नहरों की सिल्ट सफाई में भारी गड़बड़ी, भुगतान पर रोक

स्थलीय सत्यापन में कहीं भी मानक के अनुरुप नहीं मिला मिट्टी का डिस्पोजल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नहरों के सिल्ट सफाई कार्यों के स्थलीय सत्यापन में भारी गड़बड़ी मिली है। गड़बडिय़ों के चलते इस कार्य में लगे ठेकेदारों का भुगतान रोक दिया गया है। स्थलीय सत्यापन चार प्रमुख अभियंताओं ने किया। इनकी रिपोर्ट मिलने के बाद शासन ने भुगतान रोकने का निर्णय लिया है।
प्रदेश के सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह के निर्देश पर प्रदेश स्तर पर सिल्ट सफाई के कार्यों का स्थलीय सत्यापन किया गया। इसके तहत चार प्रमुख अभियन्ताओं ने रामगंगा, शारदा सहायक, बेतवा परियोजना एवं शारदा सहायक संगठनों के अंतर्गत सिल्ट सफाई के कार्यो का स्थलीय सत्यापन किया। प्रमुख अभियंता एवं विभागाध्यक्ष भूपेंद्र शर्मा ने राम गंगा संगठन के कानपुर नगर एवं औरैया जनपद में नहरों पर करायी जा रही सिल्ट सफाई का निरीक्षण किया। प्रमुख अभियंता, परिकल्प एवं नियोजन अजय कुमार सिंह ने बाराबंकी प्रखंड शारदा नहर के मसौली रजबहा, कुणाल कुलश्रेष्ठ ने यमुना नहर और प्रमुख अभियन्ता यांत्रिक बालकिशुन शर्मा ने सीतापुर प्रखंड का निरीक्षण किया।

Pin It