अपराधियों पर सरकार की दोहरी नीति से नहीं खत्म होगा अपराध

प्राइम न्यूज चैनल में एनकाउंटर और मानवाधिकार आयोग की नोटिस पर आयोजित परिचर्चा में 4पीएम के संपादक संजय शर्मा ने रखी राय कहा, सिस्टम को दुरुस्त करने की जरूरत, कानून के मुताबिक होना चाहिए दंड का प्रावधान सपा व कांग्रेस नेताओं ने भी उठाये सवाल, कहा-बुनियादी समस्याओं से ध्यान हटाने की हो रही कोशिश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अपराधियों के एनकाउंटर पर मानवाधिकार आयोग ने प्रदेश सरकार को नोटिस भेजा है। क्या अपराध को खत्म करने के लिए एनकाउंटर को एकमात्र साधन बनाना उचित है? इस सवाल पर प्राइम न्यूज चैनल में एक परिचर्चा का अयोजन किया गया। इसमें 4पीएम के संपादक संजय शर्मा, मानवाधिकार कार्यकर्ता व भाजपा, कांग्रेस और सपा नेताओं ने शिरकत की। 4पीएम के संपादक संजय शर्मा ने अपराध को खत्म करने के लिए एनकाउंटर को एकमात्र उपाय बनाने को खतरनाक खेल करार दिया। उन्होंने कहा कि जब तक राजनीति से अपराधीकरण को खत्म नहीं किया जाएगा, देश या प्रदेश को अपराध मुक्त नहीं किया जा सकता।
एनकाउंटर को सरकार का फेल्योर करार देते हुए संजय शर्मा ने कहा कि अपराध को बेहतर तरीके से नियंत्रित करने के लिए सिस्टम में सुधार की जरूरत है। आपराधिक मुकदमों का त्वरित निस्तारण किया जाए। इसके लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट और जजों की संख्या बढ़ाई जाए। कानून और संविधान के मुताबिक ही अपराधी को दंडित किया जाना चाहिए। हालत यह है कि कई माननीयों पर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। तमाम पुलिस वाले अपराधों में लिप्त हंै। इन पर जांचें चल रही हैं। अपराधियों को संरक्षण मिल रहा है। वे जेल से गैंग चला रहे हैं। राजनीति के शुद्धीकरण का मुद्दा कहां चला गया? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राजनीति से अपराधीकरण को खत्म करने के लिए कानून बनाने का वादा किया था, लेकिन आज तक कानून नहीं बन सका। जब तक राजनीति के केंद्र से अपराधियों को संरक्षण मिलता रहेगा और अपराधियों को लेकर दोहरी नीति अपनाई जाती रहेगी अपराध खत्म नहीं होगा। आपराधिक मुकदमे में फंसे माननीय सदन में बैठकर हमारा भविष्य तय करे और अपराधियों के खिलाफ एनकाउंटर को ब्रह्मïास्त्र की तरह प्रयोग करे, ये दोहरे मानक नहीं चलेंगे। मानवाधिकार कार्यकर्ता योगेश शर्मा ने कहा कि अपराधियों को कानून के मुताबिक दंड मिलना चाहिए न कि एनकाउंटर को अस्त्र बना लिया जाए। सपा नेता प्रदीप सिंह ने कहा कि एनकाउंटर के जरिए योगी सरकार मूलभूत समस्याओं से लोगों का ध्यान हटाना चाहती है। अधिकारियों को एनकाउंटर का लक्ष्य दिया जा रहा है। यह गलत है। कांग्रेस नेता अशोक सिंह ने कहा कि अपराधियों को लेकर सीएम की भाषा ठीक नहीं है। भ्रष्टï अधिकारियों पर कार्रवाई नहीं हो रही है। एनकाउंटर से सरकार अपनी छवि दुरस्त करना चाहती है। वहीं भाजपा नेता दिनेश दुबे ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है और शातिर अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।

Pin It