जहां नारी का अनादर होता है वह धरती ज्यादा समय तक नहीं रह सकती सुरक्षित: सीएम योगी

स्वच्छता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 29 महिलाओं का किया गया सम्मान
स्वच्छ भारत में सहयोग के लिए पत्रिका का किया गया अनावरण
मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार योजना में ऑनलाइन सॉफ्टवेयर का ‘हमारी पंचायत’ का किया गया अनावरण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। अंतरराष्टï्रीय महिला दिवस के मौके पर आज स्मृति उपवन में नारी शक्ति का सम्मान किया गया। आयोजित कार्यक्रम  ‘स्वच्छ शक्ति’ में उत्कृष्ट कार्यों के लिए विभिन्न जिलों से आई महिलाओं का सम्मान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि जहां नारी  का अनादर होता है वह धरती ज्यादा समय तक सुरक्षित नहीं रह सकती। यूपी में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के परिणाम काफी अच्छे हैं। हमे लिंगभेद की व्यवस्था को पूरी तरह खत्म करना होगा। योगी ने कहा कि  ट्रिपल तलाक में पहली बार देश में आधी आबादी को सिर्फ एक मजहब विशेष नहीं सभी स्वतंत्रता की अनुभूति कर सकें इसमें भारत सरकार ने जो घोषणा की वह अभिनन्दनीय है।
 कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी के साथ-साथ केन्द्रीय मंत्री उमा भारती, स्वाति सिंह एवं रीता बहुगुणा जोशी ने किया। इस दौरान स्वच्छता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 29 महिलाओं का सम्मान किया गया। इस अवसर पर सीएम योगी ने कहा कि मुझे प्रसन्नता है कि आज पूरे देश के अलग-अलग राज्यों और यूपी से कई महिला सरपंच और ग्राम प्रधान यहां आई है जो स्वच्छ भारत मिशन को सशक्त भारत मिशन बनाने में सहभागी हैं। महिलाओं के सहभागिता के बिना देश तरक्की नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि कुपोषण मुक्त भारत अभियान का हिस्सा बने। योगी ने ग्राम प्रधानों से अपील करते हुए कहा कि  शुद्ध पेयजल के अभियान से महिला सरपंच और ग्राम प्रधान भी जुडक़र अपना सहयोग दें। गांवों में स्वच्छता अभियान चलाएं। केंद्र और प्रदेश की योजनाओं को अपने गांवों में लागू करवाएं। सीएम ने कहा कि 24 अप्रैल 2017 को पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार की घोषणा की थी। आने वाले समय में हम पुरस्कार वितरित करेंगे। उन्होंने कहा कि पीएम के वाराणसी दौरे के दौरान इज्जत घर को यूपी से जोड़ा गया था, आज उसका यहां अनावरण किया गया है और स्वच्छता रथों को भी रवाना किया गया है। इस दौरान स्वच्छ भारत में सहयोग के लिए एक पत्रिका का अनावरण किया गया। इसके अलावा मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री उमा भारती के द्वारा इज्जत घर के प्रतीकात्मक रूप के अनावरण के साथ-साथ ऑनलाइन सॉफ्टवेयर ‘हमारी पंचायत’ का भी अनावरण किया गया।
 
21वीं सदी जानी जायेगी भारतीय नारी के नाम से  : उमा भारती 
केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने संबोधित करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम में लगभग 15 हजार महिला सरपंच शामिल हुईं हैं।  21वीं सदी ‘भारतीय नारी’ के नाम से जानी जाएगी। देश के बड़े-बड़े विभाग मोदी जी ने महिलाओं के हाथों में सौंप दिए हैं और महिलाए अच्छा काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि स्त्री को पैसे के लिए पुरुष के आगे हाथ फैलाना पड़ता है, जबकि वह बुद्धि और धन की देवी है। उन्होंने कहा कि मुद्रा योजना के जरिए पीएम ने महिलाओं को स्वरोजगार करने का मौका दिया है। उन्होंने कहा कि जीवन में मुझे तीन मौकों पर सबसे ज्यादा खुशी मिली। पहली बार जब युवा मोर्चा की अध्यक्ष थी, तब मैंने सन्यास लिया। दूसरी बार जब नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ ले रहे थें और तीसरी बार जब योगी जी सीएम पद की शपथ ले रहे थे। उन्होंने कहा कि यूपी ने मुझसे कमिटमेंट किया है कि अक्टूबर 2018 तक पूरा प्रदेश खुले में शौच मुक्त हो जाएगा, तब मैं भी एक मुश्त राशि जारी करूंगी। 
 
नारी शक्ति को शत-शत नमन, हमें आपकी उपलब्धियों पर गर्व है -मोदी 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंतरराष्टï्रीय महिला दिवस के मौके पर नारी शक्ति को सलाम करते हुए कहा कि हमें महिलाओं की सफलताओं पर गर्व है। उन्होंने ट्वीट किया ‘महिला दिवस के अवसर पर नारी शक्ति को शत-शत नमन। हमें हमारी नारी शक्ति की उपलब्धियों पर अत्यंत गर्व है।’ एक अन्य ट्वीट में पीएम ने लिखा, ‘नए भारत के निर्माण में अग्रसर नारी शक्ति।’ पीएम मोदी ने एक दूसरे ट्वीट में लिखा, ‘अपने कई आदर्श और अनुकरणीय कार्यों से काफी महिलाओं ने मानवता के इतिहास में अमिट छाप छोड़ी है। वे सभी आने वाली पीढिय़ों को प्रेरणा देते रहे हैं। मैं आपसे उन कुछ महिलाओं के बारे में लिखने के लिए कहता हूं, जिनसे आपको प्रेरणा मिलती है। ‘#SheInspiresMe’
 
नारी की मुस्कान, सुशासन की पहचान : पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 
सपा के राष्टï्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर महिला दिवस की बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘ समाज में नारी की बराबरी और भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए स्वास्थ्य, पोषण, सुरक्षा, शिक्षा और सामाजिक सुरक्षा जैसे विषयों को हमने अपने समय में सर्वाधिक प्राथमिकता दी थी। यही महिला सशक्तीकरण के आधार हैं। नारी की मुस्कान, सुशासन की पहचान ।  ‘अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस’ की शुभकामनाएं!

संसद में गूंजा महिला आरक्षण का मुद्दा एकजुट हुई महिला सांसद

लखनऊ। (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क) संसद के बजट सत्र के दूसरे हिस्से का आज चौथा दिन राज्यसभा और लोकसभा में अंतरराष्टï्रीय महिला दिवस पर महिलाओं को बधाई दी गई। सभी सांसदों ने तालियां बजाकर सदन में मौजूद और देश-दुनिया की महिलाओं को महिला दिवस की शुभकमनाएं दीं। लोकसभा में सभापति सुमित्रा महाजन ने स्वरचित पंक्तियों  के जरिए महिलाओं के इस खास दिन की बधाई दी लेकिन इसके बाद सांसद वेल में आकर नारेबाजी करने लगे और सदन की कार्यवाही को दिनभर के लिए स्थगित कर दिया गया। आज चूंकि महिला दिवस है तो संसद में 33 प्रतिशत महिलाओं के आरक्षण की मांग भी उठी। इसके अलावा संसद के बाहर महिला कांग्रेस नेताओं ने आरक्षण बिल को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। महिला नेताओं ने कहा कि मोदीजी सुनते नहीं हैं। महिला आरक्षण बिल लाइए। बेटी को सदन में लाने की हिम्मत करिए मोदी जी। वहीं राज्यसभा में सभापति वेंकैया नायडू ने भी देश और दुनिया की सभी महिलाओं को सदन की ओर से महिला दिवस की शुभकामनाएं दीं। इस मौके पर हंगामा कर रहे सांसदों ने अपनी सीटों पर बैठकर चर्चा में हिस्सा लिया। सरकार से लेकर विपक्ष की कई महिला सांसदों और अन्य सांसदों ने इस मुद्दे पर अपने विचार रखे। 

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलामय हुई लखनऊ-प्रयाग इंटरसिटी एक्सप्रेस

लखनऊ। (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क) भारतीय रेलवे ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर अनूठी पहल की है। आज लखनऊ-प्रयाग इंटरसिटी एक्सप्रेस महिलामय हो गई। लखनऊ-प्रयाग इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन को लखनऊ जंक्शन से लेकर महिला सहायक लोको पायलट रवाना हुईं। इस ट्रेन में महिला गार्ड के साथ चार टीटीई भी गईं हैं। मंडल रेल प्रबंधक सतीश कुमार के साथ इस मौके पर उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल के बड़े अधिकारी भी मौजूद थे। ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी एक्सप्रेस ट्रेन को महिला सहायक लोको पायलट ने चलाया। ट्रेन में यात्रियों के टिकट की जांच जहां महिला टीटीई कर रही थीं वहीं सुरक्षित संचालन का जिम्मा महिला रेल गार्ड के पास था। ट्रेन की रफ्तार पर पूरा नियंत्रण महिला लोको पायलटों के जिम्मे था। लखनऊ-प्रयाग इंटरसिटी उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल की पहली ट्रेन है, जिसका संचालन महिलाओं के हाथ में था।  सहायक लोको पायलट ममता यादव गोरखपुर की मूल निवासी हैं। उन्होंने 2016 में आरआरबी चंडीगढ़ से अपनी सहायक लोको पायलट की परीक्षा पास की। इसके बाद उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल में उनको तैनाती मिली। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर यह मेरा बहुत अच्छा अनुभव है। यह अवसर मिलने पर मैं बेहद गौरवांवित तथा रोमांचित महसूस कर रही हूं।  
 
 
 
 
 
Pin It