जनता को धोखा दे रही भाजपा एकजुट हों विरोधी दल: अखिलेश

सपा अध्यक्ष ने बिजली दरें बढ़ाए जाने को बताया राजनीतिक बेईमानी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि नगर निकाय चुनावों के मतदान खत्म होने के ठीक अगले दिन ही विद्युत दरों में वृद्धि भाजपा सरकार की राजनैतिक बेईमानी है। विशेषतौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत दरों में की गई बेतहाशा वृद्धि किसानों की रीढ़ तोडऩे वाला निर्णय है। इसलिए विद्युत दरों में की गई वृद्धि तत्काल वापस ली जाए। वहीं उन्होंने भाजपा को हराने के लिए विपक्षी दलों से एकजुट होने की अपील की है।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का चरित्र हमेशा से दोहरा रहा है। इनकी कथनी और करनी में भारी विरोधाभास है। हालिया निकाय चुनाव में मतदान के पूर्व बिजली-पानी सडक़ जैसी बुनियादी सुविधाओं के नाम पर वोट मांगने वाली भाजपा ने मतदान के तत्काल बाद वादाखिलाफी करके जनता को धोखा दिया है। भाजपा सरकार को बिजली विभाग को घाटे से उबारने के लिए विभागीय भ्रष्टाचार विद्युत चोरी, लाइन हानि कम करने आदि का विकल्प ढूंढऩा चाहिये न कि गरीबों और किसानों को आर्थिक रूप से बर्बाद करने और उनकी कमर तोडऩे का काम करना चाहिए। अखिलेश ने कहा कि ईवीएम नफरत फैलाने का काम करती है, क्योंकि उससे यह पता चल जाता है कि किस बूथ पर किसे कितना वोट मिला। उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा झूठ बोलने वाली पार्टी है और जनता को धोखा दे रही है। गुजरात में हालात भाजपा के पक्ष में नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री ने अपील करते हुए कहा कि यदि भाजपा विरोधी दल एक हो जाएं और भाजपा के विरोध में काम करें तो उसे आसानी से हराया जा सकता है।

मनाया गया जन्मदिन

अखिलेश यादव ने नोटबंदी के दौरान पिछले वर्ष बैंक की लाइन में जन्मे खजांची को सैफई बुलाकर उसका जन्मदिन मनाया। उन्होंने रविवार देर शाम सैफई हवाई पट्टी पर एटा से लौट कर लखनऊ जाते समय खजांची और उसके परिवार के लोगों से मुलाकात की। पूर्व मुख्यमंत्री ने खजांची को शुभकामनाएं देकर चाकलेट, किताबें और पांच हजार रुपये गिफ्ट में दिए। वादा किया कि जल्द ही उसके गांव जाकर केक काटेंगे। अखिलेश ने खजांची के परिवारीजन की हर संभव मदद करने का भरोसा दिया है।

Pin It