यूपी में फिल्म निर्माण और बाजार की अपार संभावनाएं: अवनीश अवस्थी

फिल्म बन्धु के अध्यक्ष और प्रमुख सचिव सूचना ने निदेशकों को फिल्म निर्माण का दिया न्योता

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार यूपी को सांस्कृतिक गतिविधियों के केन्द्र के रूप में विकसित करने का कार्य कर रही है, जिसके तहत फिल्म निर्माण को बढ़ावा दिया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में फिल्म निर्माण और बाजार की अपार सम्भावनाएं हैं। यह बात फिल्म बन्धु के अध्यक्ष तथा प्रमुख सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने कही। वह गोवा में नेशनल फिल्म डेवलपमेंट कारपोरेशन द्वारा 21 नवम्बर से 24 नवम्बर, तक आयोजित फिल्म बाजार के नॉलेज सिरीज में देश-विदेश से आमंत्रित किये गये फिल्म निर्माताओं, निदेशकों व लेखकों को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने फिल्म नीति की बारीकियों को विस्तार से बताते हुए कार्यक्रम में उपस्थित फिल्म निर्माता, निदेशकों को उत्तर प्रदेश में फिल्म निर्माण का न्योता भी दिया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अच्छी लोकेशन्स के साथ-साथ अच्छी प्रतिभाएं भी हैं। फिल्म बन्धु का सेटअप मजबूत हैं। हम लोग 2017 में एसोसिएट स्पॉन्सर हैं। उन्होंने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय तथा एनएफडीसी के समस्त अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि उन सबने फिल्म बाजार को स्थापित करने का कार्य सफलतापूर्वक किया है। श्री अवस्थी ने बताया कि इसी तरह का फिल्म बाजार फरवरी, 2018 के तृतीय सप्ताह में लखनऊ में आयोजित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि नॉलेज सीरीज में फिल्म निर्माताओं से प्राप्त फीडबैक के आधार पर फिल्म पॉलिसी में आवश्यक सुधार किया जायेगा। इसके पूर्व सचिव, फिल्म बन्धु, सूचना निदेशक, उत्तर प्रदेश अनुज कुमार झा ने देश-विदेश के फिल्म निर्माताओं से उत्तर प्रदेश में फिल्म निर्माण के लिए आह्वान किया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में फिल्म निर्माण करने पर प्रदेश सरकार द्वारा अनेक सहूलियतें दी जा रही हैं। प्रदेश में निर्मित की जाने वाली फिल्मों के लिए अधिकतम रुपये 3 करोड़ 75 लाख फिल्म सब्सिडी दी जा रही है। फिल्म में उत्तर प्रदेश के कलाकारों को अवसर
देने पर 50 लाख रुपये तक की सब्सिडी का प्रावधान भी है।

Pin It