2025 तक प्रदेश होगा टीबी मुक्त: सिद्वार्थ नाथ

मरीजों को मिलेगी उच्चस्तरीय सुविधाएं

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डा. सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि टीबी गंभीर बीमारी है। हमें वर्ष 2025 को प्रदेश को इस बीमारी से निजात दिलानी है। इसके लिए प्रदेश सरकार व डॉक्टरों के प्रयास जारी है और इसमें सफलता भी मिलेगी। यह जानकारी सोमवार को टीबी की रोकथाम के लिए गठित यूपी स्टेट टॉस्क फोर्स के कार्यक्रम में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कही। गोमती नगर स्थित डा. राम मनोहर लोहिया संस्थान के प्रशासनिक भवन में आयोजित कार्यक्रम में टास्क फोर्स के चेयर मैन डा. सूर्यकांत संिहत अन्य वरिष्ठ डॉक्टर भी मौजूद थे।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के तहत लगभग 617 करोड़ रुपए नीति आयोग की ओर से दिया जाना प्रस्तावित है। इस नीति से लागू होने से प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं में जबरदस्त सुधार होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में केन्द्र सरकार की ओर से स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए निर्णायक कदम उठाये गए हैं। इससे रोगियों को उच्चस्तरीय सुविधा का लाभ मिलेगा। यूपी स्टेट टॉस्क फोर्स के चेयरमैन प्रो. सूर्यकांत ने कहा कि जल्द ही टीबी के मरीजों को प्रतिमाह 500 रुपए का भत्ता मिलना शुरू हो जाएगा। इसके तहत टीबी की दवा के रेपर पर एक गोपनीय कोड नंबर दिया जाएगा। रोगी को कोड पर मिस्ड कॉल करनी होगी। इसके बाद मरीज का पंजीकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यदि मरीज मिस्ड कॉल नहीं करता है तो उससे फोन करके पूछा जाएगा कि उसने दवा खायी या नहीं । इससे टीबी के प्रथम चरण में मरीज कोर्स का पूरा सेवन करेगा, जिससे एमडीआर के केस नहीं बढ़ेंगे। उन्होंने बताया कि वर्तमान में प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिए आने वाले 2.25 लाख मरीजों का पंजीकरण हो चुका है।

Pin It