आरटीओ व एआरटीओ कार्यालयों को दलालों से मुक्त कराएं : परिवहन मंत्री

कामकाज में पारदर्शिता लाने के दिए निर्देश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वतंत्र देव सिंह ने मासिक लक्ष्य के सापेक्ष शत-प्रतिशत राजस्व प्राप्त न करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कड़ा रुख अख्तियार किया है। उन्होंने 27 जनपदों के सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी, छह सम्भागों के सम्भागीय परिवहन अधिकारी तथा दो परिक्षेत्रों के उप परिवहन आयुक्त और दो जिलों के एआरटीओ से कार्य में लापरवाही बरतने के मामले में स्पष्टीकरण मांगा है। साथ ही प्रदेश के सभी आरटीओ व एआरटीओ कार्यालयों को दलालों से पूर्णत: मुक्त रखने के निर्देश दिए हैं।
परिवहन मंत्री बुधवार को विधान भवन स्थित सभाकक्ष में विभाग की मासिक प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने राजस्व प्राप्ति में फिसड्डी जिलों को निशाने पर लिया। लापरवाह अधिकारियों को फटकार लगाई और स्पष्टीकरण मांगा। साथ ही सडक़ दुर्घटनाओं में हो रही मौतों को रोकने के लिए सडक़ सुरक्षा उपायों एवं जन-जागरुकता पर विशेष कार्य करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि आरटीओ व एआरटीओ कार्यालयों में दलालों के प्रवेश पर रोक लगाई जाए। यदि यहां दलाल मिले तो संबंधित अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। बैठक में प्रमुख सचिव परिवहन आराधना शुक्ला, परिवहन आयुक्त पी. गुरु प्रसाद, विशेष सचिव मो. अखलाक खां, राज्य परिवहन अपीलीय अधिकारी डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, अपर परिवहन आयुक्त गंगाफल, वीके सिंह सिंह, एके पांडेय व सभी उप परिवहन आयुक्त उपस्थित थे।

Pin It