इंदिरानगर में गंदे पानी की आपूर्ति से हाहाकार

दस हजार की आबादी हो रही प्रभावित, लोगों में आक्रोश
जलकल विभाग ने अभी तक नहीं उठाया कदम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। इंदिरानगरवासियों को अभी तीन दिन और दूषित जलापूर्ति झेलनी होगी। दूषित जलापूर्ति से लोगों को पेजयल की समस्या से जूझना पड़ रहा है। लोग बाल्टी भर पानी के लिए भटकते रहे। इससे पहले कठौता झील में पानी की कमी के कारण लोगों को पानी न आने की समस्या का सामना करना पड़ रहा था। लगातार सामने आ रहे पेयजल की समस्या को लेकर जलकल की ओर से कोई खास कदम नहीं उठाया जा रहा हैं। जिसके चलते लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। वहीं जलकल विभाग ने तीन दिन में समस्या को दूर करने का आश्वासन दिया है।
इंदिरा नगर सेक्टर-16 और 17 में दो दिन से गंदा पानी आ रहा है। दूषित जलापूर्ति के खिलाफ रविवार को लोग सडक़ पर उतरे और जलकल विभाग के अफसरों के खिलाफ नारेबाजी की। आज फिर पानी नहीं आने से लोगों में नाराजगी दिखी। क्षेत्र के विजय गुप्ता ने बताया कि सुबह उठ कर सबसे पहले पानी के लिए जूझना पड़ता है। जिन घरों में सबमर्सिबल पंप लगे हैं। उनसे जलापूर्ति करनी पड़ रही है। स्थानीलय लोगों ने बताया कि क्षेत्र में लगभग दस हजार की आबादी को पेयजल की समस्या से जूझना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि जो पानी सप्लाई के द्वारा दिया जा रहा है, उसमें दुर्गंध आ रही है। लोगों का कहना है कि अगर जल्द ही समस्या का समाधान नहीं किया गया तो एक बार फिर से प्रदर्शन किया जाएगा। इस संबंध में महाप्रबंधक जलकल का कहना है कि उन्होंने क्षेत्रीय जेई को निर्देश जारी कर दिए हैं। जेई ने तीन दिन के भीतर समस्या का समाधान करने के लिए कहा है। क्षेत्र में लगातार समस्या का कारण खोजा जा रहा है।

Pin It