गुजरात में भाजपा सांसद ने बहू को दिलाया टिकट पर सास को नहीं आया रास, बोली- प्रचार के लिए बाहर जाकर तो दिखाए बहू

पंचमहल के सांसद प्रभात सिंह ने पत्नी को टिकट दिलवाने के लिए अपनाया था बगावती तेवर, खुद निर्दलीय चुनाव लड़ाने की दी
थी धमकी बहू को टिकट मिलने से नाराज हुई सांसद की पत्नी रंगेश्वरी, फेसबुक पर बहू को दी चेतावनी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गुजरात में विधानसभा चुनाव का संग्राम छिड़ा हुआ है। सभी राजनीतिक दल चुनाव की तैयारी में लगे हुए है। वहीं चुनावी तैयारियों के बीच सास-बहू की लड़ाई फेसबुक पर आ गई है। दरअसल पंचमहल से भाजपा सांसद प्रभात सिंह चौहान ने अपनी पुत्रवधू सुमन चौहान को कलोल से टिकट दिलाया है लेकिन उनकी पत्नी और सुमन की सास रंगेश्वरी इससे नाराज हो गई हैं। उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर चेतावनी दी है कि मैं उसे घर से बाहर पैर नहीं रखने दूंगी।
गुजरात के पंचमहल से भारतीय जनता पार्टी सांसद प्रभात सिंह चौहान ने पत्नी को विधान सभा चुनाव में टिकट न दिए जाने पर पार्टी छोडऩे की धमकी दी थी। इतना ही नहीं उनके बेटे प्रवीण सिंह चौहान ने भी उसी सीट से टिकट मांगा था। प्रभात सिंह चौहान ने कहा था कि अगर उनकी पत्नी रंगेश्वरी चौहान को कलोल विधान सभा सीट से टिकट नहीं मिला तो वो पार्टी से इस्तीफा दे देंगे। चौहान ने कहा था कि वो खुद निर्दलीय के तौर पर विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे। फिलहाल पार्टी ने उनकी पत्नी को टिकट न देकर उनकी पुत्रबधू सुमन चौहान को कलोल से टिकट दे दिया। इससे सांसद की पत्नी नाराज हो गई है। उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर चेतावनी दी है। उन्होंने लिखा है, ‘अब देखती हूं बहू प्रचार करने कैसे जाती है? मैं उसे घर से बाहर पैर भी नहीं रखने दूंगी।’ रंगेश्वरी की यह पोस्ट वायरल हो गई है। इस पोस्ट पर तरह-तरह के कमेंट किए जा रहे हैं।
मालूम हो कि गुजरात की 182 विधान सभा सीटों के लिए नौ दिसंबर और 14 दिसंबर को मतदान होना है। चुनाव नतीजे 18 दिसंबर को आएंगे। राज्य में पिछले दो दशकों से अधिक समय से बीजेपी सत्ता में है। साल 2002, 2007 और 2012 का विधान सभा चुनाव बीजेपी ने नरेंद्र मोदी को मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाकर लड़ा था और जीती थी।

चुनाव की तैयारी पूरी, पोलिंग पार्टियां रवाना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। निकाय चुनाव के दूसरे चरण के मतदान की तैयारी पूरी हो गई है। आज रमाबाई अंबेडकर मैदान में पोलिंग पार्टियों ने अपनी-अपनी तैयारियों का जायजा लिया और जिन जिलों में चुनाव होने हैं वहां के लिए रवाना हो गई। दूसरे चरण के चुनाव के तहत रविवार को 6 नगर निगमों समेत 25 जिलों में मतदान होना है।
राजधानी लखनऊ में कुल 602 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जिनमें 58 अतिसंवेदनशील प्लस केंद्र पर जिला प्रशासन की विशेष निगरानी है। इसके अलावा 113 अतिसंवेदनशील केंद्र और 92 संवेदनशील केंद्र चिन्हित किए गए हैं। वहीं 10873 कर्मचारी चुनाव ड्यूटी में तैनात किए गए हैं। नगर निगम में कुल 23,27,986 मतदाता वोट डालेंगे।

हाफिज की रिहाई पर राहुल का पीएम पर तंज, कहा- नरेंद्र भाई बात नहीं बनी…!

राहुल के ट्वीट के बाद बीजेपी ने किया पलटवार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मुंबई हमले के गुनहगार हाफिज सईद की रिहाई को लेकर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। ट्वीट करते हुए राहुल ने लिखा, ‘नरेंद्र भाई बात नहीं बनी, आतंक का मास्टरमाइंड आजाद, राष्ट्रपति ट्रंप ने लश्कर फंडिंग मामले में पाक सेना को क्लीन चिट दे दी, गले लगाने की नीति काम नहीं आई, जल्द ही और गले लगाने की जरूरत है।’ राहुल ने अपने एक ट्वीट से मोदी सरकार को कई मोर्चों पर घेरने की कोशिश की है।
मुंबई हमलों के मुख्य आरोपी हाफिज सईद की रिहाई के बाद भारत को अमेरिका से मदद की उम्मीद थी लेकिन अमेरिका ने पाकिस्तान सेना को टेरर फंडिंग से क्लीन चिट दे दिया जिससे भारत को करारा झटका लगा है। कल पाक अदालत ने हाफिज को जेल से रिहा कर दिया, जिसका भारत समेत कई मुल्कों ने कड़ा विरोध किया। अमेरिका ने भी पाक सरकार को हाफिज को तुरंत गिरफ्तार करने की चेतावनी तक दी है। मालूम हो कि हाफिज ने रिहा होते ही कहा था कि भारत के अनुरोध पर अमेरिका के दबाव में उसे हिरासत में लिया गया था। हाल ही में अमेरिकी कांग्रेस ने पाकिस्तान को 70 करोड़ डॉलर की आर्थिक मदद देने का फैसला भी किया था। साथ ही आतंकी संगठन लश्कर से पाक सेना को फंडिंग मामले में भी अमेरिका ने क्लीन चिट दी है। इन्हीं मुद्दों को उठाते हुए राहुल ने पीएम मोदी और अमेरिका राष्ट्रपति की दोस्ती पर तंज कसा है। राहुल के ट्वीट पर बीजेपी पार्टी के प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने पलटवार करते हुए ट्वीट किया, ‘राहुल बाबा, आदतें नहीं बदली, एक बार तो देश के साथ खड़े हो, न कि आदत के मुताबिक आंतकियों के साथ। तुम लश्कर के समर्थक हो। विकीलीक्स और इशरह जहां मामले में तुम्हारे लिंक खुल चुके हैं। छोड़ो, क्या तुमने रिहाई पर हाफिज साहेब को अब तक बधाई दी।’

Pin It