बिल्डरों के हाथों बिका एलडीए शिकायत के बावजूद कार्रवाई नहीं

लक्ष्मणपुरी में आवासीय प्लाट संख्या-48 पर बन गया पांच मंजिला अपार्टमेंट
तमाम शिकायतों के बाद भी नहीं जागा एलडीए, अवैध रूप से शुरू हुई फ्लैटों की ब्रिकी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अवैध निर्माण कर शहर की सूरत बिगाडऩे वालों को लेकर सरकार भले ही सख्त हो लेकिन एलडीए अवैध निर्माण रोकने में फेल साबित हो रहा है। अवैध निर्माण के खिलाफ शिकायत के बावजूद एलडीए उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहा है, जिसके चलते शहर में बिल्डरों के हौसले बुलंद हैं। ऐसे में साफ नजर आ रहा है कि एलडीए बिल्डरों के हाथों बिक चुका है। यही कारण है कि अवैध निर्माण की जानकारी के बाद भी एलडीए अफसर कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला फैजाबाद रोड स्थित लक्ष्मणपुरी में देखा जा सकता है, जहां अवैध पांच मंजिला अपार्टमेंट बनकर तैयार हो गया और एलडीए के अफसरों को इसकी भनक तक नहीं लगी।
फैजाबाद रोड स्थित लक्ष्मणपुरी में आवासीय प्लाट संख्या-48 पर पांच मंजिला अपार्टमेंट बन कर खड़ा हो गया है। इसको लेकर कई बार एलडीए में शिकायत पहुंची लेकिन इस अवैध निर्माण पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। यही नहीं कई प्रमुख समाचार पत्रों में भी खबरें प्रकाशित हुईं लेकिन एलडीए अफसर आंखें बंद किए बैठे रहे। अवैध अपार्टमेंट के फ्लैटों की ब्रिकी खुलेआम हो रही है। अपार्टमेंट में बने 20 फ्लैटों का निर्माण कर लिया गया। अब इस अवैध अपार्टमेंट में लोग आशियाना खरीदने की चाहत में पहुंच रहे हैं लेकिन एलडीए की ओर से न तो बिल्डिंग पर कार्रवाई की जा रही है और न ही ग्राहकों को इस बात से अवगत कराया जा रहा है। यही कारण है कि अवैध अपार्टमेंट के बारे में जानकारी से अंजान लोगों को दबंग बिल्डिर ठगने को तैयार बैठा है। जनता की गाढ़ी कमाई खुलेआम लूटी जा रही है लेकिन लखनऊ विकास प्राधिकरण के जिम्मेदार अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। आलम यह है कि फ्लैटों के बिक्री संबंधी जानकारी अफसरों को नहीं है।
जानकारों के मुताबिक लक्ष्मणपुरी में इस अपार्टमेंट का मालिक कोई छोटा-मोटा बिल्डर नहीं है बल्कि अरबपति व्यवसायी है। बताया जा रहा है कि इस व्यवसायी की पहुंच ऊपर तक है, जिसके चलते लखनऊ विकास प्राधिकरण के अफसर इस बिल्डर पर सिर्फ दिखावे की कार्रवाई कर रहें हैं। यही कारण है कि 26 मई 2017 को बिल्डिंग को पुलिस अभिरक्षा में दिये जाने के बाद फ्लैटों की बिक्री शुरू हो गई। बता दें कि 22 सितम्बर को एलडीए की ओर से पुलिस को बिल्डिंग का कार्य रोकने के लिए पत्र भेजा गया था लेकिन अभी तक बिल्डिंग को ध्वस्त नहीं किया गया, जबकि बिल्डर ने एलडीए की सील तोड़ कर निर्माण कार्य जारी रखा।

प्रदेश के पहले इन्वेस्टर्स समिट में अखिलेश की योजनाओं का जिक्र

आगरा एक्सप्रेस-वे को इन्वेस्टर्स समिट की होर्डिंग में दी गई है जगह
21 और 22 फरवरी को आयोजित है इन्वेस्टर्स समिट

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। योगी सरकार की पहली इन्वेस्टर्स समिट में अखिलेश सरकार की योजनाओं को भी जगह मिली है। सत्ता में आने से पहले बीजेपी जिस आगरा एक्सप्रेस-वे को लेकर सवाल उठाती थी, उसे इन्वेस्टर्स समिट की होर्डिंग में जगह दी गई है। इतना ही नहीं पुरानी सरकार के डेयरी उद्योग और सोलर एनर्जी के क्षेत्र में किए गए कामों की बड़ाई भी होर्डिंग्स में दिखाई दे रही है, जिसके बाद समाजवादी पार्टी ने सवाल किया है कि कुछ महीनों पहले जिन योजनाओं पर सवाल उठ रहे थे वह अचानक ठीक कैसे हो गया।
राजधानी लखनऊ में 21 और 22 फरवरी को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में इंवेस्टर्स समिट का आयोजन किया गया है। इंवेस्टर्स समिट में पूरे देश के उद्योगपति भाग ले रहे हैं। समाजवादी पार्टी ने इंवेस्टर्स मीट को लेकर कुछ सवाल खड़े किए हैं। सपा के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा है कि आगरा एक्सप्रेस-वे जब इतना बुरा था तो फिर उसको होर्डिंग्स में जगह क्यों दी गई? सपा का कहना है कि बीजेपी को अपना दिल बड़ा करना चाहिए और होर्डिंग में अखिलेश यादव का नाम भी लिखा जाना चाहिए। सपा को इस बात पर भी ऐतराज है कि सरकार उनके शासनकाल के कामों की जांच करवाती रही, लेकिन प्रमोशनल कार्यों में उन्हीं की योजनाओं का इस्तेमाल किया गया। इन्वेस्टर्स समिट के बहाने ही सही लेकिन सपा शायद सियासी फायदा लेना चाह रही है। सपा की सरकार को सत्ता से गए हुए एक साल का वक्त बीत गया है, लेकिन समाजवादी पार्टी मनोवैज्ञानिक रूप से जनता के बीच में बार-बार मैसेज देना चाह रही कि उनके कामों पर ही बीजेपी सरकार चल रही है। फिलहाल लखनऊ की सडक़ों पर लगी हुई होर्डिग्स की लड़ाई किस तरफ जाएगी किसी को नहीं पता, लेकिन सियासी जंग में रोमांच जरूर आ गया है।

रक्षा मंत्री व सेना प्रमुख करेंगे सुंजवां आर्मी कैंप का दौरा

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण जाएंगी आर्मी अस्पताल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। जम्मू के सुंजवां और अब श्रीनगर में सीआरपीएफ हेडक्वार्टर पर आतंकी हमले के बाद नई दिल्ली में रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने आपात बैठक बुलाई थी। बैठक के बाद तय किया गया है कि रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण और सेना प्रमुख बिपिन रावत जम्मू का दौरा करेंगे। दोनों सुंजवां आर्मी कैंप भी जाएंगे। रक्षामंत्री पहले आर्मी अस्पताल जाएंगीं।
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी हमले के बाद उच्चस्तरीय बैठक बुलाई थी। रक्षामंत्री ने सेना के तीनों प्रमुखों के साथ बैठक की। इस बैठक में रक्षा सचिव और अन्य अधिकारी भी शामिल हुए। आपको बता दें कि सेना प्रमुख बिपिन रावत सुंजवां हमले के बाद जम्मू होकर गए हैं। बिपिन रावत रक्षामंत्री को इस हमले की पूरी जानकारी दी। मालूम हो कि जम्मू के सुंजवां आर्मी कैंप पर हमले के बाद सोमवार सुबह आतंकियों ने श्रीनगर में हमले की कोशिश की।

राजनाथ सिंह ने बुलाई बैठक

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आंतरिक सुरक्षा को लेकर उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। ये बैठक शाम 4 बजे होगी। इस बैठक में सुंजवां में हुए आतंकी हमले पर चर्चा होगी। बैठक में गृहमंत्री राजनाथ सिंह, गृह सचिव, आईवी चीफ, रॉ चीफ सहित, गृह मंत्रालय के दूसरे अधिकारी भी शामिल होंगे।

अवैध संबंधों के चलते हुई थी राजकुमार की हत्या

मृतक की पत्नी से थे आरोपी के अवैध संबंध

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के पीजीआई थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े हुई टेंट व्यवसायी की हत्या का खुलासा करते हुए आज पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए आरोपी के कब्जे से घटना में प्रयुक्त की गई मोटरसाइकिल और पिस्टल भी बरामद हुई है। पुलिस का कहना है कि आरोपी अभिषेक ने पूछताछ में कबूला है कि मृतक की पत्नी के साथ उसके अवैध संबंध थे। इसी खुन्नस के चलते उसने गोली मारकर हत्या कर दी थी।
उल्लेखनीय है कि बीते 18 फरवरी को पीजीआई थाना क्षेत्र के वृंदावन कॉलोनी में टेंट व्यवसायी राजकुमार यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। दिनदहाड़े हुई इस हत्याकांड से क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। पुलिस ने इस घटना को अंजाम देने वाले एक आरोपी को आज पकडऩे में कामयाबी हासिल की। एसपी उत्तरी अनुराग वत्स ने बताया कि पकड़ा गया अभियुक्त अंबेडकर नगर के अहरौली का रहने वाला है। अभिषेक ने स्वीकार किया है कि वह 2016 में यहां पर काम करने के लिए आया था। उसी दौरान उसके अवैध संबंध राजकुमार की पत्नी से हो गए थे। राजकुमार को इसकी भनक लग गई थी। इसलिए वह विरोध करता था। इसी खुन्नस के चलते घटना वाले दिन अभिषेक यहां आया और राजकुमार की हत्या करने के बाद वापस गांव चला गया था, जिसे आज पकड़ लिया गया है। उनका कहना है कि पकड़े गए अभियुक्त के कब्जे से घटना में प्रयुक्त की गई मोटरसाइकिल के अलावा पिस्टल भी बरामद हुई है ।

अज्ञात वाहन की टक्कर से एक की मौत, एक घायल

पुलिस ने घायल को अस्पताल में कराया भर्ती, अज्ञात वाहन की तलाश शुरू

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के बीकेटी थाना क्षेत्र में आज सुबह स्कूटी से जा रहे दो लोगों को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी जिससे एक की मौके पर मौत हो गयी, जबकि दूसरा बुरी तरह घायल हो गया। घटना की सूचना राहगीरों ने थाने पर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज घायल को उपचार के लिये अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस का कहना है कि क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से आरोपी की तलाश की जा रही है।
मिली जानाकारी के अनुसार विकासनगर के रहने वाले राजेन्द्र पंत आरएलबी स्कूल में नौकरी करते थे। बताया जाता है कि आज सुबह राजेन्द्र अपने ससुर के साथ बीकेटी क्षेत्र में स्थित चन्द्रिका देवी के दर्शन करने गये थे। वापसी में वह कठवारा गांव के पास ही पहुंचे थे तभी किसी अज्ञात वाहन ने उनकी स्कूटी में टक्कर मार दी जिससे दामाद राजेन्द्र की मौत हो गयी। पुलिस का कहना है कि क्षेत्र में स्थित पेट्रोल पम्प पर लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से टक्कर मारने वाली गाड़ी की तलाश की जा रही है।

Pin It