मुमुक्षु महोत्सव: सुरों के संगम में श्रोताओं ने लगाई डुबकी

मनोज तिवारी और साक्षी सरगम ने पेश किए भोजपुरी गीत
प्रदर्शनी में दी गई सरकारी योजनाओं की जानकारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुमुक्षु युवा महोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रंृखला के तहत शुक्रवार को लोकगीत संध्या का आयोजन किया गया। प्रतापगढ़ से आये भोजपुरी गायक मनोज तिवारी और टी सीरिज फेम बनारस की गायिका साक्षी सरगम ने भोजपुरी गीतों को पेश किया। वहीं दूसरी ओर सरकारी योजनाओं के प्रति लोगों को जागरूक करने और इसका लाभ पहुंचाने के लिए प्रदर्शनी का आयोजन किया गया।
सांस्कृतिक संध्या का शुभारम्भ मुमुक्षु शिक्षा संकुल के मुख्य अधिष्ठाता स्वामी चिन्मयानन्द सरस्वती, भाजपा जिला महामंत्री डीपीएस राठौर व अरविन्द सिंह ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। संगीत विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. कविता भटनागर ने सरस्वती वंदना गाकर लोकगीत संध्या का प्रारम्भ किया। हिमांशी उपाध्याय और उनकी साथियों ने ‘मोरी निंदिया करें क्यों हराम बाबू‘ ने खूब प्रशंसा बटोरी। प्रतिभा सक्सेना का ‘रेलिया बैरन पिया को लिया जाए रे‘ लोकगीत बहुत सराहा गया। मनोज तिवारी और साक्षी सरगम के सुरों में श्रोता देर तक डूबते उतराते रहे। इससे पूर्व प्राचार्य डॉ. अवनीश मिश्र ने गायकों को प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। वहीं प्रदर्शनी में 400 दिव्यांग जनों ने पंजीकरण कराया। दिव्यंाग शिविर के अन्तर्गत 300 लोग पंजीकृत हुए। पुरुष चिकित्सालय शिविर में 200 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें आवश्यक परामर्श के साथ दवाइयां भी प्रदान की गई। वृद्धावस्था पेंंशन के लिए 50 लोगों ने अपना पंजीकरण कराया। वहीं समाज कल्याण विभाग द्वारा 35 लोगों को योजनाओं की जानकारी प्रदान की गई। प्रदर्शनी के आयोजन में संयोजक डॉ. अनुराग अग्रवाल, मुमुक्षु आश्रम प्रबन्धक एसपी डबराल, डीएस इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. अमीर सिंह, चन्द्रभान त्रिपाठी, डॉ. श्रीकान्त मिश्र आदि का विशेष योगदान रहा।

Pin It