दिल की बीमारी में लाभकारी है योग: प्रो. सुनीता तिवारी

केजीएमयू के फिजियोलॉजी विभाग में कार्यशाला आयोजित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। केजीएमयू के फिजियोलॉजी विभाग में एसोपिकॉन 2017 कार्यशाला का आयोजन किया गया। फिजियोलॉजी विभाग की प्रमुख प्रो.सुनीता तिवारी ने बताया कि योग से हृदय से संबंधित 80 प्रतिशत बीमारियों को दूर कर सकते हैं, लेकिन योग सिर्फ प्रशिक्षित योग प्रशिक्षक और चिकित्सक की देखरेख में ही करना चाहिए। बिना योग शिक्षक के ये क्रियाएं नुकसानदेह साबित हो सकती हंै।
प्रो.सुनीता ने बताया कि बीमारियों को देखते हुए ही योग करना चाहिए। इसे होलिस्टिक एप्रोच कहते हैं। योग के साथ-साथ मरीज की डाइट, उसका न्यूट्रीशन आदि का भी ख्याल रखना चाहिए। पटेल चेस्ट इंस्टीट्यूट के विभागाध्यक्ष प्रो.मोहम्मद फहीम ने बताया कि हमारे देश में कई ऐसी दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है जो कि विदेशों में प्रतिबंधित है। हार्ट की महंगी से महंगी दवाओं में भी कई ऐसे विषैले तत्व मौजूद होते हैं जो कि आगे चलकर नुकसान पहुंचाते हैं।
डॉ. ज्योति द्विवेदी ने बताया कि प्री मीनोपॉज पीरयड में काफी दिक्कतें होती हैं। इसे दूर करने के लिए मार्डन साइंस में कोई दवा नहीं बनी है। योग निद्रा से इस पर नियंत्रण किया जा सकता है। कार्यक्रम में ब्रिगेडियर टी प्रभाकर ने क्लीनिकल एप्लिकेशन ऑफ हाइ एटीट्यूट पर व्याख्यान दिया।

Pin It