दो साल से रहस्य बने हुये हैं मडिय़ांव में मिले दो महिलाओं के धड़

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। खुद को हाइटेक कहने वाली राजधानी पुलिस जघन्य वारदातों के खुलासे में फिसड्डी ही साबित हो रही है। इसका प्रत्यक्ष प्रमाण मडिय़ांव थाना क्षेत्र में बीते दो वर्ष पहले मिले दो महिलाओं के कटे हुये धड़ों का आज तक पुलिस पता लगाने में नाकाम रही है। ताज्जुब यह है कि इस घटना को घटे हुये पूरे दो वर्ष हो चुके हैं। वही इस घटना के खुलासे के लिये अभी तक पांच थानेदार लगाये गये मगर नतीजा शून्य ही रहा।
4 दिसम्बर 2015 को मडिय़ांव थाना क्षेत्र में स्थित आईआईएम रोड के पास सहारा होम्स के निकट दो महिलाओं के सिर कटे शव बोरों में मिले थे। इसी दिन सीतापुर जनपद के मानपुर थाना क्षेत्र में पुलिया के पास दो महिलाओं के सिर बरामद हुये थे। सीतापुर में सिर मिलने की सूचना पर मडिय़ांव पुलिस ने तत्काल सीतापुर पुलिस से संपर्क कर सिर और धड़ का मिलान भी कराया था और इसके बाद भी पुलिस किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची थी। इस मामले के खुलासे के लिये एफएसएल को भी लगाया गया मगर नतीजा सिफर रहा।

इस घटना को घटे हुये पूरे दो वर्ष होने आये है मगर नतीजा अभी भी शून्य ही रहा।

Pin It