जागरूकता से कम की जा सकती हैं सडक़ दुर्घटनाएं: डॉ. संदीप

केजीएमयू में विश्व ट्रामा दिवस पर चलाया गया जागरूकता अभियान
रैली निकाल कर बांटे गए पंपलेट

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। प्रत्येक चार मिनट में सडक़ दुर्घटना से एक व्यक्ति की मौत होती है। नियमों का पालन न होने के कारण रोड एक्सीडेंट लगातार बढ़ रहे है। दुर्घटनाओं को रोकने के लिए जागरूकता बढ़ाने के साथ यातायात नियमों का पालन करने की आवश्यकता है। यह जानकारी विश्व ट्रामा दिवस पर आज किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के ट्रामा सर्जरी विभाग के प्रमुख डा. संदीप तिवारी ने दी।
उन्होंने बताया कि अगर कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों को ध्यान में रखा जाए तो सडक़ दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों में 90 प्रतिशत की कमी की जा सकती है। सबसे पहले हाईवे पर स्पीड को नियंत्रण में रखना चाहिए। हाईस्पीड के कारण एक्सीडेंट बढ़े है। शराब पीकर गाड़ी चलाने से सडक़ दुर्घटनाओं की आशंका बढ़ जाती है। इस पर सख्ती से नियंत्रण करना होगा। डा. तिवारी ने बताया कि अब सबसे ज्यादा लोगों का एक्सीडेंट मोबाइल से बात करने के दौरान हो रहा है। शहरी क्षेत्र में अनियंत्रित यातायात भी एक्सीडेंट का कारण है। डा. तिवारी ने कहा कि ट्रामा एक्सीडेंट के बाद प्राथमिक इलाज में तत्काल क्या करना है। इसके प्रति लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है।
उन्होंने बताया कि एक्सीडेंट के बाद मरीज अगर बेहोश है तो उसे तत्काल उल्टा लिटाया जाना चाहिए। होश में होने पर सीधा लिटाया जाना चाहिए। खून निकलने पर कपड़ा बांध देना चाहिए ताकि रिसाव कम से कम हो सके। अगर कहीं की हड्डी टूटी है तो उसे खपच्ची के सहारे बांध दें और निकटतम अस्पताल ले जाने के लिए एम्बुलेंस को बुलाये। इस मौके पर जागरूकता रैली निकाली गई और पंपलेट बांटे गए। इसके अलावा नुक्कड़ नाटक का भी आयोजन किया गया।

Pin It