बिजली दरों में बढ़ोत्तरी को लेकर विपक्षी दलों ने सरकार पर बोला हमला

कहा, मनमाने फैसलों से सूबे की जनता को दंडित करने में जुटी भाजपा सरकार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। निकाय चुनाव के ठीक दूसरे दिन बिजली दरों में हुई बढ़ोत्तरी को लेकर विपक्षी दलों ने योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। कांग्रेस, सपा और आप समेत सभी दलों का कहना है कि जनता को लूटना ही भाजपा का पेशा बन गया है। उन्हें प्रदेश की गरीब जनता की स्थिति से कोई मतलब ही नहीं है।
बिजली दरों में बढ़ोत्तरी को लेकर सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि यूपी में भाजपा सरकार अपने फैसलों से जनता को दंडित करने का काम कर रही है। महंगाई उसके रोके नहीं रुक रही है। प्रदेश की कानून व्यवस्था और अर्थव्यवस्था सब चौपट है। आम जरूरत की बिजली भी 150 फीसदी तक महंगी की जा रही है। समाजवादी सरकार ने कभी औसत 8 प्रतिशत से ऊपर दर नहीं बढ़ाई थी। लेकिन आज की घोषणा से भाजपा का जनविरोधी और संवेदनशून्य चेहरा उजागर हो गया है। यह भी कहा कि भले ही राज्य नियामक आयोग बिजली उपभोक्ताओं के लिए बिल से जुड़ा नया टैरिफ जारी कर रहा है लेकिन इसके पीछे वस्तुत: भाजपा सरकार की वह सोच है जो जनता का भला नहीं सोचती है। वह जनहित में कोई काम नहीं करना चाहती है। इस नये फैसले से ग्रामीण इलाकों में अब फिक्स चार्ज 400 रुपए होगा जबकि अभी 180 रूपए देने होते हैं। शहरी उपभोक्ताओं के लिए बिजली दरों में 20 फीसदी तक बढ़ोत्तरी होगी। इससे लोगों का घरेलू बजट बुरी तरह प्रभावित होगा।
प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अमरनाथ अग्रवाल ने कहा कि बिजली के मूल्यों में की गयी बेतहाशा वृद्धि बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। यह महंगाई से त्रस्त जनता पर एक और आर्थिक बोझ डाला गया है। प्रदेश सरकार की बिजली की कीमतों में वृद्धि गांवों, किसानों, मजदूरों की विरोधी साबित हुई है, इससे कमजोर एवं मध्यम वर्ग की कमर टूटेगी। यूपी कांग्रेस कमेटी सरकार के बिजली मूल्य वृद्धि का हर स्तर पर विरोध करती है तथा बढ़े हुए मूल्य को तत्काल वापस लेने की मांग करती है। उन्होंने कहा कि केन्द्र एवं प्रदेश के बिजली मंत्री जिस प्रकार सस्ती बिजली खरीदने और सबको सस्ती बिजली उपलब्ध कराने का वादा कर रहे थे। सूबे के लिए मंहगी बिजली खरीदने की जांच कराने की बात कर रहे थे लेकिन जांच करना तो दूर रहा बिजली के दामों में बेतहाशा वृद्धि कर दी गयी। यह मध्यम एवं निम्न वर्ग के लोगों पर आर्थिक रूप से करारा प्रहार है। ऐसा प्रतीत होता है कि विकास का नारा देने वाली भारतीय जनता पार्टी देश को लालटेन युग में ले जाने के लिए अग्रसर है। वहीं आम आदमी पार्टी ने भी बिजली की बढ़ी दरों को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने कहा कि जनता को दंड देना ही सरकार का पेशा बन गया है। बिजली की दरों को बढ़ाकर सरकार ने जनता के साथ जो अन्याय किया है इसके लिए जनता उन्हें कभी भी माफ नहीं करेगी।

 

Pin It