पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अमित शाह ने भरा युवाओं में जोश

युवा उद्घोष के जरिए मिशन 2019 की तैयारी
कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य समेत आधा दर्जन मंत्री व संगठन से जुड़े दिग्गज नेता रहे मौजूद
काशी क्षेत्र के बाद पार्टी सूबे के अन्य पांच क्षेत्रों में युवा उद्घोष का करेगी आयोजन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

वाराणसी। भारतीय जनता पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी में लग गई है। इसी क्रम में आज पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में नए सदस्यों खासकर 17 से 35 वर्ष के युवाओं को जोडऩे के अभियान ‘युवा उद्घोष’ का बीजेपी के राष्टï्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शंखनाद किया। कार्यक्रम में मौजूद 17 हजार युवाओं में अमित शाह ने अपने भाषण से जोश भर दिया। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य समेत आधा दर्जन मंत्री व संगठन से जुड़े दिग्गज नेता मौजूद रहे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी से भारतीय जनता पार्टी की ओर से ‘युवा उद्घोष’ का शंखनाद करने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और योगी आदित्यनाथ दोपहर में काशी पहुंचे। सबसे पहले सीएम योगी बाबतपुर स्थित एयरपोर्ट पहुंचे। एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अमित शाह की अगवानी की। एयरपोर्ट पर ही कार्यकर्ताओं से मुलाकात के बाद भाजपा अध्यक्ष शाह और योगी आदित्यनाथ एक ही कार से शहर स्थित सर्किट हाउस रवाना हो गए। इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र पांडेय, सुनील बंसल आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे। इस दौरान पूरे रास्ते पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे।

पायलेट प्रोजेक्ट के तौर पर लांच हुआ है युवा उद्घोष

संगठन की बूथ स्तर तक की संरचना के समानांतर नए कार्यकर्ता के तौर पर युवाओं को जोडऩे में जुटी बीजेपी इससे जुड़े मिशन ‘युवा उद्घोष’ का पायलेट प्रोजेक्ट बनारस से लांच किया। काशी क्षेत्र के बाद पार्टी सूबे के अन्य पांच क्षेत्रों में युवा उद्घोष का आयोजन करेगी। इस मिशन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की मंशा के अनुरूप कैशलेस चलन को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। डिजिटल बैकिंग के जरिए 17 हजार युवाओं का 20 रुपये प्रति के हिसाब से शुल्क लेकर पार्टी का सदस्य बनाया गया है। पार्टी की रणनीति है कि काशी क्षेत्र से युवा उद्घोष की शुरुआत करने के साथ इसे सूबे के अन्य पांच क्षेत्रों में भी यह अभियान चलाया जाएगा और संवाद होंगे। बाद में ऐसे संवाद जिला स्तर पर भी आयोजित होंगे और नए कार्यकर्ताओं को पार्टी से जोड़ा जाएगा। अभी प्रत्येक बूथ पर औसत दस नए कार्यकर्ताओं की तैनाती की जा रही है। पार्टी का फोकस है ऐसे युवाओं पर जिनकी उम्र अभी 17 वर्ष है और आगामी लोकसभा चुनाव अर्थात मिशन 2019 में वे पहली बार अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। अब तक पंजीकृत हुए 17000 युवाओं में करीब छह हजार कार्यकर्ता 17 वर्ष की उम्र से जुड़े है।

लोकतंत्र की हत्या पर उतारू है चुनाव आयोग: संजय सिंह

आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द करने पर दी प्रतिक्रिया

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। चुनाव आयोग द्वारा आम आदमी पार्टी के 20 सदस्यों की सदस्यता रद्द किए जाने के विरोध में पार्टी नेता संजय सिंह ने चुनाव आयोग पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग अपने आका नरेंद्र मोदी के कहने पर इस तरह के काम कर रहा है। इसी वजह से आयोग ने विधायकों की मान्यता रद्द करने का फैसला बिना पक्ष सुने ही कर दिया। यह लोकतंत्र की हत्या है और चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर एक बड़ा सवालिया निशान है।
संजय सिंह ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि मोदी राज्य में संवैधानिक संस्थाओं का कोई मतलब नहीं है। लोकतंत्र का गला घोटने की लगातार कोशिश की जा रही है। सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों ने भी प्रेस वार्ता कर देश में लोकतंत्र को खतरे में बताया था। आम आदमी पार्टी सांसद ने कहा कि लाभ के पद का मामला यह है कि विधायकों की संसदीय सचिवों के पद पर नियुक्त की गई लेकिन उनको किसी प्रकार का लाभ सरकार की ओर से नहीं दिया गया। जबकि कई अन्य राज्यों में इससे पहले विधायकों की नियुक्ति संसदीय सचिव के पद पर हो चुकी है। पूर्व में दिल्ली, झारखंड, पंजाब और हरियाणा में भी विधायकों की नियुक्ति इसी पद पर की गई थी लेकिन हाईकोर्ट ने संसदीय सचिव की सदस्यता को रद्द करते हुए विधायकों की सदस्यता बरकरार रखी थी।

ओपी सिंह ही होंगे यूपी के डीजीपी सरकार ने भेजा दोबारा प्रस्ताव

ओपी सिंह कल संभाल सकते हैं कार्यभार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ । 20 दिन से खाली पड़ी उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक की कुर्सी पर ओपी सिंह ही बैठेंगे। आईपीएस ओपी सिंह के नाम पर प्रदेश सरकार ने 31 दिसंबर को ही मुहर लगाई थी लेकिन केन्द्र सरकार से रिलीव न मिलने की वजह से पेंच फंस गया था। फिलहाल प्रदेश सरकार की तरफ से कल फिर से प्रस्ताव भेजा गया, जिसके बाद उन्हें केंद्र से रिलीव किया जा रहा है। माना जा रहा है कि कल वह कार्यभार संभाल सकते हैं।
केंद्र सरकार सीआइएसएफ में डीजी के पद पर तैनात 1983 बैच के उत्तर प्रदेश कॉडर के आईपीएस अधिकारी ओपी सिंह को आज रिलीव कर रही है। सूत्रों के मुताबिक उत्तर प्रदेश सरकार ने उनके नाम का एक प्रस्ताव कल केंद्र सरकार को भेजा था। माना जा रहा है कि वह प्रदेश के डीजीपी के रूप में कल अपना कार्यभार संभाल सकते हैं। उनका कार्यकाल 30 जनवरी 2020 तक होगा। मालूम हो कि ओपी सिंह के नाम पर प्रदेश सरकार की तीन सदस्यीय कमेटी ने 31 दिसंबर को मुहर लगाई थी। उनको तीन जनवरी तक अपना काम संभालना था लेकिन केन्द्र सरकार द्वारा उन्हें रिलीव न करने की वजह से वह कार्यभार ग्रहण नहीं कर सके। सुलखान सिंह के पुलिस महानिदेशक पद से 31 दिसंबर को सेवानिवृत्त होने के बाद ओपी सिंह को इस अहम पद की जिम्मेदारी सौंपी जानी थी। ओपी सिंह बिहार के गया जिले के मीरा बिगहा गांव के रहने वाले हैं।

बुजुर्ग महिला की हत्या से हडक़ंप

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में अपराधी अब पूरी तरह बेखौफ हो चले हैं। इसका प्रत्यक्ष प्रमाण आज नाका थाना क्षेत्र में देखने को मिला, जहां बदमाशों ने एक 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला बीना मल्होत्रा की चाकुओं से गोदकर निर्मम हत्या कर दी। घटना की जानकारी होने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है। मौके से पुलिस ने चाकू बरामद किया है। क्षेत्र में चर्चा है कि बदमाशों ने महिला की हत्या लूटपाट करने के बाद की है, मगर पुलिस इसकी पुष्टि नहीं कर रही है।

राजेन्द्र नगर में महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई है। महिला के शरीर पर डंडे के निशान है। एफएसआई की टीम मौके पर पहुंच गई है।
-दीपक कुमार, एसएसपी

Pin It