लोहिया अस्पताल में जटिल ऑपरेशन कर बचायी जान

बिना फेलोपियन ट्यूब के महिला की करायी डिलीवरी

सौतेले पिता ने की अपनी बेटी की अस्मत तार- तार  पुलिस मामला दर्ज कर आरोपी की कर रही तलाश  १११ 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क लखनऊ। राजधानी के मलिहाबाद थाना क्षेत्र में एक वहशी सौतेले पिता ने अपनी ही बेटी की अस्मत को तार-तार कर दिया। आरोप है कि अपने साथ हुयी घटना की जानकारी पीडि़ता जब पुलिस को बताने पहुंची तो स्थानीय पुलिस ने उसे टरका दिया, तब किशोरी ने एक एनजीओ की शरण ली। एनजीओ के दबाव में पुलिस ने मामला दर्ज किया। पुलिस का कहना है कि आरोपी की तलाश की जा रही है मगर अभी तक वह हाथ नहीं लगा है।  मिली जानकारी के अनुसार मलिहाबाद की रहने वाली एक किशोरी ने आरोप लगाया है कि उसके सौतेले पिता ने उसके साथ रेप किया है। पीडि़ता का आरोप है कि अपने साथ हुयी इस घिनौनी हरकत की सूचना लेकर जब वह थाने पहुंची तो वहां पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे वापस भेज दिया। इस पर वह एक एनजीओ की पदाधिकारी से जाकर मिली तब जाकर पुलिस ने मामला दर्ज किया। इस सम्बन्ध में एसपी ग्रामीण डा. सतीश कुमार सिंह का कहना है कि सौतेली बेटी के साथ घिनौनी हरकत करने वाले पिता पर एससी-एसटी के तहत भी मामला दर्ज किया जायेगा।4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोमती नगर स्थित डा. राम मनोहर लोहिया अस्पताल में डॉक्टरों ने महिला मरीज की फेलोपियन ट्यूब की विकृति को ठीक करके उसे नया जीवन दे दिया। विशेषज्ञ डॉक्टर के अनुसार मरीज की एक तरफ की फेलोपियन ट्यूूब नहीं थी, जिसके कारण ब्लीडिंग होने से उसकी तबियत तेजी से बिगड़ रही थी। फिलहाल डिलिवरी के बाद जच्चा- बच्चा दोनों स्वस्थ हंै।
बहराइच निवासी सुषमा (बदला नाम) का इलाज क्वीनमेरी अस्पताल में चल रहा था। परिजनों का आरोप है कि वहां पर मरीज का इलाज सहीं न होने पर वह लोग उसे लेकर लोहिया अस्पाल आ गये। यहां पर डॉक्टर सुषमा सिंह ने महिला की हालत देखते हुए तत्काल अल्ट्रासाउंड जांच करायी। जांच में पता चला कि मरीज की एक तरफ की फेलोपियन ट्यूब नहीं है। इस कारण डिलीवरी के दौरान उसे अचानक ब्लीडिंग शुरू हो गयी। डॉक्टरों का कहना है कि इस तरह की विकृति को यूनीकोर्न यूट्रस कहा जाता है। डाक्टरों ने जटिल आपरेशन कर जच्चा-बच्चा दोनों की जान बचा ली है। डॉक्टरों के मुताबिक यह विकृति बहुत कम महिलाओं में होती है। ऐसी महिलाओं को गर्भधारण करने में मुश्किल होती है।

Pin It