जम्मू में आर्मी कैंप पर आतंकी हमला, 2 जवान शहीद, 7 घायल

जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की ली जिम्मेदारी
ऑपरेशन के लिए तैनात किए गए पैरा कमांडो

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
जम्मू । एक बार फिर आतंकियों ने सेना के कैंप को अपना निशाना बनाया। जम्मू कश्मीर के सुंजवां आर्मी कैंप पर आज आतंकी हमले में 2 जवान शहीद हो गए, जबकि 7 लोगों के घायल होने की खबर है। इनमें सेना के एक मेजर, दो जेसीओ, दो महिलाएं और दो बच्चे शामिल हैं। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन को सुंजुवां में चल रहे ऑपरेशन की पूरी जानकारी दी है। इस आतंकी घटना को लेकर गृह मंत्रालय भी सक्रिय हो गया है। आतंकियों की संख्या का अभी ठीक पता नहीं चल पाया है। ऑपरेशन के लिए पैरा कमांडो को भी तैनात कर दिया गया है। ऑपरेशन के दौरान हेलिकॉप्टर से नजर रखी जा रही है। कैंप के नजदीक 500 मीटर के दायरे में सारे स्कूल बंद कर दिए गए हैं। इस बीच आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली है।
आतंकियों ने सुबह 4:55 बजे अंधेरे का फायदा उठाते हुए सेना के कैंप पर फायरिंग शुरू कर दी। जानकारी के मुताबिक यह हमला कैंप के फैमिली क्वार्टर्स पर किया गया। जम्मू के आइजीपी एसडी सिंह जामवाल ने बताया कि सुबह करीब 4 बजकर 55 मिनट पर कैंप के भीतर संतरी ने संदिग्ध गतिविधियों को जाते हुए देखा। संतरी के बंकर से गोलियों की आवाजें आ रही थी, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई की गई। फिलहाल कितने आतंकी है इसकी संख्या का पता नहीं चल सका है। आतंकी एक फैमिली क्वार्टर में घुस गए हैं। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। अभी तक आतंकियों की संख्या का पता नहीं चल सका है, लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि 3-4 आतंकी अंदर घुसे हो सकते हैं। बता दें कि सुंजवां आर्मी कैंप में सेना के जवानों के हजारों क्वार्टर्स हैं। इसमें करीब तीन हजार जवान रहते हैं। बताया जा रहा है कि कैंप के पीछे की दीवार से कूदकर आतंकी अंदर दाखिल हुए। हमले पर गृह मंत्रालय नजर बनाए हुए हैं। सुरक्षा एजेंसियां गृह मंत्रालय के संपर्क में है। खुफियां एजेंसियों ने आतंकी हमले को लेकर अलर्ट जारी कर रखा था।

डीजीपी ने क्राइम मीटिंग में कप्तानों की लगाई क्लास, देर से पहुंचे SSP लव कुमार को लगी फटकार

मीटिंग में मौजूद रहे पश्चिमी यूपी के कई जिलों के कप्तान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
मेरठ। उत्तर प्रदेश पुलिस के महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह आज रिजर्व पुलिस लाइन मेरठ पहुंचे। उनके आने की जानकारी मिलते ही पुलिस महकमे में हडक़ंप मच गया। आनन-फानन में एसएसपी मंजिल सैनी सहित शहर के सभी अफसर पुलिस लाइन पहुंचे। पुलिस अधिकारियों ने सलामी देकर डीजीपी का स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने पुलिस अधिकारियों के साथ पश्चिमी यूपी में बढ़ रहे अपराध पर समीक्षा मीटिंग की।
डीजीपी ने मेरठ जोन के बागपत, बुलंदशहर, गौतमबुद्ध नगर, मेरठ, हापुड़, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर और शामली जिले के कप्तानों को तलब कर पेंच कसे। डीजीपी ने एसएसपी मेरठ को निर्देश दिया कि वह खासकर जिले में अपराधों पर नियंत्रण करें। इतना ही नहीं घंटों चली मीटिंग में सडक़ पर गुंडागर्दी करने वालों पर लगाम कसने और सनसनीखेज वारदातों का खुलासा करने का उन्होंने निर्देश दिया। डीजीपी ने समीक्षा बैठक करके क्राइम जोन के सभी जिलों की स्थिति जानते हुए वांछित अपराधियों को भी गिरफ्तार करने के निर्देश दिया। उन्होंने हर महीने सर्वश्रेष्ठ काम करने वाले एक सिपाही को सम्मानित करने और उसकी फोटो संबंधित थाने में लगाने के भी निर्देश दिए। डीजीपी ने कहा कि पुलिसकर्मी किसी तरह के दबाव में काम ना करें। वह जनता के बीच आ जाएं और उनकी समस्याओं का निस्तारण करें। इससे जनता के बीच पुलिस की छवि बेहतर होगी।

मीटिंग में देर से पहुंचे एसएसपी लव कुमार

डीजीपी की मीटिंग में काफी देर से पहुंचे एसएसपी गौतम बुद्ध नगर लव कुमार को डीजीपी ने जमकर फटकार लगाई और उन्हें मीटिंग में शामिल नहीं होने दिया । एसएसपी के गलती मानने और काफी मान-मनौव्वल करने के बाद डीजीपी ने उन्हें अंदर बैठने की इजाजत दी, मगर इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

गठबंधन की राजनीति को दीनदयाल जी ने आगे बढ़ाया: सीएम योगी

पं. दीनदयाल उपाध्याय की मूर्ति का सीएम ने किया अनावरण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज बख्शी का तालाब स्थित दीनदयाल उपाध्याय राज्य ग्राम्य विकास संस्थान में पं. दीनदयाल उपाध्याय की मूर्ति का अनावरण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कल 11 फरवरी को विचारक दीनदयाल उपाध्याय जी की पुण्यतिथि के 50 साल पूरे होने जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश उनकी जन्मभूमि रही है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी ने ‘जो कमाएगा वो खाएगा’ के नारे को बदलकर ‘जो कमाएगा वो खिलाएगा’ किया। इस देश में गठबंधन की राजनीति भी हो सकती है ये पहली बार पंडित दीनदयाल जी ने इस विचार को आगे बढ़ाया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पंडित जी की मूर्ति को स्थापित करने में 27 साल लग गए, लेकिन कोई बात नहीं। देर आए दुरुस्त आए। दीनदयाल जी और लोहिया जी साथ में चलने के पक्षधर थे, तभी गठबंधन हुए। राजनीति पर लोकनीति का नियंत्रण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि राम मनोहर लोहिया जी सोशलिस्ट शब्द का प्रयोग करते थे, यह हमारे बहुत नजदीक था। अब समाजवाद जातिवाद, परिवारवाद, भ्रष्टïाचार, आतंकवाद के रूप में है। लोहिया जी की आत्मा को यह सब देखकर बहुत पीड़ा होती होगी। उन्होंने कहा कि 8 लाख 85 हजार आवास यूपी ग्राम्य विकास विभाग के द्वारा बनाए गए हैं। इस मौके पर सीएम ने यूपी ग्राम्य विकास विभाग के द्वारा बनाए गए आवासों के लाभार्थियों को चाभी व स्वयंसेवी समूहों को चेक दिए।

Pin It