यूपी के 39 जिलों में शुरू की जायेगी ‘शबरी संकल्प योजना’

कुपोषित और अकुपोषित बच्चों की काल सेंटर के माध्यम से की जा रही ट्रैकिंग
चिन्हित बच्चों और परिवारों को दी जाएंगी जरूरी सुविधाएं
प्रदेश सरकार ‘ई-शबरी पोर्टल’ से करेगा कुपोषण से जुड़े मामलों की सुनवाई

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ‘शबरी संकल्प योजना’ के तहत कुपोषण की व्यापकता के आधार पर चिन्हित 39 जनपदों की स्थिति में सुधार का निर्णय लिया गया है। प्रदेश में बाल विकास एवं पुष्टाहार, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, पंचायती राज, ग्राम्य विकास तथा खाद्य विभाग के सहयोग से कई तरह के कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। इस कार्यक्रम के तहत शून्य से तीन वर्ष तक की आयु वर्ग के कुपोषित एवं अतिकुपोषित बच्चों के वजन की कॉल सेण्टर के माध्यम से मासिक टै्रकिंग की जायेगी। उसके बाद चिन्हित बच्चों और परिवारों को जरूरी सेवाएं उपलब्ध करायी जाएंगी। इस तरह के मामलों की सुनवाई ‘ई-शबरी पोर्टल’ के माध्यम से की जाएगी।
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि राज्य सरकार बिल एंड मिलिण्डा गेट्स फाउण्डेशन के साथ मिलकर जापानी इंसेफेलाइटिस का उन्मूलन करने के लिए टीकाकरण अभियान को और अधिक तेज करेगी। यह सरकार मातृ एवं नवजात शिशु तथा बच्चों के स्वास्थ्य सम्बन्धी सुविधाओं, टीकाकरण सहित स्वास्थ्य एवं कृषि सम्बन्धी विभिन्न कार्यक्रमों में तकनीकी, प्रबन्धकीय तथा लाभकारी कार्यक्रम डिजाइन में अगले पांच साल तक सहयोग प्राप्त करने के लिए संस्था के साथ एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज, गोरखपुर पर पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार के साथ-साथ नेपाल की लगभग पांच करोड़ आबादी के इलाज का बड़ा दायित्व है। यहां जेई एवं एआईएस वेक्टर जनित रोग तेजी से फैल रहा है। इसलिए इन रोगों की रोकथाम के लिए टीकाकरण के साथ-साथ गांव-गांव में विशेष स्वच्छता अभियान के अलावा डे्रनेज की व्यवस्था एवं शुद्ध पेयजल की उपलब्धता के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केन्द्र सरकार के सहयोग से गोरखपुर स्थित वायरल रिसर्च सेंटर को और अधिक मजबूत बनाया जा रहा है। इसके साथ ही, एम्स की स्थापना को भी गति प्रदान की गई है।

Pin It