जीपीएस ने लगाई तेल के खेल पर लगाम, खर्च में आई भारी गिरावट

चालकों के उड़े होश, सफाई व्यवस्था में भी दिखने लगे सुधार के संकेत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। नगर निगम की गाडिय़ों में लगाया जा रहा जीपीएस विभाग के लिए बेहद कारगर साबित हो रहा है। गाडिय़ों में जीपीएस लगने के बाद तेल के खर्च में भारी गिरावट आई है। जीपीएस लगने से तेल चोरी करने वाले वाहन चालकों के होश उड़े हुए हैं। लगातार गाडिय़ों की मॉनिटरिंग से शहर की सफाई व्यवस्था में सुधार के संकेत मिल रहे हैं।
नगर निगम की 208 गाडिय़ों में जीपीएस लगने के 20 दिन के भीतर विभाग के तेज खर्च में 30 लाख की गिरावट देखने को मिली है। वाहनों में जीपीएस लगने से तेल चोरी करने वालों पर लगाम लगी है। वहीं, जीपीएस लगी गाडिय़ों की मॉनिटरिंग भी ऑनलाइन देखी जा रही है कि कौन सी गाड़ी कहां जा रही है इसकी रोजाना की रिपोर्ट निगम के अफसर देख रहे हैं। अफसरों ने बताया कि पहले वाहनों की मॉनिटरिंग नहीं हो पाती थी। जिसके कारण कूड़ा उठान न होने की शिकायत मिलती थी। इसके अलावा तेल की चोरी के कई मामले भी उजागर हुए। इस सभी समस्याओं के समाधान के लिए जीपीएस का सहारा लिया जा रहा हैं। जीपीएस के अच्छे परिणाम मिल रहें हैं। गौरतलब है कि नगर निगम में पिछले तीन माह से डीजल के बिलों में एक करोड़ रुपये के करीब की बढ़ोतरी दर्ज की गई थी। इस पर नगर आयुक्त ने बिलों के भुगतान पर रोक लगाते हुए जांच के निर्देश दिए थे। मामले की जांच अपर नगर आयुक्त नंदलाल सिंह कर रहे हैं। नगर निगम की इस कार्यप्रणाली से तेल चोरी पर लगाम लग गई है। साथ ही निगम के इस फैसले से वाहन चालकों के होश उड़ गए हैं।

जल्द ही सभी गाडिय़ों में जीपीएस लगवाया जाएगा। सफाई व्यवस्था ठीक करने और तेल चोरी को रोकने के लिए इसका सहारा लिया गया है। गाडिय़ों के आने-जाने से संबंधित रोजाना की रिपोर्ट देखी जा रही है।
-उदयराज सिंह नगर आयुक्त

Pin It