राजधानी में महिलाओं के लिए बनाए जाएंगे पिंक टॉयलेट, सुविधा और सुरक्षा पर रहेगा फोकसड्ढ

केन्द्र सरकार को भेजा गया पिंक टॉयलेट बनाने का प्रस्ताव, प्रथम चरण में 45 टॉयलेट बनाने की तैयारी
टॉयलेट में यूरिनल सुविधा समेत मिलेगी कॉमन रूम और वेटिंग एरिया की सुविधा
सुविधा के साथ सुरक्षा भी देगा नगर निगम, महिलाकर्मियों को मिल सकती है संचालन की जिम्मेदारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में महिलाओं की सुविधा और सुरक्षा को लेकर नगर निगम एक सराहनीय पहल करने जा रहा है। अब शहर में महिलाओं के लिए अगल से शौचालयों की व्यवस्था होगी। नगर निगम महिलाओं के लिए पिंक टॉयलेट बनाने की तैयारी कर रहा है। पिंक टॉयलेट में महिलाओं की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाएगा। इन टॉयलेट के संचालन का जिम्मा महिला कर्मचारियों को दिया जा सकता है। टॉयलेट्स में महिलाओं को यूरिनल सुविधा समेत कॉमन रूम भी होंगे। टॉयलेट में सिनेटरी पैड भी उपलब्ध होंगे। फिलहाल नगर निगम की ओर से शहर के सार्वजनिक स्थानों पर 45 टॉयलेट बनवाने की तैयारी है। हालांकि इसकी संख्या में इजाफा किया जा सकता है।
राजधानी में अभी तक एक ही छत के नीचे पब्लिक टॉयलेट में महिला और पुरूष के लिए अलग-अलग टॉयलेट की व्यवस्था है। ऐसे में कई महिलाएं शौचालयों का प्रयोग करने में असहज महसूस करती है। इस समस्या को देखते हुए नगर निगम पिंक टॉयलेट का निर्माण कराने की तैयारी में है। इसके लिए प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजा जा चुका है। ये टॉयलेट भोपाल में बने शी लाउंज की तर्ज पर बनाने की योजना है। नगर निगम के अफसरों के अनुसार पिंक टॉयलेट में महिलाओं की सुविधा का ध्यान रखा जायेगा। इसीलिए महिलाओं की सुरक्षा और सुविधा के लिए टॉयलेट्स के संचालन का जिम्मा भी महिला कर्मचारियों को दिया जाएगा। इसके लिए कई निजी संस्था काम करने के लिए तैयार हैं। महिलाओं के लिए बनाए जाने वाले पिंक टॉयलेट्स में यूरिनल की सुविधा के साथ ही कुछ जगह पर कॉमन रूम और वेटिंग एरिया भी बनवाए जाएंगे। इसके अलावा महिलाओं को सिनेटरी पैड चेंज करने की भी सुविधा दी जायेगी।

महिलाओं से लिया जायेगा फीडबैक
महिलाओं को टॉयलेट की व्यवस्था कैसी लगी इसके लिए बकायदा फीडबैक की सुविधा भी दी जाएगी। टॉयलेट में लाल, हरे व पीले रंग का बटन होगा। शौचालय के इस्तेमाल के बाद महिलाएं स्थिति के अनुसार बटन दबाकर अपना फीडबैक दे सकेंगी। शौचालय बदहाल मिलने पर लाल, संतोषजनक स्थित मिलने पर पीला व बेहतर इंतजाम मिलने पर हरे रंग का बटन दबाना होगा। फीडबैक के आधार पर सफाई व्यवस्था करायी जाएगी। लगातार निगेटिव फीडबैक आने पर शौचालय चलाने वाली संस्था पर कार्रवाई भी हो सकती है। नगर निगम के पर्यावरण अभियंता पंकज भूषण ने बताया कि शौचालयों में फीडबैक के लिए लगायी जा रही सभी डिवाइस सर्वर से जुड़ी रहेंगी। कोई भी महिला शौचालय को यूज करने के बाद जब उसका फीडबैक देने के लिए बटन दबाएगी तो उसकी जानकारी सर्वर के जरिये नगर निगम को प्राप्त होगी। मिलने वाले फीडबैक के आधार पर टॉयलेट का संचालन करने वाली संस्था को पत्र भेजा जाएगा।

यहां बनेंगे पिंक टॉयलेट

1090 चौराहा, जनपथ मार्केट, हजरतगंज, अमीनाबाद, कैसरबाग, राजाजीपुरम, चारबाग बस अड्डा, चंदर नगर, नाका हिंडोला, टेढ़ी पुलिया, आशियाना, खजाना चौराहा, पीजीआई, चौक, केजीएमयू, बड़ा इमामबाड़ा, बुद्धेश्वर, फन मॉल, भूतनाथ, राजकीय पॉलिटेक्निक, मीना मार्केट, कपूरथला, मुंशीपुलिया, इस्माइलगंज पुलिस चौकी, महानगर, रवींद्रालय, गोल मार्केट, आम्रपाली मार्केट, लेखराज, डंडईया, निशातगंज, पत्रकारपुरम, अमौसी, सदर, हनुमान सेतु, पुरनिया, ऐशबाग रेलवे स्टेशन, डालीगंज रेलवे स्टेशन, चिनहट बाजार, बंगला बाजार, मिठाईवाला, त्रिवेणीनगर समेत इंजीनियरिंग कॉलेज चौराहा।

शहर में पिंक टॉयलेट बनाने की तैयारी है। महिलाओं की परेशानी को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। यह केवल महिलाओं के लिए होगा। इनमें सुविधा, सुरक्षा और सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।
-पीके श्रीवास्तव, अपर नगर आयुक्त

Pin It