सीएम से हुई ग्रीनवुड की बदहाली की शिकायत तो हडक़ंप मचा एलडीए में

आनन-फानन में एलडीए जोन एक के अधिशासी अभियंता ने टीम के साथ किया अपार्टमेंट का निरीक्षण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोमती नगर विस्तार स्थित ग्रीनवुड अपार्टमेंट की बदहाली की शिकायतों का निस्तारण नहीं होने से नाराज लोगों ने जब सीएम योगी से इसकी शिकायत की तो एलडीए के अफसर हरकत में आ गए। आनन-फानन में जोन-एक के अधिशासी अभियंता चक्रेश जैन अपनी पूरी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और अपार्टमेंट का निरीक्षण किया। इस दौरान अपार्टमेंट का निर्माण करने वाली नागार्जुन कंस्ट्रक्शन कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी भी मौजूद रहे। अधिशासी अभियंता और कंपनी के प्रतिनिधियों ने निरीक्षण के बाद यहां के लोगों को 15 दिन के भीतर सभी समस्याओं के निस्तारण का भरोसा दिया।
ग्रीनवुड अपार्टमेंट जे ब्लाक के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे ने बताया कि इस संबंध में पिछले 6 महीने में कई बार एनसीसी और एलडीए से शिकायत की गई लेकिन कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। लिहाजा सीएम योगी आदित्यनाथ से शिकायत की गई। अपार्टमेंट के लोगों का कहना है कि एलडीए और नागार्जुन कंस्ट्रक्शन कंपनी की लापरवाही के कारण ग्रीनवुड अपार्टमेंट आज अपनी बदहाली की कगार पर पहुंच चुका है। वर्ष 2010 में लॉन्च हुई इस परियोजना में उपभोक्ताओं को बड़े-बड़े सपने दिखाए गए थे लेकिन आज तीन वर्ष बाद भी सुविधा की तो बात छोड़ दीजिए जो वादे किए गए थे उसे भी नहीं पूरा किया गया। योजना लॉन्चिंग के समय इन फ्लैटों की कीमत 20 लाख 50 हजार से लेकर 32 लाख 50 हजार तक थी जिसमें 2 वर्ष में फ्लैट हैंडओवर करने की बात कही गयी थी लेकिन जहां एक ओर लखनऊ विकास प्राधिकरण ने फ्लैट देने में 4 साल लगा दिए वहीं इसकी कीमत भी लगभग 5 से 8 लाख के बीच बढा दी गई। आवंटियों से फ्लैट आवंटन के समय किये गए वादे को पूरा करना तो दूर बुनियादी सुविधाएं तक मुहैया नहीं मिल रही हैं। आज अगर ग्रीनवुड जे ब्लाक में आग लग जाए तो उसे बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड का ही इंतजार करना होगा। दरअसल, फायर सिस्टम लगा तो है लेकिन उसे चालू नहीं किया गया है। इतना ही नहीं आए दिन पार्किंग में पानी भरा रहता है। लगभग सभी घरों में सीलन और पानी टपकने की समस्या शुरुआत से बनी है। पाइप लाइन में लीकेज के कारण पार्किंग में चलना मुश्किल हो जाता है। योजना में आवंटियों को पार्क, अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस क्लब, कम्युनिटी सेन्टर देने की बात कही गयी थी जिसमें क्लब तो बना ही नहीं बल्कि पार्क के नाम पर प्राधिकरण ने मजाक करने का काम किया है। रजिस्ट्रेशन के समय स्लाइडिंग विंडो, आयरन एंगल डोर, किचन में एक्जास्ट फैन तक देने का वायदा किया गया था लेकिन कोई भी वादा पूरा नहीं किया गया।

Pin It