गुजरात चुनाव: ओपिनियन पोल में भाजपा-कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर

सर्वे में तीन महीनों से लगातार घट रही बीजेपी की सीट
सर्वे में करीब 43 प्रतिशत वोटर्स का समर्थन मिलने से कांग्रेसी उत्साहित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। गुजरात की चुनावी लड़ाई जीतने के लिए बीजेपी और कांग्रेस ने पूरी कमर कस ली है। इस साल की आखिरी और सबसे बड़ी सियासी जंग का विजेता कौन होगा, इसके लिए 18 दिसंबर तक इंतजार करना पड़ेगा। लेकिन ओपिनियन पोल जनता का मिजाज बताते हैं और इसी कड़ी में एबीपी न्यूज ने बीते तीन महीनों में तीन ओपिनियन पोल किए हैं, जिसके आंकड़े बीजेपी की नींद उड़ाने वाले हैं।
सूबे की सत्ताधारी पार्टी बीजेपी को तीनों ओपिनियन पोल में बहुमत मिलने का अनुमान है, लेकिन बीजेपी के लिए परेशान करने वाली बात ये है कि चुनाव के दिन नजदीक आने के साथ ही हर नए ओपिनियन पोल में बीजेपी की सीटें लगातार कम होने का आंकड़ा सामने आया है। पहला ओपिनियन पोल अक्टूबर में आया, जिसमें बीजेपी को 115 से 125 सीटों का अनुमान था, यानि औसत 120 सीटें मिल रही थीं। जबकि कांग्रेस महज 57 से 65 सीटों पर सिमट रही थी। उसे औसत 61 सीटें मिल रही थीं। वहीं नवंबर के ओपिनियन पोल में बीजेपी की सीटें घट गईं। इस सर्वे में बीजेपी को 113 से 121 सीटें मिल रही थीं यानि औसत 117 सीटें मिल रही थीं। जबकि कांग्रेस को 58 से 64 सीटें मिल रही थीं यानि औसत 61 ही रहने का अनुमान था। वहीं ताजा ओपिनियन पोल के आंकड़े बीजेपी की नींद खराब करने वाले हैं। सीएसडीएस के इस नए ओपिनियन पोल के मुताबिक बीजेपी को 91 से 99 सीटें यानि औसत 95 सीटें और कांग्रेस को 78 से 86 सीटें यानि औसत 82 सीटें आ रही हैं। इसका मतलब हुआ कि बीजेपी को दोनों ओपिनियन पोल में 20 से ज्यादा सीटों का नुकसान हो रहा है, जबकि कांग्रेस को 20 से ज्यादा सीटों का फायदा होता दिख रहा है। हालांकि ताजा ओपिनियन पोल में बीजेपी 95 सीटें के साथ बहुमत का जादुई आंकड़ा हासिल कर रही है।
बीजेपी के लिए खतरा क्यों है?
दरअसल, वोट शेयर के मोर्चे पर बीजेपी के लिए बड़ा खतरा है। अक्टूबर के ओपिनियन पोल में बीजेपी और कांग्रेस के बीच वोट शेयर का फासला 9 फीसदी का था, तब बीजेपी को 48 फीसदी और कांग्रेस को 39 फीसदी वोट मिलने का अनुमान था। लेकिन नबंर के ओपिनियन पोल में ये फासला घटकर 6 फीसदी हो गया और तब बीजेपी को 47 और कांग्रेस को 41 फीसदी वोट मिलने का अनुमान था। जबकि ताजा ओपिनियन पोल में वोट शेयर का फासला शून्य पर पहुंच गया है। यानि अब बीजेपी और कांग्रेस दोनों को 43-43 फीसदी वोट मिल रहे हैं।

सीएम योगी का गुजरात दौरा रद्द
गुजरात में चुनाव प्रचार अपने चरम पर है, पहले चरण की वोटिंग को अब चंद ही दिन बचे हैं। लेकिन इसी बीच चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ ने चुनाव प्रचार में बाधा डाल दी है। इस तूफान की वजह से सीएम योगी का गुजरात दौरा रद्द हो गया है। वहीं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की आज राजुला, माहुवा और शिहोर में होने वाली रैलियों को भी रद्द कर दिया गया है। वहीं बसुंधरा राजे की माजूरा और सूरत में होने वाली रैलियों को भी रद्द कर दिया गया है। गौरतलब है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी आज गुजरात में ही रहेंगे, वह पूरे दिन कई सभाओं को संबोधित करेंगे। इसके अलावा सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी तीन दिवसीय गुजरात दौरे पर हैं। अखिलेश सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे पांच प्रत्याशियों के पक्ष में चुनाव प्रचार कर रहे हैं।

अयोध्या में हाई अलर्ट, सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। फैजाबाद जिले में अयोध्या स्थित विवादित राम जन्म भूमि को लेकर आज दोपहर बाद से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू होगी। इसलिए प्रशासन ने सतर्कता के मद्देनजर हाई अलर्ट जारी कर दिया है। शहर में चप्पे-चप्पे पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। इतना ही नहीं अयोध्या के विभिन्न होटलों, धर्मशालाओं और लॉज की भी सघन तलाशी ली जा रही है।
राम मंदिर मुद्दा अत्यंत संवेदनशील है। जिस पर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से आज से ही नियमित सुनवाई की जानी है। इस सुनवाई में कई अहम बातें रखी जाएंगी जिसमें महीनों से चल रहे आपसी सुलह समझौते व शिया बोर्ड के द्वारा दिए गए हलफनामा पर भी बातें होनी है। इसी बीच मुस्लिम पक्षकार में मुद्दई बने इकबाल अंसारी ने कहा कि आज से शुरू हो रहे सुनवाई को लेकर हम लोग पूरी उम्मीद लगाये हुए हंै कि फैसला हमारे पक्ष में होगा क्योकि यह विवाद 70 साल से चल रहा है। उन्होंने बताया कि इतिहास में कोई रिकॉर्ड नहीं है कि मंदिर तोड़ कर मस्जिद बनाई गई है। वहीं इलाहाबाद में साधु-संतो ने रामलला के पक्ष में फैसला आए इसके लिए पूजा पाठ शुरु कर दिया है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी की अगुवाई में संगम किनारे हवन किया जा रहा है।

अव्यवस्था व गंदगी देख भडक़े अपर नगर आयुक्त

औचक निरीक्षण में अनुपस्थित मिले कई कर्मचारी, मांगा गया स्पष्टीकरण
सफाई व्यवस्था को लेकर जाहिर की नाराजगी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नगर निगम मे ध्वस्त सफाई व्यवस्था और कर्मचारियों की लचर कार्यप्रणाली के संबंध में मिल रही शिकायतों के आधार पर आज अपर नगर आयुक्त मनोज कुमार ने कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने परिसर की सफाई व्यवस्था पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने संबंधित अफसरों को जल्द ही परिसर की व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए। वहीं 11: 30 बजे हुए औचक निरीक्षण के दौरान लगभग दो दर्जन कर्मचारी कार्यालय में अनुपस्थित मिले। इस मामले को गंभीरता से लेकर समय पर कार्यालय नहीं पहुंचने वाले सभी कर्मचारियों से स्पष्टीकरण मांगा गया है।
अपर नगर आयुक्त ने निरीक्षण के दौरान कार्यालय में कर्मचारियों की स्थिति और सफाई व्यवस्था का जायजा लेने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग से जारी होने वाले जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र के संबंध में भी जानकारी ली। उन्होंने लेखा विभाग में दोहरी लेखा प्रणाली लागू करने के निर्देश दिए। साथ ही मुख्य एवं वित्त लेखाधिकारी निजलिंगप्पा से दोहरी लेखा प्रणाली लागू न होने के संबंध में जानकारी मांगी। यही नहीं इस कार्य में हीलाहवाली करने वालों से स्पष्टीकरण भी मांगा गया है।

विभागीय अफसरों को भी नहीं पहचानते मुख्य लेखा परीक्षक
निरीक्षण के दौरान अपर नगर आयुक्त मुख्य लेखा परीक्षक राम प्रसाद के कक्ष में पहुंचे तब भी वह अपनी सीट पर बैठ रहे। जब अपर नगर आयुक्त ने उनसे पूछताछ की तो राम प्रसाद ने कहा कि बैठ कर बात करिए। यहां तक की अन्य कर्मचारियों ने राम प्रसाद को निरीक्षण के बारे में बताया तब भी उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। इस पर अपर नगर आयुक्त ने उनको जमकर खरी-खोटी सुनायी।

निरीक्षण का अधिकार नहीं
इस संबंध में मुख्य नगर लेखा परीक्षक ने बताया कि अपर नगर आयुक्त मेरे विभाग का निरीक्षण नहीं कर कर सकते क्योंकि उनको उत्तर प्रदेश नगर निगम अधिनियम की धारा 118 एवं 107 व 108 के स्वयं अधिकार प्राप्त है।]

विश्व मृदा दिवस

प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही और कृषि आयात व विपणन मंत्री स्वाति सिंह ने ‘विश्व मृदा’ दिवस पर कालिदास मार्ग स्थित आवास से किसान सेवा रथों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान कृषि और विपणन विभाग के अधिकारीगण भी उपस्थित रहे।

प्रदर्शनी

ललित कला अकादमी में चंदा नाथ के चित्रों की प्रदर्शनी लगाई गई है। प्रदर्शनी का उद्घाटन रंगमंच से जुड़े सुप्रसिद्घ कला मर्मज्ञ सूर्यमोहन कुलश्रेष्ठ ने किया। इस दौरान प्रदर्शनी में मौजूद लोगों ने चंदा नाथ के चित्रों की सराहना की और विजिटर्स बुक में अपने विचार भी लिखे।

Pin It