लेफ्टिनेंट कर्नल की जमीन पर अवैध कब्जा, सीएम से कार्रवाई की मांग

अफसरों से मिलकर भूमाफिया ने किया फर्जीवाड़ा, बनवाए जमीन के कागजात
लेफ्टिनेंट कर्नल ने सीएम को मामले से कराया अवगत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। देश की सीमा की रक्षा करने वाले लेफ्टिनेंंट कर्नल की जमीन और दुकानों पर कुछ भूमाफियाओं ने कब्जा कर लिया है। यही नहीं इन लोगों ने अधिकारियों के साथ मिलीभगत कर फर्जी तरीके से जमीन के कागजात भी बनवा लिए है। इस मामले में लेफ्टिनेंट कर्नल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर कार्रवाई की मांग की है।
लेफ्टिनेंट कर्नल अरुण कुमार सिंह ने बताया कि गाजीपुर के कासिमाबाद में उनकी पुस्तैनी जमीन है। इस पर भूमाफिया श्याम नारायण सिंह, राजनारायण सिंह और नागेश्वर सिंह पुत्र विश्वनाथ सिंह और अनिल सिंह पुत्र नागेश्वर सिंह निवासी ग्राम सुकहां, परगना जहूराबाद, तहसील कासिमाबाद, जिला गाजीपुर ने अवैध रूप से कब्जा कर रखा है। इनसे जब जमीन को खाली करने के लिए कहा गया तो दबंगों ने इंकार कर दिया। यही नहीं इन लोगों ने राजस्व अधिकारियों के साथ मिलकर फर्जीवाड़ा किया और जमीन को अकृषिक घोषित करा लिया। इस मामले की शिकायत कासिमाबाद के उपजिलाधिकारी से चार फरवरी 2017 को की गई। श्री सिंह ने कोर्ट में भेजे अपने शिकायत नामे में कहा है कि ये लोग अधिकारियों के साथ मिलीभगत कर कई लोगों की जमीनों पर अवैध तरीके से कब्जा कर लिया है। इन पर अवैध कब्जे के कई मुकदमे चल रहे हैं। राजनीतिक और प्रशासनिक रसूख के कारण इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती है। लेफ्टिनेंट कर्नल का कहना है कि इस मामले में उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर शिकायत की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके पहले ये दबंग फर्जी दस्तावेजों के आधार पर स्थानीय अदालत में याचिका दायर की थी। लेकिन फरवरी 2014 में स्थानीय कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी है। हैरत यह है कि बाद में अधिकारियों ने मिलीभगत कर खतौनी में इन लोगों का नाम नहीं होने के बावजूद इसे रिहायशी क्षेत्र घोषित कर दिया। लेफ्टिनेंट कर्नल ने बताया कि एसडीएम कोर्ट ने मेरे दावे को स्वीकार कर लिया है। लेकिन आज तक फर्जीवाड़ा करने वाले अधिकारियों व भूमाफियाओं के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई है। न ही जमीन को खाली कराया गया है। मामले का हल न निकलने के कारण अब वे कोर्ट में जाने की तैयारी कर रहे हैं।

Pin It