सपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से शिवपाल यादव का नाम नदारद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा कर दी है। इस सूची से शिवपाल सिंह यादव का नाम गायब है। कार्यकारिणी में किरनमय नंदा पहले की तरह पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं, जबकि प्रोफेसर रामगोपाल यादव को प्रमुख महासचिव का पद दिया गया है। समाजवादी पार्टी में 10 महासचिव मनोनीत किए गए हैं। इनमें यूपी के पूर्व मंत्री आजम खान, राज्य सभा सांसद नरेश अग्रवाल, रवि प्रकाश वर्मा, सुरेंद्र नागर, बलराम यादव, विशम्भर प्रसाद निषाद, अवधेश प्रसाद, इंद्रजीत सरोज, रामजी लाल सुमन, रामशंकर विद्यार्थी राजभर कार्यकारिणी में शामिल हैं।
राष्ट्रीय कार्यकारिणी में संजय सेठ पूर्व की भांति कोषाध्यक्ष हैं। इसके अलावा पार्टी में 10 सचिव बनाए गए हैं। जया बच्चन और अहमद हसन समेत 25 लोगों को सदस्य नामित किया गया है। विशेष आमंत्रित सदस्यों में सात लोगों को शामिल किया गया है। इस तरह से कुल 55 सदस्यों को इस सूची में जगह दी गई है, जिस पर प्रोफेसर रामगोपाल यादव के हस्ताक्षर थे, जिसे जारी किया गया है।

अटकलों पर विराम
आगरा में जब 5 अक्टूबर को सपा अधिवेशन हुआ था। तब सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने पर शिवपाल यादव ने अखिलेश को फोन कर अग्रिम बधाई दी थी। माना जा रहा था कि अब सपा में सब कुछ ठीक हो गया है। सपा अध्यक्ष शिवपाल यादव को कार्यकारिणी में जगह देंगे लेकिन जब सूची जारी हुई तो उसमें शिवपाल का नाम गायब था। हालांकि, चर्चा ये भी है कि अखिलेश यादव राष्ट्रीय कार्यकारिणी की अगली सूची में उन्हें कोई पद दे सकते हैं।

परिवार में कोई विवाद नहीं: शिवपाल यादव
राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सूची जारी होने के बाद शिवपाल यादव ने कहा कि अखिलेश यादव जिंदाबाद। अखिलेश मेरा बच्चा है, आज वह आगे बढ़ रहे हैं तो हमें सबसे ज्यादा खुशी है। मैं चाहता हूं कि सपा उनके नेतृत्व में आगे बढ़े और सफलता की ऊंचाइयों पर पहुंचे। इसमें कहीं न कहीं तो मेरा भी नाम जुड़ा है। सपा परिवार में विवाद पर शिवपाल यादव ने कहा कि हमारे यहां कोई विवाद है ही नहीं और फिर, किस घर में विवाद नहीं होता। विवाद होते हैं तो क्या रिश्ते खत्म हो जाते हैं? हम सब एक थे और एक ही रहेंगे।

Pin It