बिना नाम लिए योगी और केशव को संघ की नसीहत, संवादहीनता खत्म कर समन्वय से करें काम

सरकार और संगठन के कामकाज पर संघ की नाराजगी से भाजपा नेताओं में खलबली
बेलगाम अफसरों पर बिना किसी भेदभाव कार्रवाई करे सरकार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। संघ, सरकार और संगठन की बैठक में संघ के पदाधिकारियों ने किसी का नाम तो नहीं लिया किंतु मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के बीच चल रहे मनमुटाव पर नाराजगी जताते हुए नसीहत दी कि सरकार के बड़े पदाधिकारी समन्वय से काम करें और संवादहीनता को समाप्त करें। संवादहीनता से एक दूसरे के प्रति मनमुटाव बढ़ता है। किसी मुद्दे पर असहमति होने पर उस पर चर्चा होनी चाहिए। संघ ने अफसरों की मनमानी तथा कार्यकर्ताओं और जनता की समस्याओं पर ध्यान न देने के लिए सरकार और भाजपा नेताओं को व्यवस्था में बदलाव दिखाई देने की हिदायत दी।
देर रात तक चली बैठक में संघ की ओर से सह सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले और कृष्ण गोपाल मौजूद थे। संघ ने अफसरों की मनमानी और उनकी कार्यशैली में कोई बदलाव न होने पर नाराजगी जताई है उससे भाजपा नेताओं में खलबली मची हुई है। बताते हैं कि संघ की ओर कहा गया कि कुछ प्रभावशाली नेताओं से संबंध का प्रचार कर अफसर मनमानी कर रहे हैं। प्रभावशाली नेताओं से मतलब सरकार और संगठन दोनों से माना जा रहा है। सरकार की छीछालेदर कराने वाले मंत्रियों पर भी टिप्पणी की गई।
सरकार और संगठन में होने वाले फेरबदल को देखते हुए संघ की ओर से इशारा किया गया कि जो लोग बेहतर काम कर रहे हैं उन्हें आगे बढऩे का मौका दिया जाए तथा जो कसौटी पर खरे नहीं उतर रहे हैं उन्हें मौजूदा पद से हटाकर कहीं और एडजस्ट किया जाए। संघ की ओर से ऐसा कहा जाने से सरकार और भाजपा में खलबली मची हुई है। इससे जहां सरकार में कुछ मंत्रियों के हटाये जाने और संगठन में कुछ पदाधिकारियों में फेरबदल की संभावनाएं और बढ़ गई हैं। बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश, प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल भी मौजूद रहे।

डिग्री बांटने वाले संस्थान से आगे बढ़े विश्वविद्यालय: योगी

बीबीएयू में पंडित दीनदयाल स्मृति उपवन और बायोटेक्नालॉजी ब्लॉक का सीएम ने किया उद्घाटन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी में आयोजित प्रथम उत्तर भारतीय विज्ञान कांग्रेस एन आई एस सी 2018 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि डॉ. भीमराव अंबेडकर का शिक्षा के क्षेत्र में बड़ा योगदान रहा है। देश के विकास को बाबा साहेब ने दिशा दी। उन्होंने कहा कि हमारे विश्वविद्यालय डिग्री बांटने के साधन बन कर रह जाते हैं। विश्वविद्यालयों को इससे आगे जाना होगा।
सीएम योगी ने पंडित दीनदयाल स्मृति उपवन और बायोटेक्नोलॉजी ब्लॉक का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में मौजूद लैब का ठीक से इस्तेमाल होना चाहिए। इससे सरकार को भी काम में मदद मिलेगी। सीएम ने कहा कि सरकार और विश्वविद्यालय इस काम में रूचि नहीं ले रहे हैं। इससे विश्वविद्यालयों को आर्थिक लाभ मिलेगा साथ ही सरकारी योजनाओं में पडऩे वाले डाके को डिजिटल इंडिया से रोक सकते हैं। ऐसा करने से सिस्टम पारदर्शी बनेगा। इस अवसर पर बीबीयू कुलपति समेत अनेक प्रोफेसर मौजूद रहे।

लंदन के होटल में ममता बनर्जी के साथ गए भारतीय पत्रकारों ने चुराए चांदी के चम्मच

पत्रकारों को भरना पड़ा 50 पौंड का जुर्माना
पत्रकारों की इस घटना से देश हुआ शर्मसार
सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई चोरी की घटना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। पिछले दिनों पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ आधिकारिक दौरे पर लंदन गए वरिष्ठ पत्रकारों पर चांदी का सामान चुराने का आरोप लगा है। कुछ पत्रकार लंदन के बड़े होटल में डिनर के दौरान चांदी का चम्मच चुरा रहे थे जो सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। इसके बाद पत्रकारों को चोरी के आरोप में 50 पौंड का जुर्माना भरना पड़ा है।
यह वाकया तब हुआ जब लंदन में मेहमानों के लिए लग्जरी होटल में डिनर का आयोजन किया गया। आउटलुक की रिपोर्ट के अनुसार होटल के सुरक्षा अधिकारी भी इस दौरान काफी दुविधा में थे जब उन्होंने लाइव सीसीटीवी कैमरे में वीवीआईपी मेहमानों के साथ मौजूद पत्रकारों को ऐसा करते देखा। इसमें कुछ पत्रकार चांदी की चम्मच चुराकर पर्स और बैग में डाल रहे थे। चौंकाने वाली बात यह है कि बाद में इनकी पहचान वरिष्ठï पत्रकारों और संपादकों के रूप में की गई है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पिछले दिनों लंदन के दौरे पर गईं थीं। उनके साथ मीडिया से कुछ चुनिंदा पत्रकार भी गए थे जिन्हें खास इस दौरे के लिए भेजा गया था। लंदन के जिस बड़े होटल में बनर्जी के लिए डिनर का आयोजन किया गया था वहां पत्रकार भी शामिल हुए। आउटलुक के अनुसार वरिष्ठï पत्रकार वहां चांदी के चम्मच चुरा रहे थे। इसकी शुरुआत एक नामी बंगाली मीडिया हाउस के वरिष्ठ पत्रकार ने की। उसने चुपके से अपने बैग में चांदी की चम्मच डाल ली। पत्रकारों को इस बात का ध्यान नहीं रहा कि होटल में सीसीटीवी कैमरा लगा है। वरिष्ठ पत्रकार को चोरी करता देख वहां मौजूद बाकी पत्रकारों ने भी चांदी के चम्मच-छूरी को अपने बैग और पॉकेट्स में डाल लिए। सीसीटीवी के जरिये उनकी ये हरकतें देख रहे सुरक्षा अधिकारियों को समझ नहीं आया कि क्या किया जाए। एक बड़ी राजनीतिक हस्ती के लिए डिनर चल रहा था। अगर बात तभी बताई जाती तो ये उनका अपमान होता।
रिपोर्ट के अनुसार होटल के सुरक्षा दस्ते ने जब पत्रकारों को चोरी करते हुए देखा तो उन्होंने बताया कि वह जो कुछ कर रहे हैं वह कैमरे में नजर आ रहा है। उन्हें होटल में चोरी करते हुए देखा जा रहा है।
इस दौरान सीएम के साथ गए एक शख्स ने दावा किया कि उन्होंने चोरी नहीं की। सुरक्षा अधिकारी चाहे तो उनकी तलाशी ले सकते हैं लेकिन सीसीटीवी फुटेज में सारी सच्चाई सामने आ गई। चोरों की लिस्ट में वो भी शामिल थे। उस शख्स ने चांदी का सामान चुराकर अपने बैग में रखा था। बाद में होटल के सुरक्षा दस्ते ने सहयोग न करने पर पूरे मामलों को सार्वजनिक करने की धमकी भी दी। इस पर आरोपी ने चोरी की बात को स्वीकारा। इसके बाद उन्हें 50 पौंड का जुर्माना भरना पड़ा। एक बंगाली पत्रकार के अनुसार विदेश दौरे पर गए कुछ लोगों की चम्मच चुराने की आदत होती है।

Pin It