगर निगम में समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली (आईजीआरएस) के माध्यम से आने वाली शिकायतों का समय से निस्तारण नहीं किया जा रहा है। शिकायत मिलने के बाद उनका समय से जवाब न देने के कारण शिकायतें डिफाल्टर की श्रेणी में जा रही हैं। अफसरों की हीलाहवाली पर नगर निगम प्रशासन सख्त हो गया है। इस मामले में दो अफसरों से जवाब-तलब किया गया है।
नगर निगम में आईजीआरएस के माध्यम से आयी शिकायतों का समय से निस्ताारण न करने पर नगर आयुक्त नंदलाल सिंह ने जोन-एक के जोनल अधिकारी मुनेंद्र सिंह राठौर व जोन-दो के नगर अभियंता डीडी गुप्ता से स्पष्टीकरण मांगा है। दोनों ही अफसरों से डिफॉल्टर श्रेणी में प्रदर्शित होने वाली शिकायतों के संबंध में जवाब-तलब किया गया है। शिकायतों का समय से निस्तारण न करने पर दोनों अफसरों को दो दिन के भीतर जवाब देने का समय दिया गया है। यहीं नहीं पत्र के माध्यम से यह भी कहा गया है कि यदि स्पष्टीकरण नहीं दिया जाता है तो उनके खिलाफ शासन में कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा। इस संबंध में अपर नगर आयुक्त नंदलाल सिंह ने बताया कि नगर अभियंता डीडी गुप्ता और जोनल अफसर मुनेंद्र सिंह राठौर को शिकायतों के निस्तारण के लिए कई बार निर्देश दिए जा चुके हैं, लेकिन शिकायतों का समय से निस्तारण नहीं किया जा रहा है। ऐसे मे नगर निगम की छवि खराब हो रही है।

Pin It