अवैध खनन को लेकर दो डीएम के निलंबन ने फीका किया आईएएस वीक, सीएम ने कहा हर हालत में रोकें डीएम अवैध खनन

हाईकोर्ट ने कानपुर देहात और गोरखपुर के डीएम को अवैध खनन के मामले में तत्काल निलंबित करने के दिए आदेश
सीएम ने सूबे के सभी अफसरों के सामने जताई नाराजगी और कहा मुझे अभी भी कई जिलों से आ रही है अवैध खनन की सूचना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। आईएएस अफसरों के वीक की शुरुआत आज कुछ अच्छी नहीं रही। पहले तो दो जिलों के डीएम के निलंबन की खबर ने नौकरशाही में हडक़ंप मचाया और फिर दो घंटे देरी से आए सीएम योगी ने भी अवैध खनन को लेकर अफसरों के पेंच कसे और कहा कि मुझे अभी भी कई जिलों से अवैध खनन की सूचना, आ रही है, जिसके बाद मुझे जिलों में फोन करना पड़ता है, यह स्थिति ठीक नहीं है।
इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दिलीप बी भोसले और न्यायाधीश एम के गुप्ता की बेंच ने डीएम कानपुर देहात राकेश कुमार और डीएम गोरखपुर राजीव रौतेला को तत्काल निलंबित करके उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मामले की अगली सुनवाई 16 जनवरी को होगी, जिसमें मुख्य सचिव से हलफनामा मांगा गया है। यह रामपुर में अवैध खनन का मामला है, तब यह दोनों अफसर रामपुर में तैनात थे।
आज आईएएस वीक में इस बात की चर्चा सभी करते दिखे कि यह कुछ ज्यादा कड़ा फैसला हो गया है। सीएम योगी को सुबह दस बजे आईएएस वीक में अपना संबोधन करना था, मगर आज शुरू हो रही विधानसभा के कारण वह दो घंटे बाद दोपहर बारह बजे पहुंचे और अफसरों से कहा कि वह अपना व्यवहार सुधारें और जनप्रतिनिधियों से अच्छे तरीके से मिलें। सीएम अवैध खनन की शिकायतों पर खासे नाराज दिखे और कहा कि अवैध खनन की शिकायतों के बाद उन्हें जिलों में फोन करना पड़ता है।
सीएम ने कहा कि अगले माह से हेल्पलाइन शुरू हो जायेगी। अफसरों को चाहिए कि वह जनता के काम तेजी से करें, जिससे किसी को हेल्पलाइन पर फोन करने की जरूरत ही न पड़े। उन्होंने अफसरों से कहा कि आप खूब काम कीजिए, जिससे प्रदेश में खूब विकास हो। आईएएस वीक में सूबे भर के आईएएस अफसर कल रात से ही लखनऊ पहुंचना शुरू हो गए थे। सीएम योगी की सूबे के सभी आईएएस अफसरों के साथ सामूहिक रूप से यह पहली मुलाकात है।

हंगामे के कारण दोनों सदन कल तक के लिए स्थगित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ । उत्तर प्रदेश विधानमंडल के आज से शुरू हुए शीतकालीन सत्र के पहले दिन का पहला सत्र हंगामे की भेंट चढ़ गया। दोनों सदनों में विपक्षी दलों ने जोरदार हंगामा किया। हंगामे के चलते दोनों सदनों की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई। विधानसभा व विधान परिषद में बिजली, कानून-व्यवस्था सहित अन्य मुद्दों को लेकर विपक्षी दलों ने सरकार पर जमकर निशाना साधा। सपा विधायकों ने वेल में आकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और धरने पर बैठ गए जिसके बाद सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई।
विधानसभा और विधान परिषद की शुरूआत हंगामे के साथ हुई। विपक्षी दलों के सदस्य हाथों में तख्ती, होर्डिंग और पोस्टर लेकर सदन में पहुंचे थे। विधायकों द्वारा नारेबाजी करने पर विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कई बार रोका फिर भी वह शांत नहीं हुए। इतना ही नहीं सपा विधायकों ने वेल में आकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और धरने पर बैठ गए। संबंधित खबर पेज 8 पर…

यह कैसा दोहरा आचरण

मंचों से योगी को गाली देने वाले आजम खां आज सदन में उन्हीं योगी का हाथ पकड़े आए नजर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यह जौहर विश्वविद्यालय की जांच का असर था या फिर आजम खां का हृदय परिवर्तन यह तो वहीं जानें, मगर आज आजम खां और योगी की गलबहियां पूरे विधानसभा में चर्चा का विषय बन गई। विधानसभा शुरू होने से पहले ही आजम खां योगी से बेहद आत्मीय तरीके से न सिर्फ मिले बल्कि उनका हाथ थामकर काफी देर तक साथ रहे। आजम खां लगातार सीएम योगी पर हमलावर रहे हैं और कई बार सार्वजनिक मंचों से वह योगी को बुरा-भला कह चुके हैं। जिन सीएम की वे इतनी आलोचना करते रहे हैं आज उन्हीं योगी पर उनका प्यार लुटाना किसी की समझ नहीं आया। हालांकि सीएम योगी भी उनको लेकर मुस्कराते रहे, मगर इस जोड़ी की बातें आज लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी रही।

Pin It