साईं आश्रम में लगी आग

लखनऊ। विकासनगर स्थित साईं आश्रम में सोमवार रात भीषण आग लग गई। आग की सूचना पर फायर ब्रिगेड की तीन गाडिय़ां पहुंची। दमकलकर्मियों ने दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। दमकलकर्मी आशंका जता रहे हैं कि आश्रम के सामने से जा रही बारात में हुई आतिशबाजी की चिंगारी से आग लगी है। वहीं आश्रम के मुख्य सेवादार का आरोप है कि साजिशन आग लगाई गई है। शैलेंद्र तिवारी के मुताबिक रात करीब 11 बजे उनके पिता राम कृपाल और सेवादार प्रमोद आश्रम में मौजूद थे। तभी सेवादार कक्ष में रखा सामान अचानक धू-धू कर जलने लगा। वह जबतक इसकी जानकारी फायर ब्रिगेड को देते आग बढ़ते हुए दूसरे कमरों तक पहुंच गई। फायर ब्रिगेड पहुंची तो करीब ढाई हजार वर्ग फुट में बने आश्रम का ज्यादातर हिस्सा आग की चपेट में आग चुका था।

आर्थिक सहायता के लिए आवेदन मांगे

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन ने गरीब छात्रों की आर्थिक सहायता के लिए आवेदन फॉर्म जारी हो गए हैं। छात्र आज से एलयू की वेबसाइट से आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं। फॉर्म भरने के साथ छात्रों को अपने एडमिशन के सभी प्रमाणपत्र भी लगाने होंगे। फॉर्म संबंधित डीन कार्यालय में जमा होंगे। इसकी अंतिम तिथि 27 मार्च निर्धारित की गई है।

संगीत प्रतियोगिता 19 को

लखनऊ। उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी की संभागीय शास्त्रीय संगीत प्रतियोगिता 19 मार्च को राजधानी में होगी। प्रतियोगिता प्रदेश के 18 मंडलों में आयोजित की जा रही है। लखनऊ मंडल की प्रतियोगिता संत गाडगे सभागार में सुबह 10 बजे से होगी। एसएनए की संगीत पर्यवेक्षक रेनू श्रीवास्तव ने बताया कि प्रतियोगिता में सोमवार तक 60 प्रतिभागी कलाकारों ने आवेदन किया है। एक से तीन मई तक प्रादेशिक शास्त्रीय संगीत प्रतियोगिता होगी। चयनित कलाकार फाइनल प्रस्तुतियां देंगे।

अंतिम तिथि को बढ़ाने की मांग

लखनऊ। बीएड राज्य प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 15 मार्च है। उत्तर प्रदेश डिग्री कॉलेज एसोसिएशन की ओर से सोमवार को अंतिम तिथि में विस्तार की मांग की गई है। इस संबंध में एसोसिएशन की ओर से अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा के साथ ही बीएड प्रवेश परीक्षा के राज्य समन्वयक को भी पत्र लिखा है। एसोसिएशन के अध्यक्ष विनय त्रिवेदी ने बताया कि इस बार आवेदन कम आए हैं इसलिए डिग्री कॉलेजों में सीटें खाली रह सकती हैं। वहीं दस मार्च को एलयू की ओर से निवास प्रमाण पत्र की अनिवार्यता में कुछ शर्तों के साथ छूट दी गई है।

क्वीन मेरी में संक्रमण का खतरा

लखनऊ। क्वीनमेरी अस्पताल में जगह-जगह व्याप्त गंदगी व वार्ड में कुत्तों की आवाजाही से नौनिहालों को संक्रमण का खतरा पैदा हो गया है। कूड़े के ढेर व दीवारों पर पान की पीक से आ रही बदबू के बीच महिलाएं अपनी गोद में नवजात शिशुओं को लेकर बैठने को मजबूर हैं लेकिन अस्पताल प्रशासन की ओर से इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

Pin It