यूपी के विकास को रफ्तार देगा डिफेंस कॉरिडोर, तैयार होगा मास्टर प्लान

उत्तर प्रदेश में रीजनल नेटवर्क के जरिए हवाई नेटवर्क को किया जा रहा है बढिय़ा: योगी
वन डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट पर सरकार का विशेष फोकस, जिलों के विशेष उत्पादों को दिया जायेगा बढ़ावा
रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में आयात पर निर्भर न होकर उनको अपने संसाधनों से ही किया जाएगा तैयार-रक्षामंत्री

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी पर से बीमारू राज्य का दाग हटाकर उसे समृद्ध प्रदेश बनाने के लिये लखनऊ में आयोजिस इन्वेस्टर्स समिट का आज दूसरा और आखिरी दिन है। लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में चल रहे इस समिट में देश के बड़े-बड़े उद्योगपति काफी दिलचस्पी दिखा रहे हैं। समिट के पहले दिन 4.48 लाख करोड़ का निवेश हुआ है। दूसरे दिन आज सबसे पहले उत्तर प्रदेश में डिफेंस और ऐरोस्पेस के क्षेत्र में मौजूद संभावनाओं पर मंथन किया गया। इस सत्र में मंच पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण मौजूद रहीं। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब हम निमंत्रण लेकर दिल्ली गये तो पहली बार डिफेंस कॉरिडोर की बात सामने आई। इसमें बहुत संभावनाए हैं। देश मे जितनी संभावनाए यहा हैं कहीं नहीं हैं। सडक़, हाइवे, एक्सप्रेस वे और तो और हाइवे कनेक्टिविटी बहुत अच्छी है। जेवर में एयरपोर्ट बन रहा है। कुशीनगर में भी इंटरनेशनल एयरपोर्ट जल्द शुरू होगा। हमने यूपी में वन डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट के जरिए बढिय़ा संभावनाएं खोजी हैं। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में औद्योगिक गलियारा बनाया जा रहा है। इसमें डिफेंस कॉरिडोर को शामिल करेंगे। जो निवेशक आएंगे उनको सुविधा देंगे। डिफेंस के क्षेत्र में निवेश को लेकर जल्दी एक पॉलिसी बनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने यूपी में विशेष रुचि दिखाई है इसके लिए प्रधानमंत्री का बहुत-बहुत धन्यवाद।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बुंदेलखण्ड में बहुत जमीन है, जिसे इंवेस्टर्स को उपलब्ध कराएंगे। यहां पर रेल नेटवर्क भी बहुत अच्छा है। योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने सुधार करने के लिए लंबी छलांग लगाई है। प्रदेश के अंदर ईको सिस्टम निवेश की सम्भावनाओं के लिए आमंत्रित करता है। उत्तर प्रदेश में निवेशकों के लिए बेहतर सम्भावना है। इस अवसर पर राज्य के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना और राज्य मंत्री रीता बहुगुणा ने केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री और निवेशकों का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर मंच पर संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना, सुरेश राणा, नवनीत सहगल सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

डिफेंस गलियारे से जुड़ेंगे प्रदेश के कई शहर : निर्मला सीतारमण

इन्वेस्टर्स समिट में रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने यूपी में डिफेंस गलियारा बनाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का अलीगढ़ जिला हो या झांसी। धातु के काम के लिए प्रदेश के कई शहरों में सूक्ष्म और लघु इकाईयां बहुत अच्छा काम रह रही हैं। रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में आयात पर निर्भर न होकर उनको अपने संसाधनों से ही तैयार किया जाएगा। इसके लिए एक डिफेंस गलियारा बनेगा। इसका दायरा बुंदेलखंड से शुरू होकर अलीगढ़, आगरा, झांसी, चित्रकूट, कानपुर और लखनऊ होकर प्रदेश के कई हिस्सों तक पहुंचेगा। रक्षामंत्री ने कहा कि पिछले 20 से 25 साल में यूपी में इंडस्ट्रीज को कोई प्रोत्साहन नहीं मिला। सार्वजनिक उपक्रम की रक्षा से जुड़ी बड़ी फैक्ट्री यूपी में ही हैं। कानपुर में ऑर्डिनेंस की एक बड़ी फैक्ट्री भी है। इनमें डिफेंस की जरूरतों को पूरा करने के लिए कोई जान ही नहीं है। इसका जीर्णोद्धार करने और निजी क्षेत्र से जोडऩे की जरूरत है। रक्षा से जुड़े उपकरण खरीदने में भारत विश्व में तीसरे नंबर पर है। उन्होंने कहा कि आयात को रोकने के लिए एक प्लान बनाया गया है। अलीगढ़, झांसी, कानपुर और लखनऊ के सूक्ष्म एवं लघु उद्योग में वह क्षमता है, जो रक्षा क्षेत्र के आयात को कम कर सकती है। यहां लोहा सहित धातु का बड़ा काम होता है। यूपी के इन क्षेत्रों में हर जगह पर हमारी टीम जाएगी। इसमें ब्यूरोक्रेट ही नहीं यूनीफॉर्म पर्सनल भी होंगे। फिक्की के साथ इंडस्ट्रीज को जोडऩे की कोशिश की जा रही है। अगले 50 साल में क्या खरीदना है, इसका भी निर्णय लिया जाएगा। इन सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों को बताया जाएगा कि भविष्य में तकनीक की क्या जरूरत होगी। इसे देखते हुए एक डिजिटल पोर्टल भी बनाया गया है जिस पर सभी जानकारियां मिलेंगी। इससे आपको बार-बार दिल्ली आने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपको हर प्रश्न का जवाब मिलेगा। रक्षामंत्री ने कहा कि हम अपनी पॉलिसी में भी बदलाव कर रहे हैं। इसमें हम इंडस्ट्रीज को आश्वस्त करेंगे कि उनसे कितना उत्पादन हम लेंगे। इतना ही नहीं सूक्ष्म एवं लघु उद्योग से जुड़े लोगों के पास यदि कोई आइडिया हो जो रक्षा क्षेत्र से जुड़ा हो तो वह सीधे हमे बता सकते हैं। हम उसको खरीदेंगे। रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों के पास बुनियादी सुविधाओं का अभाव रहता है। हथियार खरीदने के साथ हम ब्लास्ट टेस्टिंग सेंटर जैसी सुविधाएं भी प्रदान करेंगे। कलस्टर को चुनकर भी वहा आवश्यक सुविधाएं देंगे।

इन्वेस्टर्स समिट में नये लुक में नजर आए यूपी पुलिस के जवान

यूपी में चल रहे इन्वेस्टर्स समिट में देश भर से आए सूट-बूट वाले कॉरपोरेट एग्जीक्यूटिव्स के बीच यूपी पुलिस के बदले स्वरूप पर भी सबकी नजरें जा रही हैं। समिट की सुरक्षा में लगे यूपी पुलिस के जवान खाकी वर्दी में नहीं बल्कि पूरी तरह से कॉरपोरेट लुक में नजर आ रहे हैं। सुरक्षा में लगे पुलिस कर्मियों के नए लुक से इस बात का अंदाजा हो जाता है कि आयोजक ने किस तरह एक-एक बारीकी का ध्यान रखा है। समिट में आए देश के कॉरपोरेट जगत के दिग्गजों में यूपी पुलिस की एक अच्छी छवि बने, इसके लिए सुरक्षा में लगे पुलिस कर्मियों को नई वर्दी में रखा गया है। सफेद शर्ट, नीले ब्लेजर, भूरे ट्राउजर और मैचिंग टाई में ये पुलिस कर्मी बिल्कुल कॉरपोरेट एग्जीक्यूटिव की तरह लग रहे हैं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद यूपी इन्वेस्टर्स समिट के समापन सत्र को करेंगे संबोधित
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज यूपी इन्वेस्टर्स समिट में हिस्सा लेने के लिए लखनऊ पहुंच रहे हैं। वह यूपी इन्वेस्टर्स समिट के समापन सत्र को संबोधित करेंगे। इस दौरान राष्ट्रपति लगभग ढाई घंटे तक लखनऊ में ही रहेंगे। राष्ट्रपति विशेष विमान से दोपहर 3.40 मिनट पर अमौसी एयरपोर्ट पहुंचेंगे, जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, गृहमंत्री राजनाथ सिंह उनका स्वागत करेंगे। 10 मिनट विश्राम के बाद राष्ट्रपति 4.20 बजे इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान पहुंचेंगे। राष्ट्रपति के आगमन पर सुरक्षा व्यवस्था भी चाक-चौबंद की गई है।

उत्तर प्रदेश में रीजनल नेटवर्क के जरिए हवाई नेटवर्क को किया जा रहा है बढिय़ा: योगी

वन डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट पर सरकार का विशेष फोकस, जिलों के विशेष उत्पादों को दिया जायेगा बढ़ावा
रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में आयात पर निर्भर न होकर उनको अपने संसाधनों से ही किया जाएगा तैयार-रक्षामंत्री

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी पर से बीमारू राज्य का दाग हटाकर उसे समृद्ध प्रदेश बनाने के लिये लखनऊ में आयोजिस इन्वेस्टर्स समिट का आज दूसरा और आखिरी दिन है। लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में चल रहे इस समिट में देश के बड़े-बड़े उद्योगपति काफी दिलचस्पी दिखा रहे हैं। समिट के पहले दिन 4.48 लाख करोड़ का निवेश हुआ है। दूसरे दिन आज सबसे पहले उत्तर प्रदेश में डिफेंस और ऐरोस्पेस के क्षेत्र में मौजूद संभावनाओं पर मंथन किया गया। इस सत्र में मंच पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण मौजूद रहीं। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब हम निमंत्रण लेकर दिल्ली गये तो पहली बार डिफेंस कॉरिडोर की बात सामने आई। इसमें बहुत संभावनाए हैं। देश मे जितनी संभावनाए यहा हैं कहीं नहीं हैं। सडक़, हाइवे, एक्सप्रेस वे और तो और हाइवे कनेक्टिविटी बहुत अच्छी है। जेवर में एयरपोर्ट बन रहा है। कुशीनगर में भी इंटरनेशनल एयरपोर्ट जल्द शुरू होगा। हमने यूपी में वन डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट के जरिए बढिय़ा संभावनाएं खोजी हैं। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में औद्योगिक गलियारा बनाया जा रहा है। इसमें डिफेंस कॉरिडोर को शामिल करेंगे। जो निवेशक आएंगे उनको सुविधा देंगे। डिफेंस के क्षेत्र में निवेश को लेकर जल्दी एक पॉलिसी बनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने यूपी में विशेष रुचि दिखाई है इसके लिए प्रधानमंत्री का बहुत-बहुत धन्यवाद।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बुंदेलखण्ड में बहुत जमीन है, जिसे इंवेस्टर्स को उपलब्ध कराएंगे। यहां पर रेल नेटवर्क भी बहुत अच्छा है। योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने सुधार करने के लिए लंबी छलांग लगाई है। प्रदेश के अंदर ईको सिस्टम निवेश की सम्भावनाओं के लिए आमंत्रित करता है। उत्तर प्रदेश में निवेशकों के लिए बेहतर सम्भावना है। इस अवसर पर राज्य के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना और राज्य मंत्री रीता बहुगुणा ने केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री और निवेशकों का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर मंच पर संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना, सुरेश राणा, नवनीत सहगल सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Pin It