बिजली की कीमतें बढ़ीं तो महामंच करेगा विरोध

लखनऊ। जवाहर-इंदिरा भवन कर्मचारी महासंघ और लखनऊ जनकल्याण महामंच ने कहा कि यदि बिजली की दरों में बढ़ोतरी हुई तो वे इसका विरोध करेंगे। महासंघ कार्यालय में आयोजित बैठक की अध्यक्षता महामंच के अध्यक्ष पीताम्बर भट्ट ने की। इस दौरान पदाधिकारियों से प्रशासन को सुझाव दिया कि बिजली की दरों को बढ़ाने की बजाय सख्ती से बकायदारों से बिजली का शुल्क वसूला जाए। बिजली की चोरी पर अंकुश लगाया जाए। महासंघ के महामंत्री सुशील कुमार बच्चा ने लखनऊ जनकल्याण महामंच की बैठक में मौजूद रहे।

एलयू की सेमेस्टर परीक्षा के लिए केंद्रों का ऐलान

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय और उससे सम्बद्ध कॉलेजों में अगले माह होने वाली सेमेस्टर परीक्षाओं के लिए 13 परीक्षा केंद्रों का ऐलान कर दिया गया है। एमए और एमकॉम की परीक्षा के लिए सात और एलएलबी थर्ड ईयर और एलएलबी ऑनर्स के लिए 6 सेंटर बनाए गए हैं। परीक्षा नियंत्रक प्रो. एके शर्मा ने बताया कि कला और वाणिज्य संकाय की परीक्षा के लिए जो सेंटर बनाए गए हैं, उनमें एलयू न्यू कैंपस, बीएसएनवी पीजी कॉलेज, अमीरुद्दौला डिग्री कॉलेज, विद्यांत हिंदू पीजी कॉलेज, गुरुनानक गल्र्स डिग्री कॉलेज, मुमताज पीजी कॉलेज और नेताजी सुभाष चंद्र बोस कॉलेज शामिल हैं।

यंग चैलेन्जर ने जीता मैच

लखनऊ। नंद रानी नाग मेमोरियल अंडर-16 क्रिकेट टूर्नामेंट के लीग मैच में यंग चैलेन्जर ने ध्रुव रेड को 10 विकेट से हरा दिया। बुधवार को आरबीटी स्टेडियम पर खेले गए 36 ओवर के मैच में ध्रुव रेड ने सभी विकेट खोकर 68 रन बनाए। यंग चैलेन्जर से शिवम यादव ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए। जवाब में यंग चैलेन्जर ने लक्ष्य को 12 ओवर में बिना विकेट खोए हासिल कर लिया। अनूप यादव ने सबसे अधिक 35 रन बनाए।

दो घंटे तक ट्रॉमा सेंटर में तड़पता रहा मरीज

लखनऊ। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के ट्रॉमा सेंटर में बुधवार सुबह कटा हाथ लेकर पहुंचे युवक को इमरजेंसी में भर्ती होने के लिए लगभग दो घंटे इंतजार करना पड़ा। जब डाक्टरों ने इलाज नहीं किया तो तीमारदारों ने हंगामा किया। हंगामा के बाद अधिकारियों ने मरीज को प्लास्टिक सर्जरी विभाग रेफर कर दिया। त्रिवेणी नगर निवासी अंकुश का पंखे से हाथ कट गया था। परिजन तत्काल उसे पास के निजी अस्पताल ले गए। वहां पर डॉक्टरों ने कटा हाथ देखकर तत्काल केजीएमयू ले जाने का परामर्श दिया। जब वे ट्रामा सेंटर पहुंचे तो उन्हें आर्थोपैडिक विभाग में भेज दिया गया। वहां पर वह करीब दो घंटे तक स्ट्रेचर पर कटा हाथ लेकर पड़ा रहा। परिजनों के हंगामे के बाद डा. विजय कुमार के निर्देश पर उसका इलाज किया गया।

Pin It