इंवेस्टर्स समिट की तैयारी में न छोड़ें कोई कसर: महाना

औद्योगिक विकास मंत्री ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान का किया निरीक्षण
परिसर की खूबसूरती, सुरक्षा व्यवस्था व सफाई का लिया जायजा
तय समय में काम पूरा करने के लिए अधिकारियों को दिए निर्देश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में इंवेस्टर्स समिट की तैयारियां जोरों पर हैं। लखनऊ में 21-22 फरवरी को होने वाले कार्यक्रमों को यादगार बनाने में प्रदेश के मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री तक लगे हुए हैं। इसी कड़ी में आज प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान का निरीक्षण किया। उन्होंने इंवेस्टर्स समिट को लेकर की जा रही तैयारियों का जायजा लिया और अधिकारियों को निर्देश दिए कि समिट की तैयारी में कोई भी कोर कसर न छोड़ें।
सतीश महाना ने कहा कि इंस्वेटर्स समिट की सफलता का सीधा जुड़ाव देश और प्रदेश की जनता से है। इस समिट में देश और विदेश की तमाम जानी-मानी कंपनियों के सीईओ, अधिकारीगण व प्रतिनिधि पहुंचेंगे। इसलिए समिट के आयोजन स्थल से लेकर शहर के सभी प्रमुख मार्गों व स्थलों को चमकाने व सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने का काम तय समय पर पूरा हो जाना चाहिए। औद्योगिक विकास मंत्री ने निरीक्षण के दौरान औद्योगिक विकास विभाग के अधिकारियों और प्रशासनिक अधिकारियों को सारी व्यवस्था चुस्त दुरुस्त करने के निर्देश दिए। इस दौरान प्रमुख सचिव खादी विभाग नवनीत सहगल ने भी इंवेस्टर्स समिट की तैयारी में जुटे अधिकारियों को काम की गुणवत्ता बनाये रखने और समय से काम पूरा करने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा के अनुरूप सारे काम होने चाहिए, ताकि समिट ने आने वाली कंपनियां यूपी के विकास में सहयोग के लिए तत्पर हो जाएं। इस दौरान एलडीए वीसी प्रभु एन सिंह व अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी भी मौजूद रहे।

एलडीए ने आवासीय योजना में बना दिया श्मशान घाट, आवंटी परेशान

शिकायत पत्र के आधार पर कमिश्नर ने एलडीए वीसी को दिये मामले की जांच के आदेश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एलडीए की आवासीय योजना में श्मशान घाट बनाये जाने पर लोगों ने आपत्ति दर्ज की है। एलडीए की मानसरोवर योजना सेक्टर ओ विस्तार में लोगों को प्लाट बेच दिये गये बाद में वहां श्मशान घाट बना दिया गया। इस समस्या को लेकर आवासीय योजना में रहने वाले परिवारों ने कमिश्नर से शिकायत की है। कमिश्नर ने एलडीए उपाध्यक्ष को मामले की जांच करा कर कार्रवाई किये जाने के निर्देश दिये हैं।
शहीद पथ स्थित मानसरोवर योजना सेक्टर ओ विस्तार में रहने वाले लोगों ने बताया कि कालोनी के बीच एलडीए के द्वारा अधिग्रहित की गई भूमि पर श्मशान घाट के रूप में प्रयोग किया जा रहा है। श्मशान घाट में लाशें जलायी जा रही हैं। जिसके कारण कालोनियों में स्थित लोगों के घरों में राख उड़-उड़ कर पहुंचती है। इससे घर गंदा होने के साथ ही आस-पास का वातावरण भी काफी प्रभावित हो रहा है। लोगों का कहना है कि वर्तमान समय में भूमि पर चिता जलाए जाने के लिए प्लेटफार्म का भी निर्माण कराया जा रहा है। यही नहीं श्मशान घाट के पास लोगों की जमीन पर अवैध निर्माण की भी शिकायत मिली है। लोगों ने बताया कि जब एलडीए ने मानसरोवर योजना सेक्टर ओ विस्तार में प्लाटों का आवंटन किया था तब इस भूमि में कहीं भी श्मशान घाट नहीं दिखाया गया था। श्मशान घाट की जमीन को गु्रप हाउसिंग के रूप में दर्शाया गया था। ऐसे में योजना में रहने वाले हजारों लोगों के लिए समस्या बनी हुई है।

राजधानी की सडक़ों पर दौड़ती रही पुलिस, घरों में लूट-पाट करते रहे डकैत]

मलिहाबाद में पूर्व प्रधान के बेटे की हत्या कर डकैतों ने दिया घटना को अंजाम
बदमाशों ने एक बुजुर्ग को भी मारी गोली, फायरिंग से दहशत में ग्रामीण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में डकैतों का तांडव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। खुद को हाईटेक कहने वाली राजधानी पुलिस भी डकैतों के सामने बेबस नजर आ रही है। इस बात की पुष्टि मलिहाबाद में सोमवार की रात डकैतों के तांडव से हो गई। जिस समय राजधानी पुलिस के छोटे-बड़े अधिकारी डकैतों का सुराग लगाने की फिराक में सडक़ों पर पेट्रोलिंग कर रहे थे ठीक उसी वक्त हथियारबंद बदमाश मलिहाबाद में पूर्व प्रधान के घर में डकैती डाल रहे थे। डकैतों ने एक युवक की हत्या कर दी और एक बुजुर्ग को गोली मारकर घायल कर दिया। गोलियों की तड़तड़ाहट से लोग घरों में दुबके रहे। आखिरकार बदमाश घटना को अंजाम देकर चले गये लेकिन पुलिस को पता नहीं चल पाया। पुलिस डकैतों की तलाश में जुटी हुई है।
मिली जानकारी के मुताबिक मलिहाबाद में सरांवा गांव के पूर्व प्रधान परमेश्वर रावत के घर बीती देर रात डकैतों ने धावा बोला। जब डकैतों की आहट पाकर परमेश्वर के बेटे श्यामू उर्फ सोनू की नींद खुली तो उसने डकैतों का विरोध शुरु कर दिया। इससे गुस्साये डकैतों ने उसे गोली मार दी और परमेश्वर को भी लहूलुहान कर घर में रखा सामान और नगदी लूट कर भाग गये। डकैतों ने उसी गांव में छत्रपाल के घर पर भी डाका डाला। घटना का विरोध करने पर छत्रपाल को भी गोली मार दी। डकैतों ने उनके घर से भी नकदी और गहने लूटे। डकैतों ने मुशीगंज में भी दयाराम धोबी और मुन्नी देवी के घर पर डकैती की घटना को अंजाम दिया। इस मामले में एडीजी जोन अभय कुमार प्रसाद ने कहा कि जिले में पूरी रात डकैतों की कॉम्बिंग की गयी है। डकैतों को पकडऩे के लिये टीमों को और सख्त कर दिया गया है। जल्द ही डकैत पकड़े जाएंगे।

बीएसएफ ने पकड़े 12 संदिग्ध सीमा पार मचाई भारी तबाही

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
जम्मू। पाकिस्तान की ओर से जम्मू संभाग के सीमावर्ती इलाकों में की जा रही गोलीबारी का सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने कड़ा जवाब दिया है। बीएसएफ ने सीमा पार पाकिस्तान की कई चौकियां, फायरिंग रेंज और फ्यूल पम्प नष्ट कर दिए हैं। बीएसएफ प्रवक्ता के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ लगती पाकिस्तान की कई चौकियां, फायरिंग रेंज व पाकिस्तान के फ्यूल पंप तबाह हो गए हैं। पाक के हथियारों के भंडार को भी नुकसान पहुंचा है। बीएसएफ ने 12 संदिग्धों को गिरफ्तार करने के साथ वीडियो भी जारी किया है।

चरक अस्पताल में मरीज की मौत पर हंगामा

परिजनों का आरोप, अस्पताल ने बारह घंटे में ऐंठ लिए साठ हजार रुपये

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। चरक अस्पताल में महिला मरीज की मौत से नाराज तीमारदारों ने आज जमकर हंगामा काटा। परिजनों का आरोप है कि पूरी रात अस्पताल प्रशासन दवाई मंगवाता रहा लेकिन मरीज को इलाज नहीं दिया। इसलिए उसकी मौत हो गयी। अस्पताल प्रशासन तीमारदारों से 60 हजार रुपये ले चुका है। नाराज परिजनों ने चरक अस्पताल के खिलाफ सीएमओ से शिकायत कर कड़ी कार्रवाई की मांग करने का निर्णय

लिया है।
पारा के कलियाखेड़ा निवासी सरोज को ब्लड प्रेशर लो होने के कारण सोमवार की रात नौ बजे चरक अस्पताल में भर्ती किया गया था। भर्ती करने से पूर्व ही अस्पताल प्रशासन ने मरीज के परिजनों से 50 हजार रुपये जमा करवा लिए थे।
मामले की जानकारी नहीं है। जानकारी मिलने पर अस्पताल के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
जीएस बाजपेयी, सीएमओ

मरीज का एमटीपी कराया गया था। उसकी यूरिन में इंफेक्शन था। उसका मल्टीपल ऑर्गन फेल्योर था। इसकी जानकारी परिजनों को दी गई थी।
डॉक्टर विवेक वर्मा, सीनियर मैनेजर चरक अस्पताल

Pin It