अब पूर्वांचल के माफिया गुटों पर टिकीं एसटीएफ की नजरें

घटना के चार दिन बाद भी नहीं मिला कोई सुराग
राजधानी पुलिस सक्रिय कई बिंदुओं पर कर रही है जांच

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोमतीनगर थाना क्षेत्र में हुयी मुन्ना बजरंगी के करीबी ठेकेदार की हत्या का खुलासा करने के लिये अब एसटीएफ ने भी जांच में तेजी ला दी है। तारिक हत्याकांड में एसटीएफ की टीम ने पूर्वांचल के माफिया गुटों पर अपनी नजरें टिका दी हैं। इसके अलावा राजधानी में तारिक की रंजिश किस-किस से थी, इसकी जानकारी के लिये भी पुलिस सक्रिय है।
गोमतीनगर विस्तार के कावेरी अपार्टमेंट में रहने वाले तारिक की बदमाशों ने उस समय फिल्मी स्टाइल में गोली मारकर हत्या कर दी थी, जब वह अपनी कार से कहीं जा रहे थे। ग्वारी पुल पर बदमाशों ने उनको गोलियों से भून दिया। पुलिस की जांच में यह खुलासा हुआ था कि मृतक तारिक माफिया डान मुन्ना बजरंगी का करीबी था। इस बात से पुलिस ने अपनी जांच उसी ओर मोडक़र मुन्ना बजरंगी के दुश्मनों की ओर कर दी। इस घटना को घटे चार दिन हो चुके हैं मगर पुलिस को अभी तक किसी भी प्रकार की कामयाबी हासिल नहीं हुयी है। अब इस मामले की जांच में पुलिस के साथ-साथ एसटीएफ को भी लगा दिया गया है। इस संबंध में एसपी उत्तरी अनुराग वत्स का कहना है कि तारिक हत्याकाण्ड की जांच अब पुलिस के साथ एसटीएफ भी करेगी क्योंकि एसटीएफ के पास ऐसे हार्डकोर अपराधियों के ज्यादा तथ्य होते हैं और इसी को ध्यान में रखते हुये एसटीएफ की कई टीमों ने पूर्वांचल में अपना जाल फैला दिया है। पुलिस के अनुसार राजधानी में तारिक की किससे दुश्मनी थी और कौन-कौन उससे रंजिश रखता था, इन बिन्दुओं पर भी जांच की जा रही है। पुलिस ने कई जगह से कई संदिग्धों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की है मगर अभी नतीजा शून्य ही रहा है।

Pin It