दीपावली पर नोटबंदी व जीएसटी की मार, फीकी पड़ी बाजार की रौनक

पटाखे, झालर और मिठाई की कीमतों में भारी इजाफा
गिफ्ट आइटम के दाम भी छू रहे आसमान
ऑफर का भी नहीं दिख रहा खास असर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जीएसटी यानी गुड्स एंड सर्विस टैक्स और नोटबंदी ने दीपावली पर बाजार की रौनक को फीका कर दिया है। मिठाइयों, पटाखों, झालरों और गिफ्टों के दामों में काफी इजाफा हो गया है। पटाखों के दामों में जबरदस्त तेजी आई है। महंगाई ने आम उपभोक्ता को परेशान कर दिया है। लिहाजा बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है। यही नहीं दीपावली के मौके पर दिए जाने वाले तमाम ऑफर भी इस बार अपना खास असर नहीं दिखा पा रहे हैं। महंगाई के कारण व्यापारियों की हालत खराब हो गई है।
प्रकाश पर्व दीपावली में राजधानी के बाजारों में रौनक नहीं दिखाई दे रही है। इस पर्व को धूमधाम से मनाने के लिए लोग न केवल मिठाइयां खरीदते हैं बल्कि एक दूसरे को देने के लिए गिफ्ट की खरीदारी भी करते हैं। इसके अलावा दीपावली पर पटाखे छुड़ाने का रिवाज भी है। लोग अपने घरों को रोशन करने के लिए झालरों व दीयों से सजाते हैं। लेकिन इस बार बाजार में जीएसटी ने काफी असर डाला है। मिठाइयों के दाम काफी बढ़ गए है। वहीं जर्मनी, चीन और अमेरिका से बने झालरों के दाम भी बढ़ गए है। पहले चीन की बनी सामान्य झालर बीस से पच्चीस रुपये में एक मिल जाती थी अब वह पचास रुपये के आसपास पहुंच गई है। जीएसटी के चलते पटाखों की कीमतों में पिछले साल के मुकाबले 35 फीसदी का इजाफा हुआ है। व्यापारियों का कहना है कि अब तक पटाखा-आतिशबाजी पर 14 फीसदी टैक्स लगता था जो जीएसटी के बाद 28 फीसदी तक हो गया है। यही नहीं प्रशासनिक सख्ती व सुरक्षा मानकों के अनुपालन के कारण दुकान खर्च में जीएसटी के साथ और 15 फीसदी की बढ़ोतरी हो गई है। लिहाजा पटाखों के दाम काफी बढ़ गए हैं। थोक पटाखा कारोबार से जुड़े महेश गुप्ता ने बताया कि कुछ साल पहले जहां छोटे अनार के पैकेट की कीमत 30 रुपये थी, वह अब 90 रुपये तक पहुंच गई है। 20 रुपये में बिकने वाले छोटी चकरी के पैकेट 55 रुपये में बिक रहे हैं। थोक खरीद जीएसटी के कारण काफी महंगी हो गई है, वहीं पर्यावरण सुरक्षा और न्यायालय की सख्ती से फुटकर पटाखा बिक्री पर प्रशासन की सख्ती से मूल लागत भी निकाल पाना व्यापारियों के लिए चुनौती बन गया है।

गणेश-लक्ष्मी की प्रतिमाओं के दाम भी बढ़े
जीएसटी के कारण गणेश-लक्ष्मी की प्रतिमाओं के दाम भी लगभग 30 फीसदी तक बढ़ गए हैं। दुकानदारों के मुताबिक इन प्रतिमाओं को तैयार करने के लिए जिस रॉ मैटेरियल की जरूरत होती है उन पर जीएसटी की मार पड़ी है। यही वजह है कि प्रतिमाओं के दामों में इजाफा हुआ है। कोलकाता से आने वाले डेकोरेटिव मैटेरियल काफी महंगा होता है।  ये हैं आंकड़े जीएसटी के क्ले- 18 प्रतिशत लकड़ी-8 प्रतिशत         चॉक-5 प्रतिशत कलर-12प्रतिशतसीमेंट-28 प्रतिशत डेकोरेटिव आइटम-12 प्रतिशतपटाखों की कीमत में आया अंतर

पटाखा                पिछले साल                 इस वर्षफुलझड़ी             150 से 350              250 से 400अनार                 100 से 250             200 से 400चकरी                  50 से 200             100 से 250म्यूजिकल             140 से 200             230 से 350कचरा बम            200 से 300             400 से 700लड़ी                  150 से 400            250 से 50012 शॉट               50 से 200             100 से 400सर्राफा बाजार में भी सन्नाटा जीएसटी और नोटबंदी ने सर्राफा बाजार की कमर तोड़ दी है। पिछले साल की अपेक्षा सोने-चांदी की खरीदारी पर काफी असर पड़़ा है। अमीनाबाद स्थित अग्रवाल ज्वैलर्स के प्रदीप अग्रवाल का कहना है कि नोटबंदी और जीएसटी ने सर्राफा बाजार की कमर तोड़ दी है। नोटबंदी के कारण लोगों की क्रय शक्ति काफी घट गई है। इस बार दीपावली में बाजार पूरी तरह लडख़ड़ाता दिख रहा है।

मिठाई कारोबार पर भी पड़ा असर 
आशियाना में सुभाष मिठाई शॉप के संचालक सुमेंदर का कहना है कि जीएसटी का असर मिठाई कारोबार पर भी पड़ा है। इसका सबसे अधिक असर ड्राई फ्रूड्स से बनने वाली मिठाइयों पर पड़ा है। जीएसटी के कारण इसके दामों में करीब 28 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई है। हालांकि दूसरी मिठाइयों के दाम में भी इजाफा हुआ है। सामान्य मिठाइयों की खरीदारी पर खास असर नहीं पड़ेगा।

लुभावने ऑफर
अमीनाबाद, गणेशगंज मार्केट, रकाबगंज, चौक व इंदिरानगर बाजार में व्यापारियों ने खरीदारों को लुभाने के लिए विशेष ऑफर रखे हैं। ब्रांडेड हो या नान ब्रांडेड सभी में ग्राहकों के लिए कुछ न कुछ है। दीपोत्सव में अब दो दिन ही बचे है। बाजार में डिजाइनर साडिय़ों की धूम मची है। ऑफर ग्राहकों को और भी लुभा रहे है। गणेशगंज और अमीनाबाद के कपड़ा बाजार में ग्राहकों को लुभावने पैकेज दे रहे हैं। पांच से लेकर साढ़े सात हजार तक के कपड़ा खरीद पर एयरबैग,10000 से 12500 पर लक्जरी ट्राली सूटकेस, 20000 और उससे ऊपर की खरीद पर बोनचाइना का डिनर सेट ग्राहकों को दिया जा रहा है। साडिय़ों पर भी यही ऑफर दिया जा रहा है। 

Pin It