नारकीय जीवन जीने को मजबूर गोमती नगर विस्तार की जनता, मुख्य सडक़ पर छह माह से भरा नाले का पानी

जलभराव से संक्रामक बीमारियों का बढ़ा खतरा, दुर्गंध के कारण आस-पास की दुकानों की दुकानदारी चौपट
नाला निर्माण में एलडीए के ठेकेदारों और अभियंताओं की बंदरबांट का खामियाजा भुगत रही आम जनता
लोगों ने एलडीए को भेजी दर्जनों शिकायतें फिर भी स्वच्छता अभियान को पलीता लगाने में जुटे अफसर

विनय शंकर अवस्थी
लखनऊ। लखनऊ विकास प्राधिकरण के अभियंताओं की लापवाही से गोमती नगर विस्तार में रहने वाले हजारों लोग नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। ग्वारी क्रासिंग से गोमती नगर विस्तार को जोडऩे वाली मुख्य सडक़ पर पिछले छह माह से नाले का पानी भरा हुआ है। यह समस्या नाला निर्माण का कार्य अधूरा छोड़ देने के कारण पैदा हुई है। क्षेत्र के लोगों ने एलडीए में दर्जनों बार शिकायतें कीं लेकिन अफसरों ने ध्यान नहीं दिया। लम्बे समय से जलभराव की समस्या झेल रहे लोगों में एलडीए के प्रति जबरदस्त आक्रोश है। इस समस्या को लेकर लोग सडक़ पर उतर कर प्रदर्शन करने की तैयारी कर रहे हैं।
एलडीए द्वारा विकसित गोमती नगर विस्तार शहर के पॉश इलाकों में शुमार है। फिर भी यहां के लोग मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं। जनेश्वर मिश्र पार्क से गोमती नगर विस्तार को जोडऩे वाली मुख्य सडक़ पर छह माह से नाले का पानी भरा हुआ है। मुख्य सडक़ होने के कारण यहां से रोजाना हजारों लोगों का आवागमन होता है। सडक़ पर दो-दो फीट तक भरे पानी के कारण रोजाना हजारों राहगीरों को समस्या का सामना कराना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि यह समस्या नाला निर्माण में की गई गड़बड़ी के कारण पैदा हुई है। जलभराव से हालात इतने खराब हो चुके हैं कि महिलाओं और बच्चों का सडक़ पर पैदल निकलना मुश्किल हो गया है। वहीं दुर्गन्ध के कारण स्थानीय लोगों का जीना मुहाल हो गया है। जलभराव के कारण आस-पास बनी लगभग एक दर्जन से अधिक दुकानों के दुकानदारों का बिजनेस चौपट हो गया है। इस मामले में सुलभ आवास अपार्टमेंट और आस-पास के लोगों ने एलडीए अफसरों से कई बार लिखित शिकायत की लेकिन समस्या का समाधान आज तक नहीं हुआ।
सुलभ आवास अपार्टमेंट के लोगों ने बताया कि यहां पर जल निकासी के लिए बनाई गई नालियां बंद हैं। नाले का निर्माण अधूरा है। कूड़ा डाले जाने के कारण नाला चोक हो चुका है। घरों से जल निकासी नहीं हो पा रही है। जिसके कारण सडक़ पर जल भराव हो गया है। इसके कारण क्षेत्र में मच्छरों का प्रकोप भी बढ़ता जा रहा है। कॉलोनी में संक्रामक बीमारियों के फैलने का खतरा बहुत बढ़ गया है। लोगों का कहना है कि अगर समस्या का समाधान नहीं हुआ तो वे प्रदर्शन करेंगे।

लोगों ने कहा

आशीष सिंह कटियार ने बताया कि सडक़ पर जलभराव के कारण लोगों का निकलना मुश्किल हो गया है। दुकान के ठीक सामने नाले का गंदा पानी भरा है। ग्राहकों ने दुकान पर आना बंद कर दिया है।

एमपी सिंह के मुताबिक एलडीए की ओर से नाला निर्माण में गड़बड़ी की गई है, जिसके कारण पिछले छह माह से नाले का पानी सडक़ पर बह रहा है। इससे बीमारियों के संक्रमण का खतरा बना हुआ है।

अमित कुमार ने बताया कि जलभराव के कारण पटेलपुरम में संक्रामक बीमारियां फैल रही हैं। लोग सडक़ पर पैदल नहीं निकल पा रहे है। अक्सर लोग जर्जर सडक़ पर गिर कर घायल हो जाते हैं।

अजमल खान के मुताबिक कई महीनों से लगातार जलभराव होने की वजह से चारों ओर दुर्गंध का माहौल है। जलभराव की वजह से एक दर्जन से अधिक दुकानों की दुकानदारी चौपट हो गई है।

एनएन मिश्र का कहना है कि ठेकेदार द्वारा नाला निर्माण का काम अधूरा छोड़ दिया गया। इसी कारण जलभराव हो रहा है। कई बार एलडीए के अफसरों को पत्र लिखा जा चुका है, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई।

राम सेवक का कहना है कि जलभराव के कारण सडक़ पूरी तरह से जर्जर हो चुकी है। अक्सर लोग सडक़ पर बन चुके गड्ढों के कारण गिर कर चोटिल हो रहे हैं। सबसे ज्यादा समस्या दो पहिया से चलने वालों को हो रही है।

महिलाओं ने सीखे आत्मरक्षा के गुर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। केजीएमयू में आयोजित सेल्फ डिफेंस कार्यशाला के दौरान महिलाओं ने आत्मरक्षा के गुर सीखे। प्रशिक्षकों ने उन्हें आत्मरक्षा के कई टिप्स सिखाए। ट्रामा सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष संदीप तिवारी ने कहा कि महिलाओं के साथ रोजाना हो रही छेड़छाड़ जैसी घटनाओं को कम करने के लिए आत्मरक्षा के तरीकों की जानकारी होना जरूरी है। आजकल महिलायें जागरूक हैं। उन्हें देर रात ऑफिस में काम करना और रात को बाहर जाना पड़ता है। ऐसे में अपनी सुरक्षा उन्हें खुद करनी आनी चाहिए।
उन्होंने बताया कि उत्पीडऩ से बचने के लिए महिला का तेज तर्रार और साहसी होना पहला कदम है, लेकिन कुछ ऐसे अवसर होते हैं जब निडरता काम नहीं आती। ऐसे में महिलाओं को मुकाबले की तकनीक आनी चाहिए। कार्यक्रम में लेफ्टिनेंट विशाल शर्मा ने महिलाओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए ताकि वे विषम परिस्थितियों में अपनी सुरक्षा स्वयं कर सकें।

तीसरे चरण के मतदान के लिए राजनीतिक दलों ने कसी कमर

यूपी के 26 जिलों में 29 नवंबर को होगा मतदान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में नगर निकाय चुनाव के दो चरणों की वोटिंग खत्म हो चुकी हैं। अब तीसरे चरण में प्रदेश के 26 जिलों में नगरीय निकाय चुनाव के तहत वोटिंग होनी है। पहले चरण में सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर में चुनाव हुए, जबकि दूसरे चरण में केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा सहित अन्य नेताओं के प्रभाव वाले क्षेत्रों में मतदान हो चुका है। अब तीसरे चरण के मतदान के लिए पार्टियों की चुनावी रणनीति और तेज हो गई है। जबकि इन सभी जिलों में चुनाव प्रचार का आज अंतिम दिन है।
भाजपा नेता आक्रामक अंदाज में चुनाव प्रचार में जुटे हैं, तो दूसरी ओर कांग्रेस अपने परंपरागत तरीके से प्रदेश स्तरीय नेताओं के सहारे चुनाव प्रचार अभियान को आगे बढ़ा रही है। इन सबके बीच सपा और बसपा के प्रमुख नेताओं ने खुद चुनाव प्रचार के लिए मैदान में न उतरने के बजाय पार्टी संगठन और कार्यकर्ताओं के भरोसे चुनाव का जिम्मा छोड़ दिया है। दोनों ही पार्टियों के बड़े नेता वार रूम से चुनावी रणनीति और विपक्ष के कार्यक्रमों पर नजर बनाये हुए हैं।

कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर

तीसरे चरण में उत्तर प्रदेश के 26 जनपदों के नगर निकायों में चुनाव होने हैं, जिनमें बरेली, मुरादाबाद, सहारनपुर, फिरोजाबाद और झांसी नगर निगम भी शामिल हैं। तीसरे चरण में रायबरेली में नगर निकाय के लिए मतदान होना है । इन सीटों पर केंद्रीय मंत्री उमा भारती, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित कई बड़े नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। तीसरे चरण में 29 नवंबर को होने वाले मतदान में कुल 233 निकायों, 4299 वार्डों में 3599 मतदान केंद्रों और 10817 मतदेय स्थलों पर 9405122 मतदाता प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे । इन सभी जगहों पर चुनाव प्रचार का आज अंतिम दिन है। आज शाम पांच बजे के बाद चुनाव प्रचार समाप्त हो जायेगा।

जीएसटी पर पहले किया समर्थन अब कांग्रेस मचा रही हल्ला: मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में आज से चुनावी अभियान शुरू कर दिया। पीएम मोदी ने कहा कि लोगों ने इतना कीचड़ उछाला है कि कमल खिलना आसान हो गया है। आज कीचड़ कमल की ताकत बन गया है और मैं इसके लिए विरोधियों का आभार प्रकट करता हूं। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि जीएसटी की बैठक में कांग्रेस के नेता 100 फीसदी समर्थन में थे लेकिन बाहर आकर हल्ला मचाया। हमारी सरकार ने बिना किसी अंहकार के जीएसटी में बदलाव किए। दिल्ली में बैठी हमारी सरकार सिर्फ जनता के हित में काम कर रही है। मोदी ने कहा कि कोई अधिकारी गुजरात में पोस्टिंग नहीं करना चाहता क्योंकि यहां पानी का रंग काला है। कांग्रेस नहीं चाहती की नर्मदा का पानी कच्छ एरिया में आए। क्या होता अगर नर्मदा का पानी 30 साल पहले कच्छ पहुंच गया होता? उन्होंने कहा, कांग्रेस को जनता माफ नहीं करेगी। एक ओर विकास का विश्वास है तो दूसरी ओर वंशवाद है। किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि कच्छ में कभी खेती भी होगी। बीजेपी ने कच्छ में पानी पहुंचाकर उसे खुशहाल बनाया। ये जिला मेरे दिल के करीब है। 2001 के भूकंप के बाद दुनिया ने उनकी भावना को देखा है कि कैसे वहां रिकॉर्ड प्रगति हुई है, जिसने समाज के सभी वर्गों को फायदा पहुंचाया है।

बस ट्रक में भिडंत, एक की मौत, पांच घायल

लखनऊ। बाराबंकी में आज सुबह एक बस ने ट्रक में टक्कर मार दी। इस हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि पांच लोग गंभीर रुप से घायल हो गये। प्राप्त जानकारी के मुताबिक गोरखपुर से लखनऊ आ रही यात्रियों से भरी बस ने आज सडक़ के किनारे खड़े ट्रक में टक्कर मार दी। जिसके कारण एक यात्री की मौत हो गई। जबकि पांच लोग घायल हो गये हैं। पुलिस ने सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराकर मामले की पड़ताल शुरू कर दी है।

दिसंबर से फरवरी तक रद्द रहेंगी 24 ट्रेनें

गोरखपुर। रेलवे प्रशासन ने कोहरे और खराब मौसम को देखते हुए पूर्वोत्तर रेलवे की करीब 24 गाडिय़ां 1 दिसम्बर से 13 फरवरी 2008 तक रद्द करने का फैसला लिया है। इसके अलावा गाडिय़ों की आवृत्ति में कमी की गई है। साथ ही पांच एक्सप्रेस ट्रेनों के मार्ग में बदलाव किया गया है। इस बदलाव से हजारों यात्रियों को परेशानी का भी सामना करना पड़ सकता है।पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी संजय यादव के अनुसार, एक ट्रेन आंशिक रूप से निरस्त की गई है। ट्रेन नम्बर 11123-11124 ग्वालियर बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस 1 दिसंबर से 13 फरवरी तक लखनऊ स्टेशन पर ही टर्मिनेट हो जाएगी। यह ट्रेन लखनऊ से बनकर बरौनी के लिए चलाई जाएगी। इसके अलावा जयनगर-नई दिल्ली एक्सप्रेस, आजमगढ़-दिल्ली कैफियात एक्सप्रेस, चंडीगढ़- लखनऊ एक्सप्रेस, बरौनी -अंबाला एक्सप्रेस 1 दिसंबर से 13 फरवरी तक प्रत्येक गुरुवार को निरस्त रहेगी। नई दिल्ली-जयनगर एक्सप्रेस, बरौनी एक्सप्रेस, अमृतसर एक्सप्रेस, 1 दिसंबर से 13 फरवरी तक प्रत्येक शुक्रवार को निरस्त रहेगी । बरौनी लखनऊ जंक्शन एक्सप्रेस, हावड़ा-इलाहाबाद सिटी एक्सप्रेस, अंबाला -बरौनी एक्सप्रेस 1 दिसंबर से 13 फरवरी तक प्रत्येक मंगलवार को निरस्त रहेगी। दरभंगा -अमृतसर जननायक एक्सप्रेस, दिल्ली-आजमगढ़ कैफियात एक्सप्रेस, हावड़ा एक्सप्रेस, चंडीगढ़ एक्सप्रेस समेत कई अन्य ट्रेनें निरस्त की गई हैं।

Pin It