अब बिकेंगे चुनावी बॉन्ड, सरकार ने एसबीआई को सौंपी जिम्मेदारी

सरकार ने बॉन्ड खरीदने की तारीख की तय
कालेधन से राजनीतिक दलों को होने वाली फंडिंग का रास्ता बंद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने हाल में लॉन्च इलोक्टोरल बॉन्ड स्कीम के तहत पहली बार चुनावी बॉन्ड बेचने की तारीख तय कर दी है। केन्द्रीय वित्त मंत्रालय के मुताबिक किसी राजनीतिक दल को चन्दा देने के लिए अब आम आदमी इलेक्टोरल बॉन्ड को एक मार्च 2018 से 10 मार्च 2018 तक खरीद सकता है।
वित्त मंत्रालय के मुताबिक फिलहाल राजनीतिक दलों की फंडिंग के लिए इन बॉन्ड को बेचने का काम देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को दिया गया है। देश के चार प्रमुख शहर नई दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई स्थित बैंक की शाखाओं पर इस बॉन्ड को खरीदा जा सकता है। पहले केन्द्र सरकार इस बॉन्ड की बिक्री जनवरी में शुरू करना चाहती थी।
केन्द्र सरकार ने इलेक्टोरल बॉन्ड स्कीम 2018 का नोटिफिकेशन 2 जनवरी 2018 को जारी कर दिया था। इस नोटिफिकेशन के मुताबिक केन्द्र सरकार ने किसी भारतीय नागरिक अथवा भारत में रहने वाला व्यक्ति राजनीतिक दलों को चुनाव लडऩे के लिए चंदा देने की जगह इस बॉन्ड को खरीद सकता है। नियम के मुताबिक महज वह राजनीतिक दल जो रिप्रेजेंटेशन ऑफ पीपुल एक्ट 1951 के सेक्शन 29 ए के तहत रजिस्टर्ड हैं, इस इलेक्टोरल बॉन्ड को प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि इलेक्टोरल बॉन्ड के लिए वही राजनीतिक दल योग्य होंगे जिन्हें पिछले लोकसभा चुनाव अथवा किसी राज्य के विधानसभा चुनाव में कम से कम कुल वोट का एक फीसदी वोट मिला हो। माना जा रहा है कि इससे राजनीतिक दलों को कालेधन से फंडिग का रास्ता बंद हो जाएगा।

15 दिन रहेगी वैधता

नियम के मुताबिक इन इलेक्टोरल बॉन्ड की वैधता जारी करने की तारीख से महज 15 दिन तक रहेगी। लिहाजा कोई राजनीतिक दल यदि इलेक्टोरल बॉन्ड को 15 दिन के बाद जमा कराता है तो उसे अवैध मानते हुए कोई भुगतान नहीं किया जाएगा। वहीं स्कीम की खास बात यह भी है कि कोई राजनीतिक दल जिस दिन इलेक्टोरल बॉन्ड को अपने बैंक अकाउंट के तहत बैंक के सामने पेश करता है उसे भुगतान उसी दिन कर दिया जाएगा।

कनाडा के पीएम ट्रूडो का स्वागत प्रधानमंत्री मोदी ने की अगवानी

राष्ट्रपति भवन में दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। भारत दौरे पर आए कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो का आज राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया। कनाडा के प्रधानमंत्री के भारत दौरे का आज छठा दिन है। पीएम ट्रूडो का भारत दौरा काफी विवादों में है। गुरुवार को खालिस्तानी आतंकी के साथ कनाडा के पीएम की पत्नी की तस्वीर आने के बाद काफी बवाल हुआ था।
पीएम मोदी द्वारा ट्रूडो को एयरपोर्ट पर रिसीव न करने को लेकर भी काफी चर्चा हुई थी। आज पीएम मोदी और पीएम ट्रूडो की मुलाकात हुई। जस्टिन ट्रूडो यहां अपनी पत्नी सोफी और बच्चों समेत मौज़ूद थे। कनाडा के पीएम को राष्ट्रपति भवन में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। ट्रूडो और मोदी के बीच आज द्विपक्षीय बातचीत भी होगी। सबसे ज़्यादा चर्चा में ट्रूडो का सबसे छोटा बेटा हैड्री है। हैड्री सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ बटोर रहा है।

स्वच्छता दूत कुंवर बाई का निधन

बकरी बेचकर बनवाया था शौचालय

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ की स्वच्छता दूत कुंवर बाई का आज रायपुर के अंबेडकर अस्पताल में निधन हो गया। कुंवर बाई 106 वर्ष की थीं। धमतरी निवासी कुंवर बाई ने साल 2016 में अपनी बकरी बेचकर शौचालय बना देश को स्वच्छता का पैगाम दिया था।
इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक कार्यक्रम में उनका पैर छूकर उन्हें सम्मानित किया था। स्वच्छता दूत कुंवर बाई का आज रायपुर के अंबेडकर अस्पताल में सुबह करीब 10.40 बजे निधन हो गया। पिछले दो हफ्ते से उनकी तबियत खराब चल रही थी। गुरुवार को उन्हें धमतरी से रायपुर रेफर किया गया था। अंबेडकर अस्पताल के आईसीयू में उन्हें भर्ती कराया गया था। जहां उन्होंने अंतिम सांसे लीं।

स्वच्छता दूत कुंवर बाई का निधन

बकरी बेचकर बनवाया था शौचालय

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ की स्वच्छता दूत कुंवर बाई का आज रायपुर के अंबेडकर अस्पताल में निधन हो गया। कुंवर बाई 106 वर्ष की थीं। धमतरी निवासी कुंवर बाई ने साल 2016 में अपनी बकरी बेचकर शौचालय बना देश को स्वच्छता का पैगाम दिया था।
इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक कार्यक्रम में उनका पैर छूकर उन्हें सम्मानित किया था। स्वच्छता दूत कुंवर बाई का आज रायपुर के अंबेडकर अस्पताल में सुबह करीब 10.40 बजे निधन हो गया। पिछले दो हफ्ते से उनकी तबियत खराब चल रही थी। गुरुवार को उन्हें धमतरी से रायपुर रेफर किया गया था। अंबेडकर अस्पताल के आईसीयू में उन्हें भर्ती कराया गया था। जहां उन्होंने अंतिम सांसे लीं।

हिट एंड रन मामले में सलमान की याचिका मंजूर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। हिट एंड रन मामले में सलमान खान की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने मंजूर कर ली है। अर्जी में सलमान ने कहा था कि इस मामले में श्योरटी देने वाली रेश्मा जयराम शेट्टी को बदलना चाहते हैं क्योंकि वो अपना फ्लैट बेचना चाहती हैं। जमानती होने के कारण वे फ्लैट नहीं छोड़ पा रही हैं इसलिए वे रेश्मा की बजाए गुरमीत सिंह जोली को जमानती बनाना चाहते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका को मंजूर कर ली है।
बॉम्बे हाईकोर्ट ने सलमान को हिट एंड रन मामले में बरी कर दिया था, जिसके खिलाफ महाराष्ट्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल की है। हाई कोर्ट ने कहा था कि दुर्घटना के वक्त सलमान गाड़ी चला रहे थे और उन्होंने शराब पी रखी थी, यह आरोप साबित करने में अभियोजन पक्ष विफल रहा। कोर्ट ने सलमान की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी रविंद्र पाटिल की गवाही को भी अविश्वसनीय करार दिया। हिट एंड रन की यह घटना 28 अक्टूबर, 2002 की है। इसमें मुंबई के बांद्रा इलाके में एक दुकान के बाहर सडक़ के किनारे सो रहे पांच लोगों पर सलमान की लैंडक्रूजर चढ़ गई थी। इसमें एक शख्स की मौत हो गई थी और चार अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

एएमयू के दीक्षांत समारोह के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को बुलाने पर विरोध

छात्रों ने कहा है कि किसी भी संघ के नेता, बाबरी मस्जिद और गांधी के कातिलों को परिसर में नहीं किया जायेगा बर्दाश्त

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। 7 मार्च को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में होने वाले दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि बनकर आ रहे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का विरोध होना शुरू हो गया है। एएमयू के छात्रों का कहना है कि कैंपस में उस किसी का भी विरोध होगा जो आरएसएस पदाधिकारी है या उससे जुड़ा है। उनका कहना है राष्टï्रपति खुद आरएसएस से जुड़े रहे हैं। एएमयू के छात्रों ने कहा है कि किसी भी संघ नेता, बाबरी मस्जिद और गांधी के कातिलों को परिसर में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
एएमयू छात्रसंघ सचिव मोहम्मद फहद ने एएमयू इंतजामिया को इस संबंध में चेतावनी भरा पत्र लिखा है। इस पत्र में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा अल्पसंख्यक को लेकर दिए गए बयान की भी बात कही गई है। दरअसल अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में हर वर्ष की तरह इस साल भी दीक्षांत समारोह होने जा रहा है, लेकिन इस बार देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मुख्य अतिथि बनकर आ रहे हैं, जो कि संघ से जुड़े हुए हैं।

नीरव का बैंक खाता फ्रीज, वेतन के लिए कर्मियों का प्रदर्शन

जांच एजेंसी ईडी की जारी है छापेमारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी के बैंक अकाउंट को फ्रीज कर दिया है। वहीं गीतांजलि जेम्स की सेज यूनिट पर आयकर विभाग ने ताला मार दिया है। दूसरी ओर कर्मचारियों ने बकाया तनख्वाह को लेकर प्रदर्शन शुरू कर दिया है।
पीएनबी घोटाला मामले में नीरव मोदी की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव के बैंक डिपॉजिट और 44 करोड़ रुपए मूल्य के शेयर्स और विदेशी घडिय़ों के बड़े स्टॉक को फ्रीज कर दिया है। ईडी ने नीरव मोदी के वो बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिए हैं जिनमें 30 करोड़ रुपए तक का बैलेंस है। इसके साथ ही ईडी ने सर्च ऑपरेशन के दौरान 13.86 करोड़ रुपए के शेयर्स, 176 अलमारियां और 60 प्लास्टिक कंटेनर जब्त किए हैं जिनमें विदेशी घडिय़ां भी हैं। इसके अलावा विदेश मंत्रालय ने 11,400 करोड़ के पीएनबी घोटाला मामले में मुख्य आरोपी नीरव मोदी को कारण बताओ नोटिस भेजकर पूछा है कि उनका पासपोर्ट निरस्त क्यों नहीं किया जाना चाहिए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार से जब मोदी की लोकेशन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस मामले को कानून प्रवर्तन एजेंसियों के समक्ष रखा जाना चाहिए। कुछ जांच और कानूनी प्रक्रियाएं हैं जिन्हें मंत्रालय के दखल से पहले पूरा किए जाने की जरूरत है। दूसरी ओर कर्मचारियों ने बकाया वेतन के लिए प्रदर्शन शुरू कर दिया है।

Pin It